Ola 200 इंजीनियरों को काम से निकालेगी, बताई यह वजह

Ola ने हाल ही में अपेन यूज्ड बिजनेस ओला कार्स, क्विक कॉमर्स बिजनेस ओला डैश को बंद किया है.

Ola 200 इंजीनियरों को काम से निकालेगी, बताई यह वजह

Monday September 19, 2022,

3 min Read

राइड शेयरिंग कंपनी ओला (Ola) ने लगभग 200 इंजीनियरिंग जॉब्स में कटौती की है. यह बात IANS, Reuters और इकनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट में कही गई है. दरअसल CNBC ने दावा किया था कि ओला 500 लोगों को काम से निकाल रही है. इसके बाद ओला इलेक्ट्रिक ने स्पष्ट किया है कि उसने लगभग 200 इंजीनियरों को कंपनी छोड़ने के लिए कहा है. कंपनी अपने दो प्रमुख कारोबारों- राइड-हेलिंग और इलेक्ट्रिक वाहन निर्माण में बहुतायत को कम करना चाहती है. Ola ने कहा कि वह वर्टिकल इंटीग्रेटेड मोबिलिटी कंपनी होने पर ध्यान केंद्रित कर रही है और प्रासंगिक भूमिकाओं और कार्यों को मजबूत करने के लिए एक स्ट्रक्चर बनाने के लिए संचालनों को केंद्रीकृत कर रही है.

ओला ने हाल ही में अपेन यूज्ड बिजनेस ओला कार्स, क्विक कॉमर्स बिजनेस ओला डैश को बंद किया है. इसकी वजह है कि कंपनी ने अपने इलेक्ट्रिक टूव्हीलर और कार वर्टिकल्स पर फोकस शिफ्ट किया है. बता दें कि आधे दर्जन से ज्यादा सीनियर एग्जीक्यूटिव्स हाल के महीनों में ओला इलेक्ट्रिक को छोड़कर जा चुके हैं. वहीं पिछले 2 सालों में 30 से ज्यादा सीनियर एग्जीक्यूटिव्स ने ओला को छोड़ा है.

इस वक्त ओला में 2000 इंजीनियर

IANS की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ओला ने स्पष्ट किया है कि उसके लगभग 200 इंजीनियरों को जाने के लिए कहा गया है. इनमें से कुछ इंजीनियर सॉफ्टवेयर वर्टिकल में हैं. इस वक्त ओला में इंजीनियरों की संख्या 2000 है. इस तरह यह कटौती लगभग 10 प्रतिशत की है. ओला इस साल पहले ही लगभग 1000 कर्मचारियों को निकाल चुकी है.

कंपनी ने एक बयान में कहा, ‘ओला दोपहिया वाहनों, चार पहिया वाहनों, सेल रिसर्च और विनिर्माण में खुद को मजबूत करने के साथ-साथ सभी कार्यों में सामान्य क्षमताओं और तालमेल का निर्माण कर रही है. इसके लिए ओला, वाहन इंजीनियरिंग, सोर्सिंग, प्रॉडक्ट मैनेजमेंट और डेटा साइंस में भूमिकाओं के लिए भर्ती की आमद के हिस्से के रूप में अगले 18 महीनों में अपने इंजीनियरिंग कर्मचारियों को वर्तमान के लगभग 2000 से बढ़ाकर 5000 तक करने की योजना बना रही है.

पिछले साल शुरू किया ई-स्कूटर बनाना

ओला ने पिछले साल ई-स्कूटर का निर्माण शुरू किया और 2024 में इलेक्ट्रिक कारों का उत्पादन शुरू करने की योजना बनाई. हालांकि, इस साल की शुरुआत में इसका स्कूटर कारोबार तब जांच के दायरे में आया, जब ओला ने एक स्कूटर में आग लगने के बाद 1400 से अधिक वाहनों को वापस मंगाया. कंपनी ने इस साल की पहली छमाही में पब्लिक होने की योजना को भी स्थगित कर दिया. कहा जा रहा है कि कंपनी ने ऐसा संभवतः बाजार में अस्थिरता और अन्य घरेलू स्टार्टअप्स की कमजोर लिस्टिंग को देखते हुए किया. ओला के को-फाउंडर भाविश अग्रवाल हैं. वह इस वक्त कंपनी के सीईओ हैं.


Edited by Ritika Singh