चीन, फिलीपींस से जुड़े 100+ ऐप ब्लॉक करने की तैयारी में गृह मंत्रालय - रिपोर्ट

इस साल फरवरी में, गृह मंत्रालय के निर्देश पर MeITY ने 232 चीनी लिंक्ड ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने की प्रक्रिया शुरू की, जिनमें से 138 बेटिंग ऐप थे जबकि 94 शॉर्ट-टर्म लोन देने में शामिल थे.

चीन, फिलीपींस से जुड़े 100+ ऐप ब्लॉक करने की तैयारी में गृह मंत्रालय - रिपोर्ट

Thursday March 30, 2023,

3 min Read

गृह मंत्रालय द्वारा चीन, फिलीपींस और नाइजीरिया से जुड़े 117 ऐप की एक नई सूची तैयार की गई है और इसे इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय और राज्य कानून प्रवर्तन एजेंसियों के साथ उन्हें तुरंत ब्लॉक करने का आग्रह किया गया है. ईटी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अधिकारियों ने कहा कि ज्यादातर ऐप या तो डेटिंग या गेमिंग या लोन ऐप से संबंधित थे. (chinese apps block)

भारतीय साइबर अपराध समन्वय केंद्र (I4C) ने पहले 500 से अधिक ऐप पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है जो भारतीयों के डेटा को चीन और विदेशों में भेज रहे थे. ईटी के मुताबिक, नाम न छापने की शर्त पर एक अधिकारी ने बताया, "पिछले 2-3 महीनों में, हमने Google Play पर सक्रिय 117 नए ऐप का पता लगाया है. बैकएंड जांच से पता चला है कि वे विदेशों में डेटा भेज रहे हैं. आगे यह पता चला कि ऑनलाइन लोन देने का दावा करने वाली संस्थाएं लेंडिंग (उधार) बिजनेस में नहीं थीं."

अधिकारी ने कहा कि कई मामलों में उन्होंने राज्य की एजेंसियों को Google के साथ मामला उठाने और मामले की जांच करने के लिए सतर्क किया, जहां ये ऐप एक विशेष राज्य तक ही सीमित थे. अधिकारी ने बताया, "ऐसे मामलों में जहां इन ऐप्स की कई जगहों पर उपस्थिति है, MeITY द्वारा कार्रवाई शुरू की जा रही है." चाइनीज लोन ऐप्स और लोन देने वाली कंपनियों द्वारा उत्पीड़न, ब्लैकमेल और कठोर वसूली प्रथाओं के कारण कई आत्महत्याएं हुई हैं. कई मामलों में, चीनी फर्मों ने अवैध चीनी लोन ऐप चलाने में शामिल कंपनियों को नकली चालान जारी किए और इन अवैध लोन ऐप कंपनियों को विदेशों में पैसे भेजने में मदद की.

अधिकारियों ने कहा कि भारत में बड़े पैमाने पर चीनी फर्मों द्वारा चलाए जा रहे डिजिटल मोबाइल एप्लिकेशन,शॉर्ट-टर्म के लिए इंस्टेंट लोन मुहैया करते हैं, लेकिन ब्याज दर 17-20% तक होती है. राज्य पुलिस और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कई घोटालों का खुलासा किया है जहां भोले-भाले और गरीबों को केवाईसी मानदंडों का पालन किए बिना इंस्टेंट लोन दिए गए लेकिन बाद में उन्हें परेशान किया गया. उन्होंने कहा कि खुफिया एजेंसियों ने भी डेटा के दुरुपयोग को चिह्नित किया है और डेटा संप्रभुता पर सवाल उठाए हैं क्योंकि इन कंपनियों के सर्वर चीन में हैं.

इस साल फरवरी में, गृह मंत्रालय के निर्देश पर MeITY ने 232 चीनी लिंक्ड ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने की प्रक्रिया शुरू की, जिनमें से 138 बेटिंग ऐप थे जबकि 94 शॉर्ट-टर्म लोन देने में शामिल थे.

यह भी पढ़ें
ईडी ने चीनी लोन ऐप मामले में 106 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की