नोबेल पुरस्कार से सम्मानित मलाला यूसुफजई ने ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी से पूरी की अपनी ग्रेजुएशन

By yourstory हिन्दी
June 20, 2020, Updated on : Sat Jun 20 2020 05:43:56 GMT+0000
नोबेल पुरस्कार से सम्मानित मलाला यूसुफजई ने ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी से पूरी की अपनी ग्रेजुएशन
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

नोबेल शांति पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई, जिन्होंने कभी पाकिस्तान में लड़कियों की शिक्षा के लिए अभियान चलाने के लिए तालिबान की गोली खाई थी, ने ब्रिटेन की प्रतिष्ठित ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी से दर्शनशास्त्र, राजनीति और अर्थशास्त्र में अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी की है।


क

फोटो साभार: Twitter/Malala


ऑक्सफोर्ड के लेडी मार्गरेट हॉल कॉलेज में पढ़ने वाली 22 वर्षीय मलाला ने अपने परिवार के साथ ट्विटर पर दो तस्वीरें साझा करते हुए अपनी खुशी जाहिर की।


ऑक्सफोर्ड से अपनी फिलॉस्फी (दर्शनशास्त्र), पॉलिटिक्स और इकोनॉमिक्स की डिग्री पूरी करने के बाद मेरी खुशियों का ठिकाना नहीं है, मुझे नहीं पता कि आगे क्या है। अभी के लिए, यह नेटफ्लिक्स, पढ़ना और सोना होगा, उन्होंने ट्वीट में कहा।

पूर्वोत्तर पाकिस्तान में स्वात घाटी में महिला शिक्षा के लिए अभियान चलाने के लिए मलाला को दिसंबर 2012 में तालिबानी आतंकवादियों ने सिर में गोली मार दी थी।


गंभीर रूप से घायल होने के बाद, उन्हें पाकिस्तान के एक सैन्य अस्पताल से दूसरे अस्पताल में भर्ती कराया गया और बाद में इलाज के लिए ब्रिटेन भेज दिया गया।


हमले के बाद, तालिबान ने एक बयान जारी किया जिसमें कहा गया कि अगर वह बच गई तो वे मलाला को फिर से निशाना बनाएंगे।


17 साल की उम्र में, मलाला 2014 में अपनी शिक्षा वकालत के लिए नोबेल शांति पुरस्कार पाने वाली सबसे कम उम्र की प्राप्तकर्ता बनीं जब उन्होंने भारत के सामाजिक कार्यकर्ता कैलाश सत्यार्थी के साथ प्रतिष्ठित सम्मान साझा किया।


उनके ठीक होने के बाद पाकिस्तान लौटने में असमर्थ, वह ब्रिटेन चली गई, मलाला फंड की स्थापना की और पाकिस्तान, नाइजीरिया, जॉर्डन, सीरिया और केन्या पर ध्यान देने के साथ स्थानीय शिक्षा वकालत समूहों का समर्थन किया।


आपको बता दें कि तालिबान, जो लड़कियों की शिक्षा के खिलाफ हैं, ने पाकिस्तान के कई स्कूलों को नष्ट कर दिया है।



Edited by रविकांत पारीक