साइंस की मुश्किल मजेदार तरीके से आसान करता है यह यूट्यूब चैनल, 50 लाख से अधिक हैं फॉलोवर्स

'Science and fun' की शुरुआत नोएडा के 31 वर्षीय स्टार टीचर आशु घई ने जून, 2013 में की थी. वह फिजिक्स में पोस्ट ग्रेजुएट हैं. उनके यूट्यूब चैनल साइंस एंड फन के 50 लाख से अधिक फॉलोवर हैं जबकि उनके चैनल पर 1.26 अरब से अधिक व्यूज हैं.

साइंस की मुश्किल मजेदार तरीके से आसान करता है यह यूट्यूब चैनल, 50 लाख से अधिक हैं फॉलोवर्स

Saturday February 18, 2023,

3 min Read

टेक्नोलॉजी के आने के साथ, कुछ भी सीखना बहुत आसान, तेज और अधिक प्रभावी हो गया है. सीखने के बेहद कारगर तरीकों में से एक YouTube के माध्यम से ऑनलाइन सीखना है.

YouTube एक ऐसा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है, जहां यूजर्स वीडियो अपलोड, स्टोर और शेयर करने के साथ उन्हें देखते हैं. समय के साथ YouTube बेहद यूनिक लर्निंग प्लेटफॉर्म साबित हुआ है क्योंकि अधिकांश लोग ऑडियो सुनने या टेक्स्टबुक्स को पढ़ने के बजाय वीडियो देखकर बेहतर सीखते हैं, और YouTube अपने प्लेटफ़ॉर्म पर विभिन्न चैनलों के माध्यम से बेहतरीन शिक्षाप्रद वीडियो और सामग्री प्रदान करता है जो आपके सीखने में सहायता करता है.

इन YouTube चैनलों में से कुछ ने खुद को यूजर्स और लर्नर्स के लिए एजुकेशन के एक बड़े लोकप्रिय सेंटर के रूप में स्थापित किया है.

भारत की एडटेक इंडस्ट्री बेहद तेजी से आगे बढ़ रही है. स्टेटिस्टा के अनुसार, साल 2020 में 230 करोड़ रुपये की रही एडटेक इंडस्ट्री के साल 2025 तक 3.7 करोड़ पेड़ यूजर्स के साथ 857 करोड़ रुपये तक पहुंचने का अनुमान है.

इस एडटेक इंडस्ट्री में बड़ी से लेकर छोटी ऐसी कंपनिया हैं जो भारी फीस लेकर तैयारी करा रही हैं. हालांकि, इसके साथ ही ऐसे यूट्यूब चैनल हैं जो फ्री में या फिर बेहद ही अफोर्डेबल प्राइस पर तमाम तरह की परीक्षाओं की तैयारियां करा रहे हैं. इसी में से एक यूट्यूब चैनल 'Science and fun' (साइंस एंड फन) है. यह यूट्यूब चैनल बहुत ही मजेदार तरीके से साइंस पढ़ाता है.

'Science and fun' की शुरुआत नोएडा के 31 वर्षीय स्टार टीचर आशु घई ने जून, 2013 में की थी. वह फिजिक्स में पोस्ट ग्रेजुएट हैं. उनके यूट्यूब चैनल साइंस एंड फन के 50 लाख से अधिक फॉलोवर हैं जबकि उनके चैनल पर 1.26 अरब से अधिक व्यूज हैं. उनके यूट्यूब चैनल पर लिखा है कि हम विज्ञान के मूल सिद्धांतों को सबसे आसान और मजेदार तरीके से समझाएंगे.

पिछले साल दिसंबर में उन्होंने एक ऐप लॉन्च किया था, जिस पर अभी 10वीं और 12वीं क्लास के छात्रों के लिए विज्ञान और गणित के कोर्सेज फ्री में ऑफर किए जाते हैं.

वहीं, दिल्ली में मौजूद उनके ऑफलाइन सेंटर्स छात्रों से सभी विषयों के लिए प्रति वर्ष 9,000 रुपये चार्ज करते हैं. हालांकि, बाकी के ऑफलाइन सेंटर्स एक विषय के लिए प्रति वर्ष 25,000 रुपये तक चार्ज करते हैं.

आशु अपने भाई उश्नक घई के साथ दिल्ली में एक कोचिंग इंस्टीट्यूट ओएसआर अकेडमी भी चलाते हैं. उनकी पत्नी रीमा घई भी वहीं पढ़ाती हैं.


Edited by Vishal Jaiswal