सबसे ज्यादा नोएडा में महंगा हुआ है घरों का किराया, उसके बाद इन शहरों का है नंबरः रिपोर्ट

प्रॉपर्टी कंसल्टेंट Anarock की रिपोर्ट के मुताबिक 7 बड़े शहरों में 1000 स्क्वैयर फीट के 2बीएचके फ्लैट्स के दाम 2019 के मुकाबले 2022 में 23 फीसदी बढ़ गए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक 2023 में भी प्रॉपर्टी का किराया बढ़ना जारी रहेगा.

सबसे ज्यादा नोएडा में महंगा हुआ है घरों का किराया, उसके बाद इन शहरों का है नंबरः रिपोर्ट

Monday February 13, 2023,

3 min Read

कोविड के सामान्य स्तर पर आने के साथ ही दफ्तर खुलने लगे और लोग भी घर से वापस वर्क टाउन की ओर लौटने लगे. जब लौटे तो रहने के लिए घरों की तलाश शुरू हुई. एकाएक इतने लोगों की तरफ से डिमांड ने घरों के किराये में जबरदस्त उछाल देखने को मिल रहा है.

एनॉरॉक की रिपोर्ट के मुताबिक 7 बड़े शहरों में 1000 स्क्वैयर फीट के 2बीएचके फ्लैट्स के दाम 2019 के मुकाबले 2022 में 23 फीसदी बढ़ गए हैं. 

सबसे ज्यादा दाम नोएडा में बढ़े हैं. जहां 2019 में सेक्टर 150 में 2बीएचके फ्लैट का किराया 15,500 रुपये हुआ करता था वो अब औसतन 19,000 रुपये हो चुका है. 

पूरे दिल्ली-एनसीआर में देखें तो सोहना रोड, गुड़गांव और द्वारका में घरों के किराये ताबड़तोड़ तरीके से बढ़े हैं. गुड़गांव के सोहना रोड में किराया 25,000 रुपये से 14 फीसदी बढ़कर 28,500 रुपये हो चुका है.

दिल्ली के द्वारका में 1000 स्क्वैयर फुट 2बीएचके का किराया 22,000 रुपये था जो अब 13 फीसदी बढ़कर 19,500 रुपये हो गया है. एनारॉक ग्रुप के चेयरमैन अनुज पुरी कहते हैं कि सभी जगहों पर किराया जबरदस्त तरीके से बढ़ा है.

उन्होंने कहा, ‘कंपनियां दफ्तर खोल रही हैं, एंप्लॉयीज का वापस ऑफिस से काम करने के लिए बुलाया जा रहा है. कुछ कंपनियों में हाइब्रिड भी चल रहा है. इसलिए फ्लैट्स की बढ़ती डिमांड ने टॉप 7 शहरों में खासकर किराया तेजी से बढ़ रहा है. 2023 में फ्लैट्स के दाम बढ़ना जारी रहेंगे.’

आपको बता दें कि 2019 में कोविड की वजह से लोग अपने घरों को लौटने लगे थे जिसकी वजह से दाम बिल्कुल नीचे आ गए थे. अब फ्लैट ओनर्स ने घरों न कोविड पूर्व स्तर से भी ज्यादा कर दिए हैं.

अन्य बड़े शहरों में भी किराये बढ़े हैं. हैदराबाद की हाईटेक सिटी में किराया 7 पर्सेंट जबकि गाचीबाउली में 6 फीसदी किराया बढ़ा है.

मुंबई मेट्रोपॉलिटन रीजन के चेम्बूर में किराया पहले से ही बाकी शहरों के मुकाबले काफी अधिक था. अब यहां किराया 45,000 रुपये से 13 फीसदी बढ़कर 51,000 रुपये हो गया है.

कोलकाता में औसतन किराया 11 से 16 फीसदी बढ़ चुका है. बेंगलुरु में भी सरजपुर रोड, वाइटफोल्ड राइज जैसे इलाकों में किराया 14 और 18 फीसदी तक बढ़ा है.

पुणे के रेजिडेंशियल मार्केट हिंजेवाड़ी में औसत किराया 17,500 से बढ़कर 21,000 रुपये पर पहुंच चुका है. वघोली में तो किराया 21 फीसदी बढ़कर 14,000 से 17,000 रुपये हो गया है.

चेन्नै के पेरम्बूर में औसतन किराया 2019 में 16,000 रुपये था जो 2022 में 18,000 रुपये हो गया है.पल्लावरम इलाके में किराया 2019 में 14,500 रुपये के आसपास था जो अब 17,000 रुपये हो चुका है.


Edited by Upasana

Daily Capsule
Another round of layoffs at Unacademy
Read the full story