सेंसेक्स 1000 अंक से ज्यादा उछलकर करीब 3 महीने के टॉप पर, जानिए किन वजहों से मार्केट में आया तगड़ा उछाल

By Ritika Singh
July 28, 2022, Updated on : Thu Jul 28 2022 12:33:04 GMT+0000
सेंसेक्स 1000 अंक से ज्यादा उछलकर करीब 3 महीने के टॉप पर, जानिए किन वजहों से मार्केट में आया तगड़ा उछाल
पूरे दिन के कारोबार में सेंसेक्स ने 56914.22 का उच्च स्तर और 56236.45 का निचला स्तर छुआ.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

गुरुवार को शेयर बाजार (Stock Market) ने तगड़ा उछाल दर्ज किया. अमेरिका के फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दर बढ़ाए जाने के बाद वैश्विक बाजारों में तेजी का रुख रहा. इसका असर घरेलू शेयर बाजारों पर भी देखने को मिला. घरेलू और वैश्विक कारकों के चलते सेंसेक्स 1041.47 अंकों की बढ़त के साथ 56857.79 पर बंद हुआ. सेंसेक्स लगभग 3 माह के उच्च स्तर पर बंद हुआ है. सेंसेक्स का इतना उच्च स्तर आखिरी बार 4 मई 2022 को दर्ज किया गया था. पूरे दिन के कारोबार में सेंसेक्स ने 56914.22 का उच्च स्तर और 56236.45 का निचला स्तर छुआ.


डॉलर में आई कमजोरी भी शेयर मार्केट में उछाल का एक प्रमुख कारण बनी. एशियाई बाजारों में तेजी और विभिन्न भारतीय कंपनियों के वित्तीय नतीजों के चलते भी शेयर बाजार में उछाल आया. सेंसेक्स पर सनफार्मा, ITC, डॉ. रेड्डीज, अल्ट्राटेक सीमेंट और भारती एयरटेल को छोड़कर अन्य सभी 25 शेयर बढ़त के साथ बंद हुए हैं. सबसे ज्यादा 10.68 प्रतिशत की तेजी बजाज फाइनेंस के शेयरों में दिखी. बजाज फिनसर्व का शेयर भी 10.14 प्रतिशत उछलकर बंद हुआ है. इसके अलावा टाटा स्टील, कोटक बैंक, इंडसइंड बैंक, इन्फोसिस, टेक महिन्द्रा, नेस्ले इंडिया, एशियन पेंट्स, विप्रो, टीसीएस आदि के शेयरों में भी अच्छी तेजी आई. 

Nifty50

निफ्टी50 की बात करें तो यह इंडेक्स 287.80 अंक चढ़कर 16929.60 पर बंद हुआ है. बजाज फाइनेंस, बजाज फिनसर्व, टाटा स्टील, कोटक बैंक, एसबीआई लाइफ टॉप गेनर्स रहे. दूसरी ओर श्री सीमेंट, भारती एयरटेल, अल्ट्राटेक सीमेंट, डॉ. रेड्डीज, सिप्ला टॉप लूजर्स रहे. निफ्टी पर सभी सेक्टोरल इंडेक्स बढ़त के साथ बंद हुए हैं. 2.81 प्रतिशत की सबसे ज्यादा बढ़त निफ्टी आईटी में दर्ज की गई.

फेड रिजर्व ने कितनी बढ़ाई ब्याज दर

अमेरिका के केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व ने बुधवार को नीतिगत ब्याज दर में लगातार दूसरी बार 0.75 प्रतिशत की बढ़ोतरी की है. आसमान छूती महंगाई को काबू में लाने के लिए अमेरिकी क्रेंदीय बैंक द्वारा उठाए गए कदमों को तीन दशक में सबसे आक्रामक माना जा रहा है. अमेरिकी केंद्रीय बैंक ने ऐसे समय कर्ज महंगा किया है जबकि अर्थव्यवस्था कमजोर हो रही है. ऐसे में इस साल बाद में या अगले वर्ष अमेरिकी अर्थव्यवस्था में मंदी का खतरा भी पैदा हो सकता है.


फेडरल रिजर्व के इस कदम से उपभोक्ता एवं कारोबारी ऋण पर सवा दो से ढाई प्रतिशत तक का असर पड़ेगा. अमेरिका में मुद्रास्फीति 9.1 प्रतिशत पर पहुंच गई है जो 41 वर्षों में सबसे तेज वार्षिक दर है. फेडरल रिजर्व द्वारा नीतिगत दरों में बढ़ोतरी से आवास, वाहन और कारोबारी ऋण महंगा हो जाएगा. ऐसे में उपभोक्ता और कंपनियां कर्ज लेने के बाद खर्च कम करेंगी, जिससे मुद्रास्फीति को नीचे लाने में मदद मिलेगी.

बजाज फिनसर्व का शेयर क्यों उछला

बजाज फिनसर्व ने जून 2022 तिमाही के नतीजे जारी कर दिए हैं और अपने शेयरधारकों के लिए बोनस शेयरों को जारी किए जाने के साथ-साथ स्टॉक स्प्लिट की भी घोषणा की है. कंपनी के बोर्ड ने इक्विटी शेयरों की 1ः5 रेशियो के सब डिवीजन को अप्रूव किया है. इसका अर्थ हुआ कि बजाज फिनसर्व के हर शेयर की फेस वैल्यू 5 रुपये, 1 रुपये फेस वैल्यू के 5 शेयरों में स्प्लिट हो जाएगी. इसके अलावा केंपनी ने 1 रपुये के हर फुल पेड इक्विटी शेयर के लिए 1 रुपये फेस वैल्यू वाले बोनस शेयर को जारी करने की घोषणा की है. इन घोषणाओं के बाद कंपनी का शेयर 10 प्रतिशत से ज्यादा उछल गया. इसी तरह बजाज फाइनेंस का शेयर, जून तिमाही में मुनाफा दोगुने से अधिक होकर 2596 करोड़ रुपये पर पहुंच जाने के बाद उछल गया.