ज्यादातर इंजीनियरों ने लॉकडाउन का इस्तेमाल अपने कौशल को बढ़ाने के लिए किया: सर्वे

By yourstory हिन्दी
August 23, 2020, Updated on : Sun Aug 23 2020 04:39:37 GMT+0000
ज्यादातर इंजीनियरों ने लॉकडाउन का इस्तेमाल अपने कौशल को बढ़ाने के लिए किया: सर्वे
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

मुंबई, ज्यादार इंजीनियरिंग स्नातकों ने कोरोना वायरस महामारी के चलते लागू किए गए लॉकडाउन के दौरान खाली वक्त का इस्तेमाल ऑनलाइन कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रमों के लिए किया। एक सर्वेक्षण में यह बात कही गई।


k

फोटो साभार: shutterstock


ब्रिजलैब्ज के एक सर्वेक्षण के मुताबिक लॉकडाउन के दौरान परंपरागत शिक्षा संस्थान बंद रहे, लेकिन इससे डिजिटल शिक्षा के नए आयाम भी खुले और उसके सर्वेक्षण में 94 प्रतिशत इंजीनियरिंग स्नातकों ने कहा कि उन्होंने घर पर रहने के दौरान इस वक्त का इस्तेमाल नया कौशल सीखने के लिए किया, ताकि हालात सामान्य होने पर उनका रिज्यूमे अधिक प्रभावशाली हो।


यह सर्वेक्षण देश भर में 10 से 14 अगस्त के बीच 1,100 से अधिक इंजीनियरिंग स्नातकों के साथ ऑनलाइन साक्षात्कार पर आधारित है।


ब्रिजलैब्ज की स्थापना मौजूदा इंजीनियरों के बीच कौशल की कमी को पूरा की गई थी, ताकि उन्हें नौकरी के लिए अधिक बेहतर ढंग से तैयार किया जा सके।


सर्वेक्षण में 42 प्रतिशत लोगों ने पाया कि किसी सवाल के समाधान के लिए ऑनलाइन लाइव सत्र अधिक उपयोगी है, जबकि 21 प्रतिशत ने ऑफलाइन कक्षाओं पर आधारित शिक्षा को बेहतर बताया।


सर्वेक्षण में 72 प्रतिशत लोगों ने दूर रहकर काम करने की इच्छा जताई, जबकि 28 प्रतिशत लोग कार्यालय में जाकर काम करना चाहते थे।


नौकरी के बारे में 90 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वे नियमित, पूर्णकालिक नौकरी पसंद करते हैं।


(सौजन्य से- भाषा पीटीआई)