UPI ID से अब क्रेडिट कार्ड भी होंगे लिंक! जानें क्या है RBI का प्रपोजल

By Ritika Singh
June 08, 2022, Updated on : Thu Jun 09 2022 05:08:42 GMT+0000
UPI ID से अब क्रेडिट कार्ड भी होंगे लिंक! जानें क्या है RBI का प्रपोजल
वर्तमान में UPI, यूजर्स के डेबिट कार्ड के माध्यम से बचत/चालू खातों को जोड़कर लेनदेन की सुविधा प्रदान करता है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

अगर आप UPI के माध्यम से डिजिटल पेमेंट्स (Digital Payments) करना पसंद करते हैं तो आपके लिए एक अच्छी खबर है. जल्द ही आप अपने क्रेडिट कार्ड को भी UPI से लिंक (Credit Card Linking to UPI) कर सकेंगे. 8 जून को RBI मॉनेटरी पॉलिसी रिव्यू मीटिंग (Monetary Policy Review Meeting) के नतीजे जारी करते हुए आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने इस बारे में घोषणा की. उन्होंने कहा कि आरबीआई ने क्रेडिट कार्ड्स को यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) से लिंक करने का प्रस्ताव रखा है और इसकी शुरुआत RuPay क्रेडिट कार्ड्स की लिंकिंग से होगी.


वर्तमान में UPI, यूजर्स के डेबिट कार्ड के माध्यम से बचत/चालू खातों को जोड़कर लेनदेन की सुविधा प्रदान करता है. अब UPI प्लेटफॉर्म पर क्रेडिट कार्ड को लिंक करने की अनुमति देने का प्रस्ताव है. सबसे पहले Rupay क्रेडिट कार्ड को UPI प्लेटफॉर्म से जोड़ा जाएगा. यह यूजर्स को अतिरिक्त सुविधा प्रदान करेगा और डिजिटल भुगतान के दायरे को बढ़ाएगा.

NPCI जारी करेगा जरूरी दिशानिर्देश

यहां एक बात गौर करने वाली है कि गूगल पे जैसे कुछ पेमेंट्स ऐप्स पर पहले से क्रेडिट कार्ड को ऐड करने का विकल्प है. लेकिन इससे आप ​केवल मर्चेंट को पेमेंट कर सकते हैं, किसी व्यक्ति को नहीं. पेमेंट ऐप्स पर डेबिट/क्रेडिट कार्ड ऐड करने का विकल्प केवल 'पे बिजनेसेज' सेक्शन के लिए है, यानी डेबिट/क्रेडिट कार्ड से केवल किसी मर्चेंट को पेमेंट किया जा सकता है. किसी व्यक्ति को पेमेंट केवल बैंक खाते से ही हो सकता है. UPI से हर तरह के ट्रांजेक्शन के लिए क्रेडिट कार्ड लिंक कर सकने की सुविधा, एक जरूरी सिस्टम डेवलप होने के बाद मिलेगी. इसके लिए NPCI अलग से जरूरी दिशानिर्देश जारी करेगा.

मई 2022 में 10.4 लाख करोड़ रुपये के UPI ट्रांजेक्शंस

दास ने कहा कि UPI भारत में भुगतान का सबसे समावेशी तरीका बन गया है. 26 करोड़ से अधिक यूजर और 5 करोड़ मर्चेंट इसके प्लेटफॉर्म पर हैं. अकेले मई 2022 में UPI के माध्यम से 10.4 लाख करोड़ रुपये की राशि के लगभग 594 करोड़ लेनदेन हुए.