Meesho पर दिल्ली के 1300 करोड़पति और 24,000 लखपति विक्रेता

Meesho पर दिल्ली के 1300 करोड़पति और 24,000 लखपति विक्रेता

Wednesday December 21, 2022,

3 min Read

ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस मीशो (Meesho) के लिए साल 2022 खास तौर पर बहुत अच्छा रहा. कंपनी ने हर किसी के लिए इंटरनेट कॉमर्स को सुलभ कराने के अपने मिशन में कई नए मील के पत्थर हासिल किए. मीशो ने इस वर्ष बिक्री से जुड़े तीन रिकॉर्ड बनाए, जिनमें से प्रत्येक अपने पिछले से बढ़कर रहा. देश के कोने-कोने से किफायतपसंद ग्राहकों ने हमारी दैनिक निम्न कीमतों और व्यापक एसॉर्टमेंट का चयन किया.

कंपनी द्वारा शुरू की गई इंडस्ट्री की कुछ प्रथम पहलों जैसे शून्य कमीशन और शून्य जुर्माना के परिणामस्वरूप मीशो से जुड़ने वाले दिल्ली के एमएसएमई की संख्या पिछले एक साल में बढ़ी है. पिछले 12 महीनों में दिल्ली के 1300 से अधिक विक्रेता करोड़पति बने, जबकि ~24,000 विक्रेता लखपति बने. इस साल, दिल्ली से जुड़ने वाले आपूर्तिकर्ताओं की संख्या में 25% की वृद्धि भी हुई, जिसमें से ~50% ने मीशो के साथ अपने ई-कॉमर्स की शुरुआत की. दिल्ली के खरीदारों द्वारा पसंद किए गए शीर्ष उत्पादों में ब्लूटूथ हेडफोन एवं इयरफ़ोन, लहंगा चोली, स्मार्ट वॉच, एक्सटेंशन बोर्ड और कॉटन बेडशीट शामिल थे.

विभिन्न भौगोलिक क्षेत्रों और अलग-अलग सामाजिक आर्थिक पृष्ठभूमि वाले ग्राहकों के बीच ई-कॉमर्स की लगातार जोर पकड़ती लोकप्रियता को देखते हुए, मीशो ने देश के विविधतापूर्ण ग्राहक आधार के लिए सुलभता और किफायतीपन को बढ़ावा देना जारी रखा है. वर्ष 2022 में भारत की खरीदारी प्रवृत्तियों से जुड़ी कुछ प्रमुख बातें इस प्रकार हैं.

  • मीशो विक्रेताओं ने वर्ष 2022 में कमीशन में 3,700 करोड़ रुपये की बचत की, जिसका श्रेय इसके उद्योग-प्रथम शून्य कमीशन मॉडल को जाता है.

  • पूरे भारत में एसएमबी का डिजिटलीकरण: मीशो ने 2022 में ~500,000 आपूर्तिकर्ताओं को अपने प्लेटफॉर्म से जोड़ा, जिनमें से 61% ई-कॉमर्स और ऑनलाइन बिक्री के लिए बिल्कुल नए थे.

भारत का शॉपिंग प्राइम टाइम

  • रविवार का दिन तनाव से राहत दिलाने वाला होता है - और यह वह दिन भी है जब भारतीयों ने वर्ष 2022 में सबसे अधिक ऑनलाइन खरीदारी की. पिछले साल, यह दिन बुधवार था.

  • मीशो के ग्राहकों के लिए रोजाना रात 8 बजे का समय शॉपिंग प्राइम टाइम था, जबकि वर्ष 2021 में यह समय दोपहर के 2-3 बजे रहा था.

  • लाखों ग्राहकों ने डाइरेक्ट डिलिवरी करने वाले कार्मिकों की सहायता के लिए 'पीपल का पेड ',' बरगद का पेड ', 'आटा चक्की के पीछे' और 'पानी की टंकी के पास' जैसे स्थानीय स्थलों का लैंडमार्क के रूप में उपयोग किया. डिजिटल नक्शों से जुड़ी गतिविधि; रास्ता बताने वाले देशी उपकरण की सटीकता बेजोड़ है.

भारत बेहतर तरीके से खुद का ख्याल रख रहा है

  • वर्ष 2022 में ‘स्मार्टवॉच' सबसे अधिक सर्च जाने वाला दूसरा प्रोडक्ट था, जो यह दर्शाता है कि कैसे भारतीय शारीरिक गतिविधि को लेकर सजग हो रहे हैं.

  • सजने-संवरने वाले प्रोडक्ट्स के प्रति पुरुषों में पहले से कहीं अधिक झुकाव दिख रहा है, 60% से अधिक ऑर्डर टियर 4 बाजारों से प्राप्त हुए हैं.

  • टियर 2+ शहरों में सैनिटरी नैपकिन के ऑर्डर में 9 गुनी वृद्धि देखने को मिली, जो यह दर्शाता है कि कैसे ई-कॉमर्स भारत की लाखों महिलाओं के लिए पहुंच बना रहा है.

2022 शॉपिंग कार्ट

  • प्रति मिनट 148 साड़ियों की बिक्री हुई और देश के कोने-कोने से मांग देखने को मिली, पोशाक के प्रति भारत का लगाव बढ़ता जा रहा है.

  • रोजाना 93,000 टी - शर्ट, 51,725 ब्लूटूथ इयरफ़ोन और 21,662 लिपस्टिक की बिक्री हुई. राजस्थान में ब्लूटूथ इयरफ़ोन की भारी मात्रा में खरीदारी हुई, झारखंड से एक्सटेंशन बोर्ड की सबसे अधिक मांग रही, हरियाणा में ब्लूटूथ इयरफ़ोन को विशेष रूप से पसंद किया गया जबकि असम में बॉडी लोशन की जबरदस्त खरीदारी हुई.
यह भी पढ़ें
IPL की वैल्यूएशन 10.9 अरब डॉलर पार, 2022 में 75 फीसदी बढ़ी: रिपोर्ट


Edited by रविकांत पारीक