छोटे व्यवसायों के मालिकों को ऑनलाइन दुकान स्थापित करने में सक्षम बना रहा है दो दोस्तों का ये स्टार्टअप

हृदेश मोर्दानी और संजू भंभानी द्वारा शुरू किया गया, MyEasyStore छोटे मध्यम उद्यमियों को एक फ्लैट चार्ज पर मिनटों के भीतर अपना व्यक्तिगत ऑनलाइन स्टोर स्थापित करने में सक्षम बनाता है। एक साल में, स्टार्टअप ने 1,000 छोटे व्यवसायों को सूचीबद्ध किया है।

छोटे व्यवसायों के मालिकों को ऑनलाइन दुकान स्थापित करने में सक्षम बना रहा है दो दोस्तों का ये स्टार्टअप

Friday April 23, 2021,

5 min Read

कोविड-19 के चलते लगे लॉकडाउन ने कई छोटे व्यवसायों को बंद कर दिया, जिनमें स्ट्रीट फूड विक्रेता, होम शेफ और अन्य ऐसे स्थानीय लोग शामिल हैं, जो प्रभावी रूप से डिजिटल प्लेटफॉर्म पर नहीं जा सकते हैं।


अपने क्लाउड किचन बिजनेस के साथ इसी तरह की समान समस्याओं का अनुभव करने के बाद, संजू भंभानी के साथ, हृदेश मोर्दानी ने एसएमई मालिकों को उनके व्यवसाय को सुचारू रूप से चलाने में सक्षम करने के लिए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के बीच MyEasyStore शुरू किया।

समस्या का समाधान

32 वर्षीय हृदेश एक क्लाउड किचन बिजनेस में थे जो एग्रीगेटर के माध्यम से सीधे ऑर्डर सर्व करता था, जिसमें जोमैटो, स्विगी और अन्य शामिल थे। हालांकि, जैसा कि मार्च में लॉकडाउन की घोषणा की गई, और भ्रम की स्थिति थी कि क्या क्लाउड किचन का बिजनेस 'आवश्यक कार्यों' के तहत आएगा? इस भ्रम को देखते हुए उन्होंने अपना बिजनेस बंद कर दिया और अपने घर से ऑर्डर लेना शुरू कर दिया।


MyEasyStore के सह-संस्थापक, हृदेश मोर्दानी, योरस्टोरी को बताते हैं,

“महामारी ने प्रत्येक व्यवसाय में अप्रत्याशित परिवर्तन लाए, और समय की जरूरत ये थी कि किसी तरह सर्वाइव किया जाए। हालांकि मैंने एग्रीगेटर्स पर अपनी निर्भरता छोड़ दी, लेकिन मुझे डिजिटल स्पेस में एक दुकान को बनाए रखने की चुनौतियों का सामना करना पड़ा। मेरे मैसेज बॉक्स (DMs) सवालों से घिर गए - आपके मेनू में आपके पास क्या है? मैं ऑर्डर कैसे दे सकता हूं? प्राइस क्या है? क्या तुम्हारे पास तस्वीरें हैं? यह काफी अस्तव्यस्त सा हो गया था और संभालना मुश्किल हो रहा था।"

ि

इस बीच, हृदेश अपने बचपन के दोस्त और सॉफ्टवेयर इंजीनियर संजू भांभनी के पास पहुँचे जो MyEasyStore के सह-संस्थापक भी थे, उन्होंने उनसे माइक्रोसाइट बनाने के लिए कहा, जहाँ वे ग्राहकों द्वारा ऑर्डर प्रोसेसिंग को कारगर बनाने के लिए अक्सर पूछे जाने वाले सवालों के जवाब सकें।


माइक्रोसाइट ने उनकी सबसे बड़ी चिंताओं में से एक को हल किया। यहां तक कि हृदेश ने महसूस किया कि कई अन्य एसएमबी मालिकों को भी उनके ही जैसी चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। इसके बाद उन्हें संजू से दोबारा मिलने और अन्य एसएमबी के लिए इसी तरह की समस्या-समाधान करने वाला प्रोडक्ट बनाने के लिए ज्यादा समय नहीं लगा।


वर्तमान में, MyEasyStore में पांच कर्मचारी हैं।

सफलता का साल

दोनों ने अप्रैल में प्रोडक्ट पर काम करना शुरू किया और मई 2020 में मुंबई में तमाम फीचर्स से भरे अपने ईकॉमर्स प्लेटफॉर्म को लॉन्च किया। स्टार्टअप एसएमबी उद्यमियों को MyEasyStore प्लेटफॉर्म पर मिनटों के भीतर अपना व्यक्तिगत ऑनलाइन स्टोर स्थापित करने में सक्षम बनाता है।


