कोरोना संकट: ऑक्सीजन की कमी से लड़ने के लिए पेटीएम, CRED ने शुरू की पहल

पेटीएम ने कहा कि यह अपने प्लेटफॉर्म पर यूजर्स द्वारा डोनेट किए गए हर रुपये के बराबर रुपये दान करेगी, जबकि क्रेड (CRED) अपने यूजर्स को स्वास्थ्य संगठनों के लिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खरीदने के लिए उनके क्रेड कॉइन डोनेट करने के लिए सक्षम कर रहा है।

कोरोना संकट: ऑक्सीजन की कमी से लड़ने के लिए पेटीएम, CRED ने शुरू की पहल

Wednesday April 28, 2021,

2 min Read

पेटीएम ने सोमवार को कहा कि इसका उद्देश्य सरकारी और निजी अस्पतालों, COVID-19 देखभाल केंद्रों, गैर सरकारी संगठनों और रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के लिए 3,000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर का आयात करना है, जो कि 'ऑक्सीजन फॉर इंडिया' नामक इसकी पहल का हिस्सा है।


फिनटेक की इस दिग्गज कंपनी ने अपने यूजर्स को अपने प्लेटफॉर्म पर पैसे दान करने के लिए आमंत्रित किया है, और कहा कि यह प्रत्येक योगदान को उतने ही रुपये से मैच करेगा जितना की दान किया गया है।


स्टार्टअप ने पहले ही 4 करोड़ रुपये के 1,000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर आयात करने का ऑर्डर दिया है। अब तक, यूजर्स ने 1.5 करोड़ रुपये तक का योगदान दिया है, और पेटीएम फाउंडेशन ने उतनी ही राशि जोड़ते हुए इसे कुल 3 करोड़ रुपये कर दिया है।


कंपनी ने अपनी प्रेस विज्ञप्ति में कहा, "यह देखते हुए कि देश में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की पर्याप्त आपूर्ति नहीं है, इसलिए फाउंडेशन ने इन उपकरणों को मंगाने के लिए एक्शन लिया है और इन्हें वैश्विक स्तर पर खोजने का फैसला किया। अधिकतम संख्या में जीवन बचाने के उद्देश्य से, फाउंडेशन सोर्सिंग पार्टनर्स के साथ टाई-अप पर काम कर रहा है, ताकि नियत समय में भारत में 30,000 से अधिक ऑक्सीजन कंसंट्रेटर का आयात किया जा सके।"


बेंगलुरु स्थित CRED ने भी हेल्थकेयर संगठनों के लिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खरीदने के लिए फंड जुटाने की एक पहल शुरू की है। स्टार्टअप ने अपने मेंबर्स को ऑक्सीजन से संबंधित उपकरण खरीदने के लिए उनके CRED कॉइन को दान करने के लिए आमंत्रित किया है। क्रेड की इस पहल को मिलाप (Milaap) द्वारा सुगम बनाया जाएगा।


इस पहल का उद्देश्य एक बिलियन लीटर ऑक्सीजन का उत्पादन करने के लिए उपकरणों की खरीद के लिए धन जुटाना है।

f

अपने पार्टनर इकोसिस्टम को संकट से उबारने में मदद करने के लिए, CRED ने कहा कि यह भविष्य की खरीद के लिए, साथ ही साथ अपने सभी कर्मचारियों को शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य सहायता, वेतन एडवांस और टीकाकरण सहायता प्रदान करने के लिए एडवांस में फंड वितरित करेगा।


CRED के कुणाल शाह ने ट्विटर पर लिखा, "यह कहना आसान है कि हिम्मत बनायें रखें, लेकिन ऐसा करना बहुत मुश्किल है। हालांकि जब हम एक सामूहिक ताकत के रूप में एक साथ आएंगे, तो हम इस संकट से उभर सकते हैं। वह सब करें जो आप कर सकते हैं - चाहे ये कितना भी छोटा प्रयास क्यों न हो, हमारे प्रयास ही एक-दूसरे के लिए राह आसान बना सकते हैं।"


Edited by Ranjana Tripathi