श्रमिकों को घर भेजने वाले सोनू सूद अब अपने अनुभव पर लिखेंगे किताब

By भाषा पीटीआई
July 16, 2020, Updated on : Thu Jul 16 2020 05:01:31 GMT+0000
श्रमिकों को घर भेजने वाले सोनू सूद अब अपने अनुभव पर लिखेंगे किताब
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

प्रकाशन हाउस पेंग्विन रेंडम हाउस इंडिया ने बुधवार को बताया कि यह किताब इस साल के अंत में प्रकाशित होगी।

अभिनेता, निर्माता और आज के सुपरहीरो सोनू सूद

अभिनेता सोनू सूद



नयी दिल्ली, कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर देश में लागू लॉकडाउन के बीच प्रवासी श्रमिकों को उनके घरों तक पहुंचाने में मदद करने वाले अभिनेता सोनू सूद अपने इस अनुभव पर किताब लिखेंगे।


उनकी यह पहली किताब होगी। अभी हालांकि इस किताब का नाम तय नहीं हुआ है। इस किताब में लोगों की मदद करने की उनकी यात्रा के भावनात्मक पहलुओं के साथ-साथ चुनौतीपूर्ण क्षणों का भी जिक्र होगा।


प्रकाशन हाउस पेंग्विन रेंडम हाउस इंडिया ने बुधवार को बताया कि यह किताब इस साल के अंत में प्रकाशित होगी।


सूद ने एक बयान में कहा,

‘‘मैं भगवान का शुक्रिया अदा करता हूं कि उन्होंने मुझे श्रमिकों की मदद का जरिया बनाया। भले ही मेरा दिल मुंबई में धड़कता हो लेकिन इस घटना के बाद मैं महसूस करता हूं कि मेरे अंदर का एक हिस्सा उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, असम, उत्तराखंड और अन्य कई राज्यों में जीता है जहां मेरे नए दोस्त बने हैं और मेरा गहरा संबंध बना है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने निर्णय लिया है कि हमेशा के लिए मेरी आत्मा में बस चुकी कहानियों और अनुभवों को मैं किताब में दर्ज करूंगा…मैं उत्साहित हूं और किताब के जरिए आपसे जुड़़ने की प्रतीक्षा में बेताब हूं। मैं आपका समर्थन चाहता हूं… सभी को प्यार।’’


अभिनेता ने मुंबई में रहने वाले प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्यों में पहुंचाने के लिए अभियान शुरू किया था। सूद और उनकी टीम ने इस संबंध में टोल फ्री नंबर और व्हाट्सएप नंबर भी जारी किया था।


उन्होंने मार्च में लागू लॉकडाउन की वजह से शहर में फंसे लोगों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए खाना, बस, ट्रेन के साथ ही विमान तक की व्यवस्था की थी।