हृदेश कहते हैं,

"उनके व्यवसाय के लिए यह डिजिटल-फर्स्ट दृष्टिकोण SMB मालिकों को अपने प्रोडक्ट और सर्विसेज को ऑनलाइन दिखाने और सीधे व्हाट्सएप पर ग्राहकों से ऑर्डर प्राप्त करने की सुविधा देता है।"


MyEasyStore SMB मालिकों को - डायरेक्ट टू कंज्यूमर अप्रोच के साथ - डेवलपर्स, एग्रीगेटर पर किसी भी निर्भरता के बिना, या छिपे हुए शुल्क और कमीशन के डर का सामना किए बिना उनके व्यवसाय को अपने हाथों में लेने में सक्षम बनाता है।


SMBs MyEasyStore प्लेटफॉर्म पर अपना ऑनलाइन स्टोर बना सकते हैं, प्राप्त हुए ऑर्डर पर अपडेट हासिल कर सकते हैं और उन्हें डिलीवरी के लिए शेड्यूल कर सकते हैं। स्टार्टअप ने अपने पेमेंट गेटवे के लिए Razorpay, Cashfree और अन्य फिनटेक स्टार्टअप के साथ भागीदारी की है, जिससे उद्यमियों को ऑनलाइन पैसे के लेन-देन को स्वीकार करने में सक्षम बनाया जा सके।


वर्तमान में, MyEasyStore के पास कोई लॉजिस्टिक्स सुविधाएं नहीं हैं, इसलिए मालिकों को खुद से डिलीवरी प्रक्रिया को संभालने की जिम्मेदारी दी जाती है। हृदेश का कहना है कि यह मालिकों पर निर्भर है कि वे अपना डिलीवरी चार्ज कितना तय करते हैं। 


बिकाई, दुकान और अंतरराष्ट्रीय कंपनी शोपीफाई जैसों के साथ प्रतिस्पर्धा करते हुए, एक वर्ष में, MyEasyStore ने अपने प्लेटफॉर्म पर 1,000 से अधिक उद्यमियों को शामिल किया है, जहां होम बेकर्स, होम शेफ, किराना स्टोर, किराने और सुपरमार्केट आदि शामिल हैं। ग्राहकों को अपने प्रोडक्ट को ऑनलाइन सूचीबद्ध करने में मदद करने के अलावा, हृदेश कहते हैं कि उनका स्टार्टअप एसएमबी मालिकों को उनके ब्रांड को व्हाइट लेबल करने में भी सक्षम बनाता है।


वे बताते हैं,

“हम उद्यमियों को दो प्लान ऑफर करते हैं। पहला प्रति माह 399 रुपये के लिए है, जो प्रोडक्ट्स की एक लिमिटेड लिस्टिंग के लिए अनुमति देता है, और दूसरा प्रति माह 699 रुपये के लिए है, जहां हम असीमित प्रोडक्ट लिस्टिंग की सुविधाओं के साथ व्यवसायों को व्हाइट-लेबल सर्विस प्रदान करते हैं।”


हालांकि हृदेश ने MyEasyStore के वार्षिक कारोबार का खुलासा नहीं किया, लेकिन उनका दावा है कि बूटस्ट्रैप्ड स्टार्टअप को लाभ में चल रहा है।

MyEasyStore के को-फाउंडर्स हृदेश मोर्दानी और संजू भंभानी

MyEasyStore के को-फाउंडर्स हृदेश मोर्दानी और संजू भंभानी

चुनौतियां और आगे का रास्ता

भारतीय ईकॉमर्स उद्योग के 99 बिलियन डॉलर तक पहुंचने की संभावना है, जबकि रिटेल की ऑनलाइन पैठ 2019 में 4.7 प्रतिशत से 2024 तक लगभग 11 प्रतिशत से अधिक होने की उम्मीद है।


भारत जैसे विविध देश में, हृदेश कहते हैं कि अधिक ब्रांड जागरूकता और पहुंच की गुंजाइश है। वह कहते हैं, "भाषा की बाधा कभी-कभी एक चुनौती भी हो सकती है।"


वह बताते हैं कि एसएमबी मालिकों के बीच परंपरागत साधनों से दूर जाने की आशंका के कारण डिजिटल जाने के लाभों को समझाने और बिक्री के एक अन्य चैनल को जोड़ना उनके लिए चुनौतीपूर्ण होता जा रहा है।


आगे बढ़ते हुए, स्टार्टअप का उद्देश्य अपने प्लान में लॉजिस्टिक्स सर्विसेज को जोड़ना है, जिससे ग्राहकों के लिए परेशानी मुक्त ऑर्डर डिलीवरी हो सके।


हृदेश कहते हैं,

"हम लोकल को सपोर्ट करते हैं और यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि कोई भाजीवाला (सब्जी विक्रेता) या बेकर ऑनलाइन दुकान स्थापित करने की अवधारणा से अभिभूत महसूस न करे।" 


Edited by Ranjana Tripathi