गाय के पाचनतंत्र से प्रेरित होकर किया स्टार्टअप, नेचुरल तरीके से नालों के पानी को प्रोसेस करता है

फाउंडर्स के मुताबिक़, इस प्रक्रिया में न ही बिजली की ज़रुरत होती है, न ही केमिकल और न ही शारीरिक मेहनत की आवश्यकता होती है. इस तरह ये प्रक्रिया न सिर्फ लो कॉस्ट है, बल्कि बिजली की भी बचत करती है.

गाय के पाचनतंत्र से प्रेरित होकर किया स्टार्टअप, नेचुरल तरीके से नालों के पानी को प्रोसेस करता है

Wednesday March 01, 2023,

3 min Read

गाय की हमारे कल्चर में जो जगह है, उसके बारे में कौन नहीं जानता. इसे पाला जाता है, पूजा जाता है. लेकिन क्या आपने सुना है कि गाय से प्रेरणा लेकर किसी ने स्टार्टअप खड़ा कर लिया हो?

आज हम आपको बता रहे हैं ECOSTP के बारे में. एक ऐसा स्टार्टअप जो गाय के पाचनतंत्र से प्रेरित होकर बना है. और नेचुरल तरीके से नालों के पानी को ट्रीट करने का काम करता है.

ECOSTP जिस तरीके से काम करता है उसे बायोमिमिक्री कहते हैं. बायोमिमिक्री यानी कुदरत से प्रेरणा लेते हुए किसी नेचुरल प्रोसेस की नक़ल कर, उसे बड़े स्तर पर अप्लाई करना. ECOSTP अंडरग्राउंड चैम्बर्स में एनेरोबिक बैक्टीरिया की मदद से ये काम करता है. एनेरोबिक बैक्टीरिया वो बैक्टीरिया होते हैं जो ऑक्सीजन के बिना ग्रो करते हैं.

ये स्टार्टअप 2017 में तरुण कुमार ने शुरू किया था. तरुण पहले मोटोरोला, ह्यूस और सदरलैंड जैसी कंपनियों में काम कर चुके हैं. और शुरू से ही सस्टेनेबल कम्पनीज बनाने के पक्ष में रहे हैं. ECOSTP के सीओओ लोकेश राजशेखरैया इसके पहले एन्हयूसेर बश इनबेव कंपनी से जुड़े हुए थे.

ECOSTP को प्रेरणा मिली गाय के पाचनतंत्र से. गाय के पेट में चार कम्पार्टमेंट होते हैं - रुमेन, रेटिकुलम, ओमासम और एबोमसम. जिसमें जो भी गाय खाती है, उसे पचाया जाता है. पचाने की प्रक्रिया में एनेरोबिक बैक्टीरिया की मदद से पोषण और वेस्ट, दोनों अलग अलग हो जाते हैं. 

फाउंडर्स के मुताबिक़, इस प्रक्रिया में न ही बिजली की ज़रुरत होती है, न ही केमिकल और न ही शारीरिक मेहनत की आवश्यकता होती है. इस तरह ये प्रक्रिया न सिर्फ लो कॉस्ट है, बल्कि बिजली की भी बचत करती है.

ECOSTP को अपना स्टार्टअप बनाने में अमेरिका के मोंटाना में स्थित बायोमिमिक्री इंस्टिट्यूट से न सिर्फ रिसर्च में मदद मिली बल्कि आर्थिक मदद भी मिली. कंपनी के मुताबिक़, फ़िलहाल 50 सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाए जा चुके हैं.

भारतीय पल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के मुताबिक़ इंडिया में हर दिन 72,368 मिलियन लीटर सीवेज प्रतिदिन जनरेट होता है. और मौजूदा ट्रीटमेंट प्लांट बमुश्किल इसका एक-तिहाई ट्रीट कर पाते हैं. ऐसे में ECOSTP एक महत्वपूर्ण दिशा में काम कर रहा है.

यह स्टार्टअप YourStory की साल 2022 की Tech30 लिस्ट का हिस्सा है.

YourStory हर साल अपने सिग्नेचर इवेंट TechSparks में आपके लिए कई हज़ारों में से चुनकर लाता है Tech30 लिस्ट में ऐसे 30 स्टार्टअप जो देश को बदल देने के साथ साथ अरबों की कंपनियां बनने की ताकत रखते हैं.

Tech30 ने बीते 11 साल में 330 से ज्यादा स्टार्टअप्स को प्रोफाइल कर उनके बारे में दुनिया को बताया है, 35,000 से ज्यादा नौकरियां देने में मदद की है, 300 करोड़ डॉलर से भी ज्यादा की फंडिंग इसकी मदद से आई है और 675 से भी ज्यादा युवा फाउंडर्स को हमने कुछ कर दिखाने की ताकत दी है. Tech30 लिस्ट का हिस्सा रहे 5 ऐसे स्टार्टअप हैं जो यूनिकॉर्न बन चुके हैं. यानी उनका वैल्यूएशन 100 करोड़ डॉलर से ज्यादा है और ये सिलसिला अभी रुका नहीं है.


Edited by Prateeksha Pandey