Brands
YSTV
Discover
Events
Newsletter
More

Follow Us

twitterfacebookinstagramyoutube
Yourstory

Brands

Resources

Stories

General

In-Depth

Announcement

Reports

News

Funding

Startup Sectors

Women in tech

Sportstech

Agritech

E-Commerce

Education

Lifestyle

Entertainment

Art & Culture

Travel & Leisure

Curtain Raiser

Wine and Food

Videos

ADVERTISEMENT
Advertise with us

सोशल डिस्टेन्सिंग के चक्कर में इस देश के कैफे मालिक ने अपने ही प्रधानमंत्री को बाहर खड़ा कर दिया

सोशल डिस्टेन्सिंग के चक्कर में इस देश के कैफे मालिक ने अपने ही प्रधानमंत्री को बाहर खड़ा कर दिया

Monday May 18, 2020 , 2 min Read

न्यूज़ीलैंड से सादगी का ऐसा उदाहरण सामने आया है, जिससे हम सभी को प्रेरणा लेने की आवश्यकता है।

(चित्र साभार: AFP)

न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा ऑर्डन और उनके पार्टनर क्लार्क ग्रेफोर्ड (चित्र साभार: AFP)



भारत में आमतौर पर सत्ता का उपयोग रौब झाड़ने और अपना काम निकलवाने के लिए भी किया जाता है, इसी के साथ जब इस तरह के नेता कहीं जाते हैं तो उनकी आवभगत में भी किसी भी तरह की कसर नहीं छोड़ी जाती है, लेकिन इसके उलट न्यूज़ीलैंड से सादगी का ऐसा उदाहरण सामने आया है, जिससे हम सभी को प्रेरणा लेने की आवश्यकता है।


दरअसल हुआ यूं कि न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा ऑर्डन अपने पार्टनर के साथ एक कैफे में गईं तो सोशल डिस्टेन्सिंग का ध्यान रखते हुए कैफे के मैनेजर ने उन्हे अंदर आने से ही मना कर दिया। कैफे के मैनेजर के उनसे कहा कि अंदर जगह उपलब्ध नहीं है और इसके चलते उन्हे अंदर जाने की अनुमति नहीं दी जा सकती है।


प्रधानमंत्री जेसिंडा अपने पार्टनर क्लार्क ग्रेफोर्ड के साथ वेलिंगटन के एक मशहूर कैफे ऑलिव पहुंची थी, लेकिन कैफे में कोई सीट खाली न होने के चलते उन्हे कैफे के बाहर अन्य ग्राहकों की ही तरह 40 मिनट का इंतज़ार करना पड़ा, इसके बाद ही उन्हे सीट मिल सकी।


इस घटना के बाद कैफे मालिक की सोशल मीडिया पर खूब तारीफ हो रही है, वहीं पीएम जेसिंडा ऑर्डन ने कहा है कि उन्हे पहले ही सीट बुक करा लेनी चाहिए थे। जेसिंडा के पार्टनर ने भी कैफे मालिक की तारीफ की है। कैफे मालिक ने मीडिया को बताया है कि उन्होने प्रधानमंत्री को एक सामान्य ग्राहक की तरह ट्रीट किया और इसके लिए जेसिंडा ने उनके स्टाफ की तारीफ भी की।


न्यूज़ीलैंड कोरोना वायरस से अछूता नहीं है। देश में कोरोना वायरस संक्रमण के 1499 मामले सामने आए हैं, जबकि 14,33 लोग इससे रिकवर हो चुके हैं।