Ola Electric ने अंतरराष्ट्रीय बाजार में कदम रखा

By रविकांत पारीक
September 23, 2022, Updated on : Fri Sep 23 2022 07:46:25 GMT+0000
Ola Electric ने अंतरराष्ट्रीय बाजार में कदम रखा
Clap Icon0 claps
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 claps
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

भारत की सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक व्हीकल कंपनियों में से एक Ola Electric ने पड़ोसी देश नेपाल में कदम रख दिया है. कंपनी ने इसके साथ अंतरराष्ट्रीय बाजारों में प्रवेश करने की अपनी योजना की घोषणा की है. ओला ने नेपाल में CG Motors के साथ अपने लोकप्रिय Ola S1 स्कूटर (S1 और S1 Pro) के लिए लोकल डिस्ट्रीब्यूटर्स के साथ पार्टनरशिप करते हुए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं. ये स्कूटर नेपाल में अगली तिमाही से उपलब्ध होंगे.


इसके बाद, ओला इलेक्ट्रिक ने अगले चरण में लैटम, आसियान और यूरोपियन यूनियन में एंट्री करने की भी योजना बनाई है. कंपनी के इस कदम से इसकी मौजूदगी पांच अंतरराष्ट्रीय बाजारों तक बढ़ जाएगी.


ओला के फाउंडर और सीईओ भाविश अग्रवाल ने कहा: “वैश्विक ईवी क्रांति अब तक पश्चिम और चीन तक ही सीमित रही है. ईवी क्रांति को सही मायने में मानवता के पैमाने पर ले जाने के लिए, भारत को बदलाव का केंद्र बनना होगा. ओला दुनिया के आधे वाहनों का निर्माण करके बाकी दुनिया के लिए ईवी बनाने के लिए प्रतिबद्ध है, जिसकी दुनिया को यहीं भारत में जरूरत है. हमारे अंतरराष्ट्रीय विस्तार का मतलब न केवल एक कंपनी के रूप में इन समान क्षेत्रों में ग्राहकों की सेवा करने में सक्षम होगा, बल्कि यह इस तथ्य का भी प्रमाण है कि भारत दुनिया के लिए ईवी क्रांति का नेतृत्व करेगा.”


5 अरब डॉलर वैल्यू वाली ओला इलेक्ट्रिक वर्टिकली इंटीग्रेटेड मोबिलिटी कंपनी बनने की राह पर है, जो हाई क्वालिटी और प्रोडक्ट डिस्ट्रीब्यूशन के लिए मैन्युफैक्चरिंग पर फुल कंट्रोल रखेगी.


कंपनी ने हाल ही में भारत के सबसे महत्वाकांक्षी 4W प्रोजेक्ट से पर्दा उठाया है, जिसमें भारत में अब तक निर्मित बेस्ट परफॉर्मेंस, डिज़ाइन और टेक्नोलॉजी के दावे वाली कार को पहली बार दुनिया के सामने पेश किया गया. ओला इलेक्ट्रिक अपनी महत्वाकांक्षी 80,000 करोड़ रुपये की सेल PLI योजना के तहत सरकार द्वारा चुनी गई एकमात्र भारतीय ईवी कंपनी है, जिसे मार्च में अपनी बोली के लिए अधिकतम 20 गीगावॉट की क्षमता प्राप्त हुई है. इसके अलावा, इसने EV के निर्माण के लिए PLI भी जीता है.


पिछले साल ओला ने पर्यावरण को होने वाले नुकसान को दूर करने, भविष्य में भारतीय सड़कों पर केवल ईवी को सुनिश्चित करके इसे स्वच्छ और हरा-भरा बनाने का बीड़ा उठाया. ओला ने दुनिया की सबसे बड़ी 2W फैक्ट्री बनाई, सबसे बड़ा डायरेक्ट सेल्स और सर्विस नेटवर्क बनाकर भारत के हर नुक्कड़ पर पहुंची. आज 80,000 से अधिक ईवी उत्साही लोगों के साथ, ओला अपने प्रोडक्ट्स और सेवाओं को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ले जाना चाहेगी.