रिलायंस ने पेट्रोल, डीजल बिक्री की वृद्धि में पेट्रोलियम उद्योग को पीछे छोड़ा

रिलायंस ने पेट्रोल, डीजल बिक्री की वृद्धि में पेट्रोलियम उद्योग को पीछे छोड़ा

Monday January 20, 2020,

2 min Read

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने पेट्रोल, डीजल बिक्री में द्विअंकीय वृद्धि हासिल कर समूचे उद्योग को पीछे छोड़ दिया। कंपनी के 1,400 पेट्रोल पंपों की बिक्री 31 दिसंबर, 2019 को समाप्त तीसरी तिमाही में 10 प्रतिशत से अधिक बढ़ी है। यह वृद्धि समूचे उद्योग की पेट्रोल, डीजल बिक्री की वृद्धि से अधिक है।


क

नई दिल्ली, रिलायंस इंडस्ट्रीज ने पेट्रोल, डीजल बिक्री में द्विअंकीय वृद्धि हासिल कर समूचे उद्योग को पीछे छोड़ दिया। कंपनी के 1,400 पेट्रोल पंपों की बिक्री 31 दिसंबर, 2019 को समाप्त तीसरी तिमाही में 10 प्रतिशत से अधिक बढ़ी है। यह वृद्धि समूचे उद्योग की पेट्रोल, डीजल बिक्री की वृद्धि से अधिक है।


अक्टूबर-दिसंबर, 2019 के तिमाही नतीजों के बाद निवेशकों के समक्ष प्रस्तुतीकरण में रिलायंस ने कहा कि तिमाही के दौरान उसके 1,394 पेट्रोल पंपों से उसकी डीजल बिक्री 11 प्रतिशत बढ़ी है जबकि पेट्रोल बिक्री में 15 प्रतिशत का इजाफा हुआ है।


वहीं इस दौरान उद्योग की डीजल की बिक्री 0.2 प्रतिशत और पेट्रोल की 7.1 प्रतिशत बढ़ी।


कंपनी के पेट्रोलपंपों में हर महीने तीन लाख 42 लीटर पेट्रोल, डीजल मंगाया गया जो कि सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियों इंडियन आयल कॉरपोरेशन (आईओसी) और भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन (बीपीसीएल) की तुलना में दोगुना है।


कंपनी ने कहा कि उसके पेट्रोलपंपों की खुदरा बिक्री पांच प्रतिशत बढ़कर 3,725 करोड़ रुपये रही। तिमाही के दौरान ईंधन बिक्री 53.8 करोड़ लीटर रही। कंपनी के 1,394 पेट्रोल पंपों में से 518 कंपनी के स्वामित्व वाले और शेष डीलरों के परिचालन वाले हैं।