टाटा की इस कंपनी ने पहले 1 लाख को बनाया 1.16 करोड़, अब कीमत रह गई एक-तिहाई!

By Anuj Maurya
December 06, 2022, Updated on : Tue Dec 06 2022 08:14:45 GMT+0000
टाटा की इस कंपनी ने पहले 1 लाख को बनाया 1.16 करोड़, अब कीमत रह गई एक-तिहाई!
टाटा ग्रुप की कंपनी टाटा टेलीसर्विसेस लिमिटेड (महाराष्ट्र) ने पहले लोगों को खुश किया और अब गम दे रही है. दो साल से भी कम में निवेशकों को 11,500 फीसदी रिटर्न दिया, अब पैसे रह गए एक तिहाई.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

जब कभी बात होती है टाटा ग्रुप (Tata Group) की तो लोग इस समूह की किसी भी कंपनी में पैसा लगाने से नहीं घबराते हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि उन्हें भरोसा है कि कंपनी अभी नहीं तो लंबे वक्त में तगड़ा मुनाफा देगी. टाटा ग्रुप की ऐसी ही एक कंपनी है टाटा टेलीसर्विसेस लिमिटेड (महाराष्ट्र), जिसने अपने निवेशकों को तगड़ा रिटर्न दिया. इस मल्टीबैगर शेयर (Multibagger Share) ने 1 लाख को 1.16 करोड़ रुपये में बदल दिया, लेकिन अब यह स्टॉक तेजी से लोगों को नुकसान पहुंचाने में लगा हुआ है.

अब पैसे लगाने वाले झेल रहे भारी नुकसान

टाटा ग्रुप की इस कंपनी के शेयर में इस साल की शुरुआत से ही तगड़ी गिरावट देखने को मिल रही है. इस साल कंपनी के शेयर ने करीब 65 फीसदी का निगेटिव रिटर्न दिया है. इसका मतलब है कि अगर किसी ने 11 जनवरी 2022 को ऑल टाइम हाई 290 रुपये प्रति शेयर के भाव पर एक लाख रुपये लगाए होंगे तो अब उसके एक लाख रुपये सिर्फ 35,000 रुपये ही बचे होंगे. देखा जाए तो इस शेयर में नुकसान वही निवेशक झेल रहे हैं, जिन्होंने इस साल की शुरुआत में स्टॉक खरीदा होगा. अभी इस शेयर की कीमत 100 रुपये के करीब आ चुकी है यानी कीमत लगभग एक तिहाई रह गई है.

1 लाख को बनाया 1.16 करोड़ रुपये

अभी तो यह स्टॉक बिकवाली के दबाव में है, लेकिन जिन्होंने कुछ साल पहले इस शेयर में पैसे लगाए होंगे, उनकी चांदी हो गई है. करीब 2.5 साल पहले मार्च 2020 में ये शेयर 2.50 रुपये के स्तर के करीब था. वहां से इस शेयर में तेजी शुरू हुई और इस साल की शुरुआत में 11 जनवरी 2022 को ये शेयर 290 रुपये के स्तर तक जा पहुंचा. यानी दो साल से भी कम की अवधि में कंपनी के शेयर ने करीब 11,500 फीसदी रिटर्न दिया. इस अवधि में लोगों के पैसे 116 गुना बढ़ गए. यानी जिसने मार्च 2020 में इस शेयर में 1 लाख रुपये लगाए होंगे, उनके पैसे इस साल जनवरी तक 1.16 करोड़ रुपये हो गए.

क्या करती है टीटीएमएल?

यह कंपनी टाटा टेलीसर्विसेज की सब्सिडियरी कंपनी है. यह अपने सेगमेंट में मार्केट की लीडर है. कंपनी वॉइस और डेटा से जुड़ी सेवाएं देती है. टाटा ग्रुप की इस कंपनी के ग्राहकों की लिस्ट में कई बड़े नाम शामिल हैं. मार्केट के एक्सपर्ट्स की मानें तो पिछले ही महीने कंपनी ने स्मार्ट इंटरनेट बेस्ड सर्विस कंपनियों के लिए शुरू की है, जिसे जबरदस्त रिस्पॉन्स भी मिल रहा है. ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें कंपनियों को फास्ट इंटरनेट के साथ-साथ क्लाउड बेस्ड सिक्योरिटी सