खुदरा मुद्रास्फीति जनवरी 2024 में घटकर 5.10% हुई, दिसंबर 2023 में औद्योगिक उत्पादन 3.8% बढ़ा

मुद्रास्फीति में तेज कमी का श्रेय खाद्य कीमतों में नरमी को दिया जा सकता है. जनवरी में खाद्य मुद्रास्फीति दिसंबर के 9.53 प्रतिशत के मुकाबले 8.30 प्रतिशत रही.

खुदरा मुद्रास्फीति जनवरी 2024 में घटकर 5.10% हुई, दिसंबर 2023 में औद्योगिक उत्पादन 3.8% बढ़ा

Tuesday February 13, 2024,

2 min Read

सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय द्वारा सोमवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, भारत की खुदरा मुद्रास्फीति दिसंबर में चार महीने के उच्चतम 5.69 प्रतिशत के मुकाबले घटकर वार्षिक आधार पर 5.10 प्रतिशत हो गई. ईटी की एक रिपोर्ट के अनुसार, 44 अर्थशास्त्रियों के एक रॉयटर्स सर्वे में तीन महीने के निचले स्तर 5.09 प्रतिशत का अनुमान लगाया गया था.

यह संख्या भारतीय रिजर्व बैंक के 2-6 प्रतिशत के सहनशीलता बैंड के भीतर बनी हुई है.

ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में मुद्रास्फीति दर 5.34 प्रतिशत, 4.92 प्रतिशत रही, जो एक साल पहले इसी महीने में 5.93 प्रतिशत और 5.46 प्रतिशत थी.

मुद्रास्फीति में तेज कमी का श्रेय खाद्य कीमतों में नरमी को दिया जा सकता है. जनवरी में खाद्य मुद्रास्फीति दिसंबर के 9.53 प्रतिशत के मुकाबले 8.30 प्रतिशत रही.

दिसंबर में सब्जी मुद्रास्फीति 27.64 प्रतिशत से मामूली कम होकर 27.03 प्रतिशत हो गई. इसके अलावा, ईंधन और प्रकाश मुद्रास्फीति में (-)0.60 प्रतिशत की गिरावट आई, जबकि एक महीने पहले इसमें (-)0.99 प्रतिशत की गिरावट हुई थी.

जारी आंकड़ों के अनुसार, क्रमिक आधार पर, मुद्रास्फीति दर में (-)0.11 प्रतिशत की कमी देखी गई, जबकि (-)32 प्रतिशत की कमी हुई.

औद्योगिक उत्पादन सूचकांक 3.8 प्रतिशत बढ़ा

सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय (MoSPI) द्वारा सोमवार को उपलब्ध कराए गए आंकड़ों से पता चला कि भारत का औद्योगिक उत्पादन (IIP) नवंबर 2023 में 2.4 प्रतिशत के मुकाबले दिसंबर 2023 में बढ़कर 3.8 प्रतिशत हो गया. अक्टूबर 2023 में IIP 11.7 फीसदी दर्ज किया गया था.

मंत्रालय ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि औद्योगिक उत्पादन सूचकांक के संदर्भ में मापी गई फैक्ट्री उत्पादन वृद्धि दिसंबर 2022 में 5.1 प्रतिशत थी. अप्रैल-दिसंबर 2023-24 के दौरान, आईआईपी वृद्धि 6.1 प्रतिशत रही, जो एक साल पहले इसी अवधि में 5.5 प्रतिशत थी.

उपयोग-आधारित वर्गीकरण के अनुसार, दिसंबर 2023 के महीने के लिए प्राथमिक वस्तुओं के लिए सूचकांक 151.7, पूंजीगत वस्तुओं के लिए 103.3, मध्यवर्ती वस्तुओं के लिए 159.3 और बुनियादी ढांचे/निर्माण वस्तुओं के लिए 177.9 पर हैं. इसके अलावा, उपभोक्ता टिकाऊ वस्तुओं और उपभोक्ता गैर-टिकाऊ वस्तुओं के लिए सूचकांक दिसंबर 2023 के महीने में क्रमशः 114.0 और 178.0 पर रहीं.

Montage of TechSparks Mumbai Sponsors