एक बार फिर छंटनी की तैयारी में Swiggy, जानिए 6000 में से कितने कर्मचारियों को निकालेगी

By yourstory हिन्दी
January 19, 2023, Updated on : Thu Jan 19 2023 11:27:55 GMT+0000
एक बार फिर छंटनी की तैयारी में Swiggy, जानिए 6000 में से कितने कर्मचारियों को निकालेगी
6000 कर्मचारियों वाली स्विगी ने यह कदम ऐसे समय में उठाया है जब वह अपना आईपीओ लाने से पहले प्रॉफिटेबल बनना चाहती है. रिपोर्ट में कहा गया है कि इस छंटनी का सबसे अधिक असर प्रोडक्ट, इंजीनियरिंग और ऑपरेशन डिपार्टमेंट पर होगा.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

फूड और ग्रॉसरी डिलिवरी प्लेटफॉर्म स्विगी एक बार फिर से अपने करीब 10 फीसदी कर्मचारियों की छंटनी करने की तैयारी में है. दरअसल, फंडिंग में कमी आने के बाद कंपनी में खर्चों में कटौती कर रही है. फाइनेंशियल एक्सप्रेस में अपनी एक रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी है.


6000 कर्मचारियों वाली स्विगी ने यह कदम ऐसे समय में उठाया है जब वह अपना आईपीओ लाने से पहले प्रॉफिटेबल बनना चाहती है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि इस छंटनी का सबसे अधिक असर प्रोडक्ट, इंजीनियरिंग औऱ ऑपरेशन डिपार्टमेंट पर होगा.


फूडटेक यूनिकॉर्न ने हाल ही में अक्टूबर में अपनी प्रदर्शन समीक्षा पूरी की, और कई कर्मचारियों को एक प्रदर्शन सुधार योजना (पीआईपी) के तहत भी रखा गया.


देश और विदेश में टेक स्टॉक्स के खराब प्रदर्शन के कारण ही मैनेजमेंट ने आईपीओ के लिए स्विगी के प्रीलिमिनरी पेपर्स को सेबी के पास जमा करने में देरी कर दी.


एक सोर्स ने कहा कि मैनेजमेंट ने अभी इंतजार करने का फैसला किया है और आईपीओ के लिए ड्राफ्ट फाइलिंग को दिसंबर 2023 तक के लिए टाल दिया है.


रिपोर्ट में कहा गया है कि स्विगी के कर्मचारी काम के अत्यधिक दबाव में हैं क्योंकि मैनेजमेंट नंबर हासिल करने और आईपीओ लॉन्च करने से पहले पॉजिटिव नंबर हासिल करने के लिए टीमों में फेरबदल कर रहा है.


दरअसल, स्विगी में 0-5 के लेवल पर कर्मचारियों का रेटिंग सिस्टम है और 2 और उससे नीचे की रेटिंग वाले कर्मचारियों को पीआईपी की सूचना दी गई है और वे ही सबसे अधिक प्रभावित हो सकते हैं.


साथ ही, बढ़ती वैश्विक अनिश्चितताओं और मंदी की आशंकाओं के बीच, भारतीय स्टार्टअप्स को फंडिंग में तेजी से कमी आने की संभावना नजर आ रही है. ब्रोकरेज फर्म जेफरीज ने नवंबर में कहा था कि स्विगी तेजी से अपने प्रतिद्वंद्वी जोमैटो से बाजार हिस्सेदारी खो रही है.


वित्त वर्ष 2022 में स्विगी का घाटा दोगुना से अधिक बढ़कर 3,628.90 करोड़ रुपये हो गया. घाटे को कंपनी के अपने सकल राजस्व में वृद्धि के प्रयासों के परिणाम के कारण माना जाता था, जो वित्त वर्ष 2012 में 124 प्रतिशत बढ़कर 5,705 करोड़ रुपये हो गया, जो वित्त वर्ष 21 में 2,547 करोड़ रुपये था.


पिछले साल के अंत में स्विगी Swiggy ने दिल्ली-एनसीआर में द बाउल कंपनी (The Bowl Company) जैसी अपनी क्लाउड किचन (Cloud Kitchen) आउटलेट्स को बंद कर दिया था. इससे पहले साल 2020 में कंपनी ने कोविड-19 महामारी के कारण अपने कई क्लाउड किचन को बंद कर दिया था और 1000 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया था.


Edited by Vishal Jaiswal