ट्रेन में 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चे के लिए टिकट खरीदना अनिवार्य या वैकल्पिक? रेल मंत्रालय का ये है जवाब

By Ritika Singh
August 18, 2022, Updated on : Thu Aug 18 2022 10:06:33 GMT+0000
ट्रेन में 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चे के लिए टिकट खरीदना अनिवार्य या वैकल्पिक? रेल मंत्रालय का ये है जवाब
भारतीय रेलवे ने ट्रेन में यात्रा करने वाले बच्चों के लिए टिकटों की बुकिंग के संबंध में कोई बदलाव नहीं किया है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

हाल ही में ऐसी रिपोर्ट आई हैं, जिनमें दावा किया गया है कि भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने ट्रेन में यात्रा करने वाले बच्चों के लिए टिकट बुकिंग के संबंध में नियम बदल दिया है. इन रिपोर्ट्समें दावा किया गया है कि अब एक से चार साल की उम्र के बच्चों को ट्रेन में सफर करने के लिए टिकट लेना पड़ेगा. लेकिन यह पूरी हकीकत नहीं है. भारतीय रेल की ओर से इस बारे में स्पष्टीकरण जारी किया गया है और उसमें बताया गया है कि नियमों में ऐसा कोई बदलाव नहीं हुआ है.


रेल मंत्रालय (Ministry of Railways) की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि सूचित किया जाता है कि भारतीय रेलवे ने ट्रेन में यात्रा करने वाले बच्चों के लिए टिकटों की बुकिंग के संबंध में कोई बदलाव नहीं किया है. यात्रियों की मांग पर उन्हें टिकट खरीदने और अपने 5 साल से कम उम्र के बच्चे के लिए बर्थ बुक करने का विकल्प दिया गया है. और अगर वे अलग बर्थ नहीं चाहते हैं, तो यह सुविधा निशुल्क रहेगी, जैसे अभी है.


यानी 5 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए ट्रेन टिकट खरीदना और बर्थ बुक करना वैकल्पिक है, अनिवार्य नहीं. यदि ऐसे बच्चे के लिए कोई बर्थ बुक नहीं की जाती है तो मुफ्त यात्रा की अनुमति है.

क्या कहता है नियम

रेल मंत्रालय के दिनांक 6 मार्च 2020 के एक सर्कुलर में कहा गया है कि 5 साल से कम उम्र के बच्चों को मुफ्त में ले जाया जाएगा. हालांकि अलग बर्थ या सीट (कुर्सी कार में) नहीं दी जाएगी. इसलिए किसी भी टिकट की खरीद की आवश्यकता नहीं है, बशर्ते अलग बर्थ की मांग नहीं की जाए. साथ ही यदि 5 वर्ष से कम आयु के बच्चों के लिए स्वैच्छिक आधार पर बर्थ/सीट की मांग की जाती है तो पूर्ण वयस्क किराया वसूल किया जाएगा.

हाल ही में शुरू किया है ‘बेबी बर्थ’ का ट्रायल

हाल ही में रेलवे ने शिशुओं के साथ सफर कर रहे यात्रियों के लिए रेल यात्रा को आरामदेह बनाने के मकसद से ‘बेबी बर्थ’ का ट्रायल शुरू किया है. रेलवे ने ट्रायल के तौर पर लखनऊ मेल की निचली बर्थ में मुड़ सकने वाली ‘बेबी बर्थ’ लगाई है. यात्रियों से मिली प्रतिक्रिया के आधार पर इसे अन्य ट्रेन में भी उपलब्ध कराने की योजना बनाई जाएगी. बेबी बर्थ, निचली बर्थ से जुड़ी होगी, जिसे उपयोग में न होने के दौरान नीचे की तरफ मोड़कर रखा जा सकेगा. बेबी बर्थ 770 मिलीमीटर लंबी और 255 मिलीमीटर चौड़ी होगी, जबकि इसकी मोटाई 76.2 मिलीमीटर रखी गई है. लखनऊ मेल में 27 अप्रैल 2022 को द्वितीय केबिन की निचली बर्थ संख्या 12 और 60 में बेबी बर्थ लगाई गई थी.