Brands
YSTV
Discover
Events
Newsletter
More

Follow Us

twitterfacebookinstagramyoutube
Yourstory

Brands

Resources

Stories

General

In-Depth

Announcement

Reports

News

Funding

Startup Sectors

Women in tech

Sportstech

Agritech

E-Commerce

Education

Lifestyle

Entertainment

Art & Culture

Travel & Leisure

Curtain Raiser

Wine and Food

Videos

ys-analytics
ADVERTISEMENT
Advertise with us

Queen of Mahindra's Machines: क्या रामकृपा अनंतन भारतीय ऑटो डिज़ाइन का भविष्य हैं?

रामकृपा अनंतन सिर्फ एक डिज़ाइनर नहीं हैं; वह एक दूरदर्शी हैं जिन्होंने पहले ही भारतीय ऑटोमोटिव लैंडस्केप पर एक महत्वपूर्ण छाप छोड़ी है.

जब भी बात आती है भारतीय एसयूवी की, तो कुछ नाम स्वाभाविक रूप से जेहन में आते हैं जैसे कि महिंद्रा थार, एक्सयूवी700, और स्कॉर्पियो. इन सभी गाड़ियों की सफलता में एक साझा कड़ी है – रामकृपा अनंतन (Ramkripa Ananthan). एक ऐसी कार डिज़ाइनर जिन्होंने महिंद्रा के एसयूवी सेगमेंट में क्रांति ला दी है.

आइए जानते हैं उनके सफर के बारे में, उनके द्वारा भारतीय ऑटोमोटिव डिज़ाइन में किए गए योगदान के बारे में और उनका नाम ऑटो इंडस्ट्री में क्यों इतना मशहूर है.

रामकृपा अनंतन का प्रेरणादायक सफर

रामकृपा अनंतन, जिन्हें कृपा अनंतन के नाम से भी जाना जाता है, ने अपना करियर 1997 में महिंद्रा & महिंद्रा (Mahindra & Mahindra) के साथ इंटीरियर डिज़ाइनर के रूप में शुरू किया. बिट्स पिलानी (BITS Pilani) से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में डिग्री और आईआईटी बॉम्बे (IIT Bombay) से मास्टर ऑफ डिज़ाइन की डिग्री के साथ, उनके पास ऑटोमोटिव उद्योग में अपनी छाप छोड़ने के लिए तकनीकी और रचनात्मक कौशल का सही मिश्रण था. उनके शुरुआती कार्यों में बोलेरो, स्कॉर्पियो, और ज़ायलो जैसी कारों के इंटीरियर्स डिज़ाइन करना शामिल था.

महिंद्रा में डिज़ाइन क्रांति की अगुवाई

2005 में उन्हें महिंद्रा के डिज़ाइन विभाग का हेड नियुक्त किया गया, जहाँ उन्होंने महिंद्रा एक्सयूवी500 का डिज़ाइन तैयार किया. 2019 तक वह चीफ़ डिज़ाइनर बन गईं, जिसने उन्हें महिंद्रा के भविष्य के वाहनों की लुक और फील को आकार देने की स्थिति में रखा.

queen-mahindras-machines-ramkripa-ananthan-future-indian-auto-design-ola-electric

ओला इलेक्ट्रिक में नई चुनौती

2022 में, अनंतन ने ओला इलेक्ट्रिक में हेड ऑफ डिज़ाइन के रूप में एक नई चुनौती स्वीकार की. यहाँ उनकी भूमिका में दोपहिया और आगामी चार-पहिया विभागों के लिए डिज़ाइन प्रयासों की अगुवाई शामिल है.

क्यों रामकृपा अनंतन भारतीय ऑटो डिज़ाइन का भविष्य हैं?

रामकृपा अनंतन का करियर उनकी बहुमुखी प्रतिभा और उत्कृष्टता के प्रति समर्पण को दर्शाता है. महिंद्रा में उनके शुरुआती दिनों से लेकर ओला इलेक्ट्रिक में उनकी वर्तमान भूमिका तक, उन्होंने इनोवेटिव और प्रभावशाली डिज़ाइन प्रदान किए हैं. इलेक्ट्रिक वाहनों के बढ़ते चलन के साथ, डिज़ाइनरों की भूमिका मोबिलिटी के भविष्य को आकार देने में महत्वपूर्ण होती जा रही है.

रामकृपा अनंतन सिर्फ एक डिज़ाइनर नहीं हैं; वह एक दूरदर्शी हैं जिन्होंने पहले ही भारतीय ऑटोमोटिव लैंडस्केप पर एक महत्वपूर्ण छाप छोड़ी है.

यह भी पढ़ें
ट्रैक्टर क्वीन ऑफ इंडिया: कैसे मल्लिका ने खड़ा किया 10,000 करोड़ रुपये का कृषि-साम्राज्य