PhonePe ने ONDC प्लेटफॉर्म पर लॉन्च किया Pincode ऐप, जानिए खास बातें...

PhonePe ने पहले Switch के साथ इस सेक्टर में प्रवेश करने का प्रयास किया, जो सुपरऐप कॉन्सेप्ट और स्टोर पर बेस्ड था. इसका उद्देश्य व्यापारियों की हाइपर-लोकल खोज को सुविधाजनक बनाना था.

PhonePe ने ONDC प्लेटफॉर्म पर लॉन्च किया Pincode ऐप, जानिए खास बातें...

Tuesday April 04, 2023,

3 min Read

वॉलमार्ट के स्वामित्व वाली फिनटेक कंपनी PhonePe ने मंगलवार को सरकार के ओपन नेटवर्क फॉर डिजिटल कॉमर्स (ONDC) प्लेटफॉर्म पर बने अपने ईकॉमर्स कंज्यूमर ऐप Pincode के लॉन्च की घोषणा की है. बता दें कि PhonePe औपचारिक रूप से इस साल की शुरुआत में अपनी पैरेंट कंपनी Flipkart से अलग हो गई थी,

फिनटेक कंपनी की ऑनलाइन कॉमर्स को लेकर महत्वाकांक्षाएं नई नहीं हैं. कंपनी ने पिछले साल अगस्त में ईकॉमर्स स्पेस में प्रवेश करने की अपनी योजना के बारे में बताया था. फोनपे ने पहले Switch के साथ इस सेक्टर में प्रवेश करने का प्रयास किया, जो सुपरऐप कॉन्सेप्ट और स्टोर पर बेस्ड था. इसका उद्देश्य व्यापारियों की हाइपर-लोकल खोज को सुविधाजनक बनाना था.

कंपनी के एक बयान में कहा गया है कि ऐप बेंगलुरु में किराना, फूड, फार्मा, इलेक्ट्रॉनिक्स और होम डेकोर जैसी श्रेणियों के साथ पायलट करेगी.

वहीं, कंपनी ने कहा कि ऐप लोकल दुकानदारों और विक्रेताओं को बढ़ावा देगी और ऑनलाइन ऑर्डर की सुविधा के साथ प्रत्येक शहर के उपभोक्ताओं को पड़ोस के स्टोर से डिजिटल रूप से जोड़ने की उम्मीद करती है, जिसे वे आमतौर पर ऑफलाइन से खरीदते हैं.

बेंगलुरु में लॉन्च इवेंट के दौरान PhonePe के फाउंडर और सीईओ समीर निगम ने कहा, "पिनकोड एक नया शॉपिंग ऐप है और ई-कॉमर्स के लिए बेहद क्रांतिकारी साबित होगा. यह सभी लोकल स्टोर और विक्रेताओं को डिजिटल शॉपिंग के लिए कनेक्ट करता है. पिनकोड ओएनडीसी नेटवर्क पर बनाया गया है, जो हमें विभिन्न विक्रेता प्लेटफार्मों द्वारा डिजिटाइज़ किए गए व्यापारियों की मांग को समावेशी तरीके से उत्पन्न करने की अनुमति देता है. इसके साथ ही यह विकास के लिए नए अवसर पैदा करता है और बड़े पैमाने पर इनोवेशन को बढ़ावा देता है."

निगम ने आगे कहा, "हमें लगता है कि अगर हम स्थानीय व्यापार को सबसे आगे रखते हैं, तो उपभोक्ता-व्यापारी गतिशील परिवर्तन होता है. हमारा पहला आदर्श वाक्य स्थानीय शुरू करना है.”

गौरतलब हो कि ईटी के पिछले साल अगस्त आई एक रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी ने ओएनडीसी में एंट्री के लिए 1.5 करोड़ डॉलर तय किए हैं और वह 18 महीने की अवधि में पूंजी लगाने की योजना बना रही है.

ऐप को राष्ट्रीय ब्रांड और स्थानीय रूप से निर्मित प्रोडक्ट्स दोनों की पेशकश करते हुए, पड़ोस के स्टोरों की अंतर्निहित ताकत को बाहर लाने की उम्मीद है.

कंपनी ने अपने बयान में कहा, "यह न केवल स्थानीय खुदरा विक्रेताओं को प्रोत्साहन देगी, बल्कि MSME's और किसानों सहित पूरे लोकल इकोसिस्टम को शक्ति प्रदान करेगी."

यह भी पढ़ें
जुड़वा भाइयों ने किया स्टार्टअप, अब जुटाई 40 करोड़ रुपये की फंडिंग