Brands
YSTV
Discover
Events
Newsletter
More

Follow Us

twitterfacebookinstagramyoutube
Yourstory

Brands

Resources

Stories

General

In-Depth

Announcement

Reports

News

Funding

Startup Sectors

Women in tech

Sportstech

Agritech

E-Commerce

Education

Lifestyle

Entertainment

Art & Culture

Travel & Leisure

Curtain Raiser

Wine and Food

Videos

SBI General ने लॉन्च की 15 रुपये से भी कम प्रीमियम वाली इंश्योरेंस पॉलिसी, जानिए खास बातें

हेल्थ एज इंश्योरेंस वास्तव में SBI General का डिजिटल-ऑन्‍ली प्रोडक्ट है, जिससे हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदना यूजर्स के लिए काफी सहज और बेहद अच्छा अनुभव हो जाता है. इस पॉलिसी की खरीद से लेकर मुआवजे के लिए क्लेम करने की पूरी प्रक्रिया सभी कुछ डिजिटल होता है.

SBI General ने लॉन्च की 15 रुपये से भी कम प्रीमियम वाली इंश्योरेंस पॉलिसी, जानिए खास बातें

Wednesday April 26, 2023 , 3 min Read

हाइलाइट्स

  • इस पॉलिसी का प्रीमियम 15 रुपये प्रतिदिन से भी कम से शुरू होता है
  • योग्यता की उम्र : 18 से 65 साल (वयस्क) 91 दिन से लेकर 30 साल तक (बच्चे)
  • 3 लाख रुपये से लेकर 25 लाख रुपये तक के अलग-अलग सम इंश्‍योर्ड (बीमित राशि) की पेशकश

भारत की प्रमुख जनरल इंश्योरेंस कंपनियों में से एक, एसबीआई जनरल इंश्योरेंस (SBI General Insurance) ने पूरी तरह अनुकूल डिजिटल-ऑन्‍ली हेल्थ प्रोडक्ट “हेल्थ ऐज इंश्योरेंस” (Health Edge Insurance) को लॉन्च किया. इस पॉलिसी में सिंगल व्‍यापक प्‍लान पेश किया गया है, जिसमें 9 बेसिक क्षतिपूर्ति (इनडेमनिटी) कवर के 18 वैकल्पिक (ऑप्‍शनल) कवर शामिल हैं. यह उत्‍पाद उपभोक्ताओं को उनकी जरूरत के अनुसार स्‍वास्‍थ्‍य बीमा पॉलिसी डिजाइन करने की अनुमति देता है और उन्‍हें एक सुविधाजनक और बिना किसी परेशानी का अनुभव मिलता है.

इस पॉलिसी में 3 लाख रुपये से लेकर 25 लाख रुपये तक के अलग-अलग बीमित राशि के विकल्‍प मिलते हैं, दीर्घकालीन पॉलिसी कराने के विकल्प 3 साल तक के लिए उपलब्‍ध हैं. हेल्‍थ एज प्‍लान खरीदने के लिए प्रवेश उम्र वयस्कों के लिए 18 साल से लेकर 65 साल और बच्चों के लिए 91 दिन से 30 साल तक है.

हेल्थ एज इंश्योरेंस वास्तव में एसबीआई जनरल का डिजिटल-ऑन्‍ली प्रोडक्ट है, जिससे हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदना यूजर्स के लिए काफी सहज और बेहद अच्छा अनुभव हो जाता है. इस पॉलिसी की खरीद से लेकर मुआवजे के लिए क्लेम करने की पूरी प्रक्रिया सभी कुछ डिजिटल होता है. इसमें कम से कम पेपरवर्क की जरूरत पड़ती है. ग्राहक इसमें कई तरह की सेवाएं ले सकते हैं जैसेकि वह अपने घर में बैठे-बैठे पॉलिसी डॉक्युमेंट डाउनलोड कर सकते हैं, प्रीमियम का भुगतान कर सकते हैं, पॉलिसी को रिन्यू करा सकते हैं, क्लेम कर सकते हैं. इसके साथ ही और भी बहुत से काम किए जा सकते हैं. 

हेल्थ एज प्लान में नौ इन-बिल्ट कवर शामिल हैं, जिसमें मरीज को अस्पताल में भर्ती करना, मरीज को अस्पताल में भर्ती करने से पहले के मेडिकल खर्च, डे-केयर ट्रीटमेंट, इमरजेंसी रोड एंबुलेंस कवर, बैरियाट्रिक सर्जरी कवर, मॉडर्न ट्रीटमेंट एंडयांस प्रोसिजर, आयुष ट्रीटमेंट और स्टेफिट हेल्थ चेकअप शामिल हैं. स्टे फिट हेल्थ चेकअप के तहत इंश्योंरेंस कराने वाले व्यक्ति कई तरह के टेस्ट कराने के लिए चेकअप का लाभ हासिल कर सकते हैं.

इसके अलावा, ग्राहक 18 वैकल्पिक कवरों में से चयन करने के लिए स्वतंत्र हैं, जिनमें डोमेस्टिक हेल्प/स्टाफ क्षतिपूर्ति, हॉस्पिटल डेली कैश, एक्सीडेंटल डेथ कवर, अनलिमिटेड रिफिल, क्रिटिकल इलनेस कवर समेत और भी खबर शामिल हैं.

एसबीआई जनरल इंश्योरेंस के पूर्णकालिक निदेशक आनंद पेजावर ने नए प्रोडक्ट के लॉन्‍च पर अपनी बात रखते हुए कहा, “एसबीआई जनरल में, हम उपभोक्ताओं को सरल और नए-नए जोखिम समाधान प्रदान करने के लिए सबसे आगे रहकर काम कर रहे हैं, जो उपभोक्ताओं की लगातार बदलती जरूरतों को पूरा करते हैं. हमने स्वास्थ्य की देखभाल को सभी के लिए किफायती बनाने और उसे देश के सभी लोगों को उपलब्ध कराने के लिए हेल्थ एज पॉलिसी लॉन्च की है. इस प्रॉडक्ट के साथ हम इनोवेशन के सफर में एक कदम आगे बढ़कर लोगों को एक संपूर्ण, लेकिन लचीला हेल्थ इंश्योरेंस कवर प्रदान कर रहे हैं. यह हमारे उपभोक्ताओं को अपनी जरूरतों और पसंद के मुताबिक अपना प्‍लान तैयार करने में सशक्‍त बनाता है.”

हेल्थ एज इंश्योंरेंस प्लान में ग्लोबल ट्रीटमेंट कवर जैसे कई महत्वपूर्ण कवर भी शामिल हैं, जो भारत के बाहर मरीजों के इलाज में हुए मेडिकल खर्च का भुगतान करते हैं. इसमें ओपीडी कवर भी शामिल हैं, जो एलोपैथिक ओपीडी पर खर्च हुई राशि के भुगतान की गारंटी देते हैं. इसमें जांच और फॉर्मेसी से जुड़े खर्च शामिल हैं. यह हमारे उपभोक्ताओं को अपनी जरूरत और पसंद के मुताबिक उपभोक्ताओं को अपने प्लान के बारे में फैसला करने की ताकत देते हैं. यह फ्लोटर और व्यक्तिगत, दोनों तरह की पॉलिसी पर लागू होता है.

यह भी पढ़ें
FY2023 में LIC का कुल प्रीमियम 17% बढ़कर 2.32 लाख करोड़ रुपये हुआ