रिलायंस से अलग होगी ये कंपनी, बांटे जाएंगे शेयर, ये खबर सुनते ही उछला स्टॉक मार्केट

रिलायंस इंडस्ट्रीज से रिलायंस स्ट्रेटेजिक इन्वेस्टमेंट का डी-मर्जर होने जा रहा है. इसके बाद इसका नाम जियो फाइनेंशियल सर्विसेस कर दिया जाएगा. इसके तहत रिलायंस के सभी शेयर धारकों को हर एक शेयर के लिए जियो फाइनेंशियल सर्विसेस का एक शेयर दिया जाएगा.

रिलायंस से अलग होगी ये कंपनी, बांटे जाएंगे शेयर, ये खबर सुनते ही उछला स्टॉक मार्केट

Friday March 31, 2023,

3 min Read

हाइलाइट्स

रिलायंस इंडस्ट्रीज से रिलायंस स्ट्रेटेजिक इन्वेस्टमेंट का डी-मर्जर होने जा रहा है.

इसके बाद इसका नाम जियो फाइनेंशियल सर्विसेस कर दिया जाएगा.

इसके तहत रिलायंस के सभी शेयर धारकों को हर एक शेयर के लिए जियो फाइनेंशियल सर्विसेस का एक शेयर दिया जाएगा.

रिलायंस के शेयरों में 5 फीसदी से भी ज्यादा की तेजी देखने को मिली है.

आज के वक्त में अगर मार्केट कैप के हिसाब से देखा जा तो सबसे बड़ी कंपनी है रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries Limited). खबर आ रही है कि कंपनी अपनी फाइनेंशियल सर्विस (Reliance Strategic Investments) के बिजनेस को अलग करने पर विचार रही है. इस डीमर्जर के बाद मुकेश अंबानी (Mukesh ambani) की रिलायंस इंडस्ट्रीज के अलावा एक दूसरी कंपनी बन जाएगी जियो फाइनेंशियल सर्विसेस (Jio Financial Services Limited). इसे लेकर 2 मई 2023 को शेयर धारकों की एक बैठक भी बुलाई गई है. यहां एक बड़ा सवाल ये उठता है कि इससे कंपनी के शेयर की कीमत पर क्या असर होगा?

5 फीसदी तक उछला शेयर

रिलायंस इंडस्ट्रीज से फाइनेंशियल सर्विस अलग होने का असर कैसा हो सकता है, इसकी एक झलक तो शेयर बाजार में दोपहर 2 बजे तक के सेशन में ही देखने को मिल गई. कंपनी का शेयर करीब 5 फीसदी तक उछल गया. रिलायंस के शेयरों में इतनी बड़ी तेजी की वजह से पूरे शेयर बाजार में तगड़ी तेजी देखने को मिली. आने वाले दिनों में शेयर में और तेजी देखने को मिल सकती है.

रिलायंस के शेयर धारकों को मिलेंगे 'मुफ्त' के शेयर!

शेयर धारकों की 2 मई की बैठक में डी-मर्जर के फैसले पर मुहर लगेगी. जियो फाइनेंशियल सर्विसेस रिलायंस से अलग होकर कुछ समय बाद शेयर बाजार में लिस्ट होगा. यह डी-मर्जर शेयर-स्वैप व्यवस्था के जरिए किया जाना है. ऐसे में जिन लोगों के पास रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर हैं, उन्हें हर शेयर के लिए जियो फाइनेंशियल सर्विसेस का एक शेयर दिया जाएगा. बता दें कि जियो फाइनेंशियल सर्विसेस रिलायंस इंडस्ट्रीज के पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है. इसके डी-मर्जर को रिलायंस इंडस्ट्रीज के बोर्ड में नवंबर 2022 में ही हरी झंडी दे दी थी.

देश की 5वीं सबसे बड़ी फाइनेंशियल कंपनी!

Macquarie Research ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि जियो फाइनेंशियल सर्विसेस देश की पांचवीं सबसे बड़ी फाइनेंशियल कंपनी बन सकती है. मौजूदा वक्त में एचडीएफसी बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और एक्सिस बैंक देश की चार सबसे बड़ी फाइनेंशियल सर्विसेस कंपनियां हैं. उम्मीद की जा रही है कि अब रिलायंस जियो फाइनेंशियल सर्विस पेमेंट बिजनेस में बड़ा खिलाड़ी बन सकता है. जियो फाइनेंशियल सर्विसेस इंश्योरेंस, पेमेंट, डिजिटल ब्रोकिंग और असेट मैनेजमेंट जैसे क्षेत्रों में भी उतर सकता है, जिसके लिए लाइसेंस कंपनी के पास पहले से ही मौजूद है. 31 मार्च तक जियो फाइनेंशियल सर्विसेज का बिजनेस करीब 1387 करोड़ रुपये का है.

एक्सपर्ट्स का क्या है मानना?

शेयर बाजार के विशेषज्ञों का मानना है कि इससे रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में एक तगड़ी तेजी देखने को मिलेगी. कंपनी का शेयर तेजी से ऊपर भाग सकता है. उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही कंपनी का शेयर 2900 रुपये का लेवल भी छू सकता है. बता दें कि करीब 10 दिन पहले ही रिलायंस के शेयर ने 20 मार्च को 2180 रुपये का अपना 52 हफ्तों का न्यूनतम स्तर छुआ था, लेकिन अब डी-मर्जर की खबर ने कंपनी के शेयरों में तेजी ला दी है.

यह भी पढ़ें
पैसे लुटाकर पैसे कमाना कभी सुना है? अनिल अग्रवाल की कंपनियों में डिविडेंड का खेल कुछ ऐसा ही है

Montage of TechSparks Mumbai Sponsors