Physics Wallah के पूरे भारत में 50 विद्यापीठ सेंटर शुरू; ऑफलाइन कोचिंग की तस्वीर बदलने के लिए 10 मिलियन डॉलर का निवेश

Physics Wallah PW SAT (स्कॉलरशिप एडमिशन टेस्ट) के माध्यम से PW कक्षा कार्यक्रम के लिए 90% तक छात्रवृत्ति ऑफर कर रहा है ताकि सराहनीय छात्रों को आगे उनकी शैक्षिक गतिविधियों में सहायता मिल सके.

हाइलाइट्स

  • Physics Wallah (PW) का उद्देश्य JEE/NEET की बुनियादी तैयारी के लिए 1200+ भारतीय टॉप फैकल्टी नियुक्त कर, सीखने के अनुभव को बढ़ाना है
  • वर्तमान अकैडमिक वर्ष में 1,50,000 छात्रों तक पहुंचने का लक्ष्य
  • PW ने शैक्षणिक वर्ष 2023-24 में SAT के माध्यम से 12 मिलियन डॉलर की छात्रवृत्ति छात्रों को प्रदान की
  • ऑफ़लाइन शिक्षण के लिए मेधावी छात्रों को अगले शैक्षणिक वर्ष में 20 मिलियन डॉलर की छात्रवृत्ति देने का लक्ष्य

भारत का प्रमुख एड-टेक प्लेटफॉर्म Physics Wallah का उद्देश्य देश भर में 50 विद्यापीठ सेंटर्स के लॉन्च के साथ टेक्नोलॉजी के समन्वय से ऑफ़लाइन कोचिंग उद्योग को बदलने देने का है.

विद्यापीठ के 50 सेंटर्स में 650 स्मार्ट क्लासरूम हैं , जो पी डब्ल्यू को एक बड़े छात्र समूह तक पहुंचने के मदद करेंगे और उन्हें उनकी आने वाली जेईई/एनईईटी परीक्षाओं के लिए सीखने के सबसे अच्छे अनुभव प्रदान करेंगे. पी डब्ल्यू ने भारत भर में 1200 से अधिक टॉप फैकल्टी सदस्यों के भर्ती की योजना बनाई है. स्तरीय कंटेंट और बेहतर परिणाम देने के लिए इन्हें अच्छे से ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी. एड-टेक यूनिकॉर्न पहले से ही देश भर के विभिन्न शहरों में 11 विद्यापीठ सेंटर्स चला रहा है.

जिन राज्यों में पीडब्लू ने अपने नए विद्यापीठ केंद्र खोले हैं, वे हैं दिल्ली, जम्मू और कश्मीर, पंजाब, उत्तराखंड, हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार, असम, झारखंड, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, गुजरात, छत्तीसगढ़, ओडिशा, महाराष्ट्र और कर्नाटक.

विद्यापीठ सेंटर्स छात्रों को प्रश्नों का नियमित दैनिक अभ्यास (डीपीपी), वीडियो क्विज और होमवर्क मॉनिटरिंग कराएंगे, जिसे पेरेंट-स्टूडेंट डैशबोर्ड पर देखा जा सकता है. इसके अलावा, सभी लेक्चर्स को हर कक्षा के बाद पीडब्ल्यू ऐप पर अपलोड किया जाएगा, जिससे छात्रों के लिए उन्हें कभी भी, कहीं भी पढ़ना-सुनना सम्भव हो सके.

3-डी मॉडलिंग की शुरुआत के साथ, पीडब्ल्यू की शिक्षण प्रणाली में इनोवेशन सबसे ज्यादा है. इसके अलावा, पीडब्ल्यू के पास सारथी है, जो छात्रों को व्यक्तिगत रूप से गाइड करता देता है. हर छात्र का उसकी क्षमता के मुताबिक स्टडी प्लान बना, कोर्स का रिवीजन करा और पेरेंट्स-टीचर मीटिंग आयोजित कर छात्रों के किसी भी शंका या प्रश्न के समाधान में मदद के लिए सारथी दिन के 15 घंटे उपलब्ध है. अकैडमिक मदद के अलावा, पीडब्ल्यू नियमित शारीरिक और मानसिक गतिविधियों के साथ अपने छात्रों के सम्पूर्ण सेहत को भी प्राथमिकता दे रहा है. प्रेरणा हेल्पलाइन पीडब्ल्यू की एक और पहल है, जिसमें छात्रों को उनकी तैयारी के दौरान किसी भी मनोवैज्ञानिक तनाव की स्थिति में विशेषज्ञ सलाह और सहायता प्रदान की जाती है.

Physics Wallah पीडब्ल्यू SAT (स्कॉलरशिप एडमिशन टेस्ट) के माध्यम से पीडब्ल्यू कक्षा कार्यक्रम के लिए 90% तक छात्रवृत्ति ऑफर कर रहा है ताकि सराहनीय छात्रों को आगे उनकी शैक्षिक गतिविधियों में सहायता मिल सके.

अलख पांडे, फाउंडर और सीईओ, पीडब्ल्यू, ने कहा: "हमारा मुख्य उद्देश्य पूरे भारत में सभी छात्रों के लिए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराना है. विद्यापीठ के माध्यम से देश के दूर-दराज के हिस्सों में गुणवत्ता वाली शिक्षा उपलब्ध कराई जाती है, जिससे छात्रों को अपने ही शहर में पढ़ने का मौका मिल सके. हमारा उद्देश्य छात्रावास की फीस और जीविका पर आने वाले खर्च को बचाकर पेरेंट्स के पैसों को बचाना है, जो आम तौर पर शैक्षणिक शुल्क की राशि का दोगुना होता है. जहां तक अध्ययन की बात है, हम छात्रों के लिए अतिरिक्त कक्षाएं और नियमित टेस्ट भी आयोजित करेंगे, साथ ही उन्हें प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए अच्छी तरह से तैयार करने में मदद करने के लिए टेस्ट एनालिटिक्स डैशबोर्ड भी प्रदान करेंगे."

प्रतीक माहेश्वरी, को -फाउंडर, पीडब्ल्यू, ने कहा: "विद्यापीठ एड-टेक की दुनिया में एक क्रांतिकारी कदम है. छात्रों को उनके लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करने के लिए हमने तकनीकी नवाचार में $10 मिलियन का निवेश किया है. विद्यापीठ सेंटर्स दिन के 15 घंटे से अधिक समय तक सहायता देने के लिए तैयार रहेंगे, और छात्रों के पास पीडब्ल्यू ऐप के माध्यम से किसी भी मुद्दे को हमारे हेड ऑफिस तक पहुँचाने की भी व्यवस्था होगी. विद्यापीठ तकनीकी-एकीकृत ऑफ़लाइन क्लास है, जो अच्छी तरह से शोध की हुई पाठ्यक्रम सामग्री और भारत के सर्वश्रेष्ठ फैकल्टी के साथ बेहतरीन शिक्षा देती है."

पीडब्ल्यू छात्रों को सर्वश्रेष्ठ ऑनलाइन, ऑफलाइन और हाईब्रिड क्लास देने के लिए देशभर में जाना जाता है. आसानी से समझ में आने वाले और आकर्षक वीडियोज के माध्यम से, पीडब्ल्यू छात्रों को विषय की ठोस समझ देता है. पीडब्ल्यू की अनुभवी और समर्पित फैकल्टी इस प्लेटफॉर्म को सबसे अलग बनाती है.

यह भी पढ़ें
अलख पांडेय: घर बिका, झुग्गी में रहे, फिर 5 साल में बना डाली 8000 करोड़ की कंपनी