देशभर में MSMEs को फाइनेंशियल सपोर्ट देने वाली कंपनी Niyogin की कहानी

मुंबई और भुवनेश्वर स्थित कंपनी की स्थापना साल 2017 में अमित राजपाल और गौरव पाटनकर ने की थी. वर्तमान में तशविंदर सिंह Niyogin Fintech के सीईओ हैं. हाल ही में उन्होंने YourStory से बात की, जहां उन्होंने कंपनी के बिजनेस मॉडल, फंडिंग, रेवेन्यू, चुनौतियों और भविष्य की योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया

देशभर में MSMEs को फाइनेंशियल सपोर्ट देने वाली कंपनी Niyogin की कहानी

Thursday October 26, 2023,

5 min Read

सितंबर, 2023 में प्रकाशित Forbes की एक रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में 633.9 लाख MSMEs हैं. इन MSMEs (Micro, Small and Medium Enterprises) की सबसे बड़ी ताकत है फाइनेंस. Niyogin Fintech Limited पब्लिक-लिस्टेड फिनटेक कंपनी है जो देशभर में MSMEs को फाइनेंशियल सपोर्ट मुहैया करती है.

मुंबई और भुवनेश्वर स्थित कंपनी की स्थापना साल 2017 में अमित राजपाल और गौरव पाटनकर ने की थी. वर्तमान में तशविंदर सिंह Niyogin Fintech के सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्टर हैं. हाल ही में उन्होंने YourStory से बात की, जहां उन्होंने कंपनी के बिजनेस मॉडल, फंडिंग, रेवेन्यू, चुनौतियों और भविष्य की योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया.

तशविंदर बताते हैं, "अपने अनूठे पार्टनर-बेस्ड मॉडल के जरिए, हम पूरे भारत में MSMEs को लोन, इन्वेस्टमेंट्स, पेमेंट्स सर्विसेज, बैंकिंग सर्विसेज और टेक्नोलॉजी से जुड़े समाधान जैसे कई फाइनेंशियल प्रोडक्ट्स मुहैया करके सशक्त बना रहे हैं. कुल मिलाकर, हम अपने डिजिटल प्लेटफॉर्म - NiyoBlu, जोकि जो इन MSMEs की वित्तीय और गैर-वित्तीय जरूरतों को पूरा करने के लिए वन-स्टॉप-शॉप है, के जरिए उनकी व्यावसायिक आवश्यकताओं को पूरा कर रहे हैं."

बिजनेस मॉडल

Niyogin के बिजनेस मॉडल के बारे में जानकारी देते हुए, तशविंदर बताते हैं, "हम MSMEs की सेवा के लिए पार्टनरशिप-बेस्ड मॉडल पर काम करते हैं. हम कई CA (Chartered Accountant) पार्टनर के साथ काम करते हैं और उनमें से प्रत्येक के पास लगभग 100-150 MSMEs ग्राहक हैं. यह मॉडल हमें पार्टनर्स के जरिए इन MSMEs की सेवा करके हमारे बिजनेस को बढ़ाने में मदद करता है. हमारे बिजनेस का दूसरा अहम हिस्सा - लोन देना है, जिसे हम अपने टेक प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से पूरा करते हैं जो लोन और पमेंट्स, इंश्योरेंस और इन्वेस्टमेंट योजनाओं जैसी अन्य फाइनेंशियल सर्विसेज की डिजिटल डिलीवरी सुनिश्चित करता है. हमारा लक्ष्य डिजिटल इंगेजमेंट मॉडल को प्रोत्साहित करना है और हमने इस मॉडल को अपनाया है जो हमें असेट-लाइट रहने और लागत-कुशल बाजार पहुंच का उपयोग करने की अनुमति देता है."

Niyogin का डिजिटल प्लेटफॉर्म NiyoBlu कई फाइनेंशियल प्रोडक्ट्स की पेशकश करने और लोन मुहैया करने, अंडरराइटिंग और डिसबर्समेंट प्रक्रियाओं को सुव्यवस्थित करने के लिए टेक्नोलॉजी और डेटा एनालिटिक्स का लाभ उठाता है. यह प्लेटफ़ॉर्म ऐसी कार्यक्षमताओं का दावा करता है जो नॉलेज डॉक्यूमेंट्स, प्रोडक्ट मैनुअल, एनालिटिकल डैशबोर्ड और बहुत कुछ तक पहुंच प्रदान करके कंपनी के पार्टनर्स के लिए एक समृद्ध और आकर्षक अनुभव प्रदान करता है.

niyogin-fintech-msmes-banking-as-a-service-credit-loan-nbfc-niyoblu

फंडिंग और रेवेन्यू

तशविंदर बताते हैं, "Niyogin अपने प्रमुख निवेशकों के माध्यम से बाजार में बेहतर वित्तीय स्थिति में है. अब तक, मार्च 2023 तक हमारी कुल पूंजी (प्रीमियम सहित) ~ 320 करोड़ रुपये से अधिक है."

Niyogin Fintech ने हाल ही में प्रमुख निवेशकों से सफलतापूर्वक 80 करोड़ रुपये जुटाए हैं.

कंपनी के रेवेन्यू मॉडल के बारे में बात करते हुए, सीईओ तशविंदर सिंह बताते हैं, "Niyogin का रेवेन्यू मॉडल मुख्य रूप से लेनदेन-आधारित है, जो हमारे NiyoBlu प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से किए गए प्रत्येक लेनदेन पर शुल्क या कमीशन अर्जित करता है. हमारे पास सर्विस प्रोवाइडर्स का अपना नेटवर्क है जो MSMEs को अन्य फाइनेंशियल सर्विसेज के साथ-साथ लोन भी प्रदान करता है. अपने लोन बिजनेस में, हम अपनी लोन बुक्स को बढ़ाने के लिए कई प्रोडक्ट्स तैयार करने में लगे हुए हैं और हमने अपने लोन बिजनेस का विस्तार करने के लिए विभिन्न लोन और सह-उधार (co-lending) मॉडलों को नियोजित किया है. हम अपने प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से बांटे गए लोन पर ब्याज लेते हैं."

Niyogin के रेवेन्यू के आंकड़ों का खुलासा करते हुए, तशविंदर बताते हैं, "वित्त वर्ष24 की पहली तिमाही में हमारा कुल रेवेन्यू ~ 45 करोड़ रुपये है. हमारा समेकित रेवेन्यू क्रमिक रूप से 37.6% बढ़ा. हम अपने वितरण चैनलों के साथ-साथ तकनीक-सक्षम प्लेटफार्मों पर भारी निर्भर होकर अपने क्रेडिट और Banking-as-a-Service (BaaS) बिजनेस वर्टिकल के माध्यम से वित्त वर्ष 2025 में लगभग 500 करोड़ रुपये का रेवेन्यू अर्जित करने की उम्मीद करते हैं."

चुनौतियां

इस बिजनेस को खड़ा करने में किन चुनौतियों का सामना करना पड़ा? इसके जवाब में सिंह बताते हैं, "हमारे क्रेडिट बिजनेस के मामले में, सबसे बड़ी चुनौती अच्छा ग्राहक अनुभव और कारोबार का विस्तार करना है. एक डिजिटल लेंडिंग पार्टनर के रूप में, हम हर किसी को लोन नहीं देते हैं. इसलिए, पार्टनर नेटवर्क का उपयोग करके MSMEs को एक समान परेशानी मुक्त अनुभव प्रदान करना हमारा मुख्य फोकस रहा है. इसके अलावा, हम एक हामीदारी प्रक्रिया के माध्यम से अपने लोन बिजनेस को बढ़ाएंगे जो विभेदित और वृद्धिशील जानकारी पर आधारित होगी. इसलिए, ऐसे बिजनेस को बढ़ाने में बहुत समय और प्रयास लगता है."

भविष्य की योजनाएं

Niyogin के ग्राहकों की संख्या बताते हुए, सीईओ कहते हैं, "हमारे 5200+ CA पार्टनर के माध्यम से 10 लाख से अधिक MSMEs तक हमारी पहुंच है. इसके अलावा, हमारी भारत भर के 52 से अधिक शहरों में बिक्री उपस्थिति है और हम ग्रामीण क्षेत्र में 3.2 लाख से अधिक किराना स्टोरों के सहयोग से 25 हजार से अधिक गांवों में सेवाएं प्रदान करते हैं."

अंत में, Niyogin Fintech को लेकर भविष्य की योजनाओं पर बात करते हुए तशविंदर सिंह कहते हैं, "आने वाले महीनों में, हम यह सुनिश्चित करेंगे कि हमारे ऑफर बेचने के लिए बाजार में हमारी महत्वपूर्ण उपस्थिति हो. हम मौजूदा ग्राहकों के साथ क्रॉस-सेलिंग के अवसरों का पता लगाने और अपने लक्षित ग्राहकों तक पहुंचने की योजना बना रहे हैं, जिन्हें हमारे प्रोडक्ट स्टैक से लाभ होगा. वित्त वर्ष 2025 के लिए हमारा अंतिम उद्देश्य स्थायी लाभप्रदता प्राप्त करना है, जिससे हमारी कंपनी को गतिशील व्यावसायिक परिदृश्य में दीर्घकालिक सफलता की ओर ले जाया जा सके, जिससे सभी हितधारकों के लिए महत्वपूर्ण मूल्य पैदा हो सके."

यह भी पढ़ें
नौकरी छोड़ शुरू की इंश्योरेंस कंपनी, अब 350 करोड़ के रेवेन्यू का लक्ष्य