जानिए कैसे एक टाइपिंग मिस्टेक ने Suzlon Share में लगाया अपर सर्किट, झटके से 20% चढ़ा शेयर

एक टाइपिंग मिस्टेक से कभी-कभी भारी नुकसान होता है तो कई बार मुनाफा भी मिलता है. सुजलॉन के मामले में जो टाइपिंग मिस्टेक हुई है, उससे तो निवेशकों की चांदी हो गई.

जानिए कैसे एक टाइपिंग मिस्टेक ने Suzlon Share में लगाया अपर सर्किट, झटके से 20% चढ़ा शेयर

Tuesday September 06, 2022,

3 min Read

शेयर बाजार (Share Market Latest Update) में अक्सर ऐसी घटनाएं होती हैं, जिनकी वजह से किसी शेयर में भारी उतार-चढ़ाव देखने को मिलता है. कई बार कुछ घटनाओं की वजह से शेयरों में लोअर सर्किट (lOWER) लग जाता है तो कभी-कभी शेयर अपर सर्किट छू लेता है. सुजलॉन एनर्जी के शेयरों के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ है. सोमवार को शुरुआती कारोबार में ही सुजलॉन एनर्जी लिमिटेड के शेयर 20 फीसदी तक चढ़ गए और उसमें अपर सर्किट लग गया. इस तेजी की वजह दरअसल एक टाइपिंग मिस्टेक है. यह एक पेनी स्टॉक है, जिसने तगड़ा रिटर्न दिया है.

क्या है वो टाइपिंग मिस्टेक, जिसने लगा दिया अपर सर्किट

सुजलॉन एनर्जी में अपर सर्किट की वजह एक बयान है. एसबीआई कैपिटल मार्केट्स ट्रस्टी ने कहा था कि उसके पास अडानी ग्रीन एनर्जी के शेयर हैं. अब ट्रस्टी ने साफ किया है कि उसके पास जो शेयर हैं वह सुजलॉन एनर्जी के हैं. ट्रस्टी के अनुसार टाइपिंग मिस्टेक होने की वजह से गलत बयान चर्चा में आ गया था. स्पष्टीकरण के बाद सुजलॉन एनर्जी के शेयरों में तगड़ी खरीदारी हुई है और उसमें अपर सर्किट तक लग गया. एसबीआई कैप ट्रस्टी मौजूदा समय में आरईसी लिमिटेड और इंडियन रिन्यूएबल एनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी लिमिटेड कंसोर्टियम का ट्रस्टी है, जिसने सुजलॉन को फाइनेंस किया है.

जानिए कितने रुपये का हो गया शेयर

यहां जिस टाइपिंग मिस्टेक की बात हो रही है, उसकी वजह से सुजलॉन एनर्जी के शेयरों में अपर सर्किट लगा और वह सोमवार शाम तक 10.55 रुपये पर पहुंच गया. एक ही दिन में किसी शेयर का 20 फीसदी चढ़ जाना बहुत बड़ी बात है. जिसने इसमें 1 लाख रुपये लगाए होंगे, उसे एक ही दिन में 20 हजार का मुनाफा हो गया होगा.

पिछले कुछ दिनों में स्टॉक ने किया कमाल

अगर सुजलॉन एनर्जी के शेयरों की बात करें तो पिछले कुछ दिनों में इसके शेयर ने तगड़ा रिटर्न दिया है. पिछले सिर्फ 5 सत्रों में ही कंपनी का शेयर लगभग 26 फीसदी की तेजी दिखा चुका है. हफ्ते भर में इसमें 32 फीसदी की तेजी आई है. महीने भर में कंपनी के शेयर 37 फीसदी तक चढ़ चुके हैं. 28 जुलाई को कंपनी का शेयर करीब 6.10 रुपये का था, जो सोमवार शाम तक करीब 10.55 रुपये पर पहुंच गया. 28 जुलाई के बाद से कंपनी के शेयर में ऐसी तेजी आई कि शेयर बस बढ़ते ही चले गए.

किसे फायदा, किसे नुकसान?

देखा जाए तो एसबीआई ट्रस्टी की गलती की वजह से अडानी ग्रीन एनर्जी के शेयरों में कुछ हद तक तेजी आई. हालांकि, अडानी ग्रीन के लिए यह इतनी बड़ी खबर नहीं है कि उसे कोई नुकसान हो. वहीं दूसरी ओर सुजलॉन एनर्जी एक पेनी शेयर है. ऐसे में किसी पेनी स्टॉक को लेकर ऐसा बयान आना बहुत बड़ी बात है, जिसका असर शेयरों पर दिख भी रहा है. यानी इससे सुजलॉन एनर्जी के निवेशकों को तगड़ा मुनाफा हुआ है.