आलू किसानों के सामने झुका पेप्सिको, कोर्ट के बाहर की समझौते की पेशकश

आलू किसानों के सामने झुका पेप्सिको, कोर्ट के बाहर की समझौते की पेशकश

Sunday April 28, 2019,

2 min Read

सांकेतिक तस्वीर

अभी हाल ही में अमेरिकी बेवरेज कंपनी पेप्सिको ने गुजरात के किसानों को एक खास किस्म का आलू उगाने पर एक एक करोड़ रुपये की लीगल नोटिस भेज दी थी। इसके बाद सोशल मीडिया पर पेप्सिको के खिलाफ बॉयकाट का अभियान चला। अब पेप्सिको ने किसानों के सामने समझौते का प्रस्ताव रखा है। कंपनी की तरफ से इस मामले को आपसी सहमति से सुलझाने के लिए किसानों को अपने कार्यक्रम में शामिल होने या फिर कंपनी के लिए आलू उगाने का प्रस्ताव रखा है।


इससे पहले पेप्सिको ने गुजरात के 4 किसानों पर मुकदमा दर्ज कराया था। कंपनी का कहना था कि इन किसानों ने आलू की एफसी 5 किस्म की आलू उगाने का जुर्म किया है। कंपनी द्वारा बताया गया कि ऐसे आलू वही किसान उगा सकते हैं जो पेप्सिको द्वारा अधिग्रहीत हैं। इस तरह के आलू में नमी कम होती है जिस वजह से ये चिप्स बनाने के लिए उपयोगी होते हैं।

पेप्सिको इंडिया भारत में चिप्स और सॉफ्ट ड्रिंक समेत कई उत्पाद बनाती है। शनिवार को कंपनी की तरफ से एक बयान जारी कर कहा गया कि किसानों के सामने आपसी सहमति से कोर्ट के बाहर इस मामले को सुलझाने का प्रस्ताव रखा है। कंपनी ने कहा कि अगर किसान इस पर राजी हो जाते हैं तो उन्हें अधिक फायदा होगा।


कंपनी ने लीगल नोटिस भेजने पर अपनी सफाई दी और कहा कि इससे उन किसानों को नुकसान हो रहा था जो इस आलू उगाने के लिए अधिग्रहीत हैं। वहीं किसानों की तरफ से कोर्ट में मामले की पैरवी करने वाले वकील आनंद याग्निक ने बताया कि अहमदाबाद की एक अदालत ने मामले की सुनवाई के लिए 12 जून की तारीख तय की है।


यह भी पढ़ें: रॉयल सोसाइटी की सदस्यता पाने वाली पहली भारतीय महिला वैज्ञानिक बनीं गगनदीप