आईसीसी महिला टी-20 रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंची शेफाली वर्मा, कप्तान हरमनप्रीत कौर ने की तारीफ़

By भाषा पीटीआई
March 04, 2020, Updated on : Wed Mar 04 2020 12:01:30 GMT+0000
आईसीसी महिला टी-20 रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंची शेफाली वर्मा, कप्तान हरमनप्रीत कौर ने की तारीफ़
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

सिडनी, भारत की युवा आक्रामक बल्लेबाज शेफाली वर्मा ऑस्ट्रेलिया में चल रहे विश्व कप में शानदार प्रदर्शन की बदौलत बुधवार को जारी आईसीसी महिला टी-20 अंतरराष्ट्रीय रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंच गई। सोलह साल की शेफाली ने बल्लेबाजी रैंकिंग में न्यूजीलैंड की सूजी बेट्स को पीछे छोड़ा जो अक्टूबर 2018 से शीर्ष पर काबिज थीं। स्मृति मंधाना को हालांकि दो स्थान का नुकसान हुआ है और वह छठे स्थान पर खिसक गई हैं।


शेफाली वर्मा

शेफाली वर्मा (फोटो क्रेडिट: hindinews)



शेफाली और इंग्लैंड की स्पिनर सोफी एकलेस्टोन टी-20 विश्व कप के सेमीफाइनल में शीर्ष रैंकिंग वाली क्रमश: बल्लेबाज और गेंदबाज के रूप में उतरेंगी। भारत और इंग्लैंड के बीच सेमीफाइनल गुरुवार को खेला जाना है। शेफाली ने मौजूदा टूर्नामेंट में अब तक चार पारियों में 161 रन बनाए हैं। उन्होंने श्रीलंका और न्यूजीलैंड के खिलाफ क्रमश: 47 और 46 रन की पारियां खेली।


आईसीसी के बयान के अनुसार शेफाली महिला टी-20 अंतरराष्ट्रीय बल्लेबाजी रैंकिंग में शीर्ष पर जगह बनाने वाली मिताली राज के बाद दूसरी भारतीय बल्लेबाज हैं। वेस्टइंडीज के खिलाफ सात रन पर तीन विकेट सहित अब तक चार मैचों में आठ विकेट चटका चुकीं सोफी अप्रैल 2016 में आन्या श्रुबसोल के बाद शीर्ष पर पहुंचने वाली इंग्लैंड की पहली गेंदबाज हैं। भारतीय गेंदबाजों में पूनम यादव चार स्थान के फायदे से आठवें पायदान पर पहुंच गई हैं। श्रीलंका की कप्तान चामरी अटापट्टू बल्लेबाजों की रैंकिंग में 18वें से 14वें स्थान पर पहुंच गई हैं।


इंग्लैंड की नैट स्किवर ने एक बार फिर शीर्ष 10 में वापसी की है जबकि कप्तान हीथर नाइट ने पहली बार शीर्ष 15 में जगह बनाई है। गेंदबाजों की सूची में न्यूजीलैंड की लेग स्पिनर एमेलिया केर दो स्थान के फायदे से चौथे जबकि ऑस्ट्रेलिया की लेग स्पिनर जार्ज वेयरहेम नौ स्थान के फायदे से 10वें स्थान पर पहुंच गई हैं।


न्यूजीलैंड की कप्तान सोफी डिवाइन आलराउंडरों की सूची में अब अकेले शीर्ष पर काबिज हैं। उन्होंने टूर्नामेंट की शुरुआत आस्ट्रेलिया की एलिस पैरी के साथ संयुक्त रूप से शीर्ष स्थान के साथ की थी।


भारत की दीप्ति शर्मा नौ स्थान के फायदे से सातवें स्थान पर पहुंच गई हैं। उन्होंने पहली बार आलराउंडरों की सूची में शीर्ष 10 में जगह बनाई है। टीम रैंकिंग में ऑस्ट्रेलिया 290 अंक के साथ शीर्ष पर है जबकि दूसरे स्थान पर मौजूद इंग्लैंड के 278 अंक हैं।


कप्तान हरमनप्रीत कौर का मानना है कि शेफाली वर्मा ने अपनी आक्रामक बल्लेबाजी से ना सिर्फ आईसीसी महिला टी-20 विश्व कप में चमक बिखेरी है बल्कि यह ‘शरारती’ युवा खिलाड़ी मैदान के बाहर भारतीय टीम में खुशी और सकारात्मकता लेकर आई है।


सोलह साल की शेफाली ने ऑस्ट्रेलिया में चले रहे विश्व कप में अब तक चार मैचों में 161 के स्ट्राइक रेट से 161 रन बनाए हैं और ग्रुप ए में भारत की चार मैचों में चार जीत में अहम भूमिका निभाई। सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर गुरुवार को इंग्लैंड के खिलाफ होने वाले सेमीफाइनल से पहले हरमनप्रीत ने बताया कि इस युवा खिलाड़ी की भारतीय टीम में क्या अहमियत है।


हरमनप्रीत ने कहा,

‘‘वह काफी शरारती है, वह टीम में काफी खुशी और सकारात्मकता लेकर आई है, हमेशा लुत्फ उठाना चाहती है।’’


उन्होंने कहा,

‘‘और बल्लेबाजी करते हुए वह आपको प्रेरित करती है और दबाव कम करती है, आपको अपनी टीम में इस तरह की खिलाड़ी की जरूरत होती है।’’


हरमनप्रीत ने कहा कि यह भारतीय टीम पिछले कुछ समय से एक साथ है और शेफाली जैसी युवा खिलाड़ियों के निखरने के लिए अनुकूल माहौल तैयार हो गया है।


उन्होंने कहा,

‘‘अब यह टीम लंबे समय से एक साथ है, हमने एक दूसरे से काफी कुछ सीखा है, काफी क्रिकेट सीखा है। इससे शेफाली जैसी खिलाड़ियों के लिए आसानी होती है क्योंकि जब कोई खिलाड़ी टीम में आती है तो वे सभी को एकजुट होकर काम करते देखती है।’’


भारतीय कप्तान के लिए मौजूदा टूर्नामेंट निराशाजनक रहा है और वह चार पारियों में सिर्फ एक बार दोहरे अंक में पहुंची हैं और अब तक उनका शीर्ष स्कोर 15 रन है। हरमनप्रीत ने कहा कि टीम की प्रत्येक खिलाड़ी को उसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है जिससे कि सुनिश्चित हो सके कि टीम का अच्छा प्रदर्शन जारी रहे।


महिला टी-20 विश्व कप में भारतीय टीम का इंग्लैंड के खिलाफ रिकार्ड काफी खराब है। इस टूर्नामेंट में भारतीय टीम कभी इंग्लैंड को नहीं हरा पाई है और 2018 में भी हरमनप्रीत की टीम को सेमीफाइनल में इस टीम के खिलाफ हार झेलनी पड़ी थी। भारत हालांकि टूर्नामेंट में अच्छी लय में है और उसने टूर्नामेंट के पहले ही मुकाबले में चार बार के चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को हराया था।


हरमनप्रीत ने कहा,

‘‘पिछले सेमीफाइनल में हार के बाद एक टीम के रूप में हमने महसूस किया कि हमें एक इकाई के रूप में काम करना होगा और अभी आप देख सकते हैं कि हमारी टीम एक इकाई के रूप में काम कर रही है और हम सिर्फ एक या दो खिलाड़ी पर निर्भर नहीं हैं।’’

Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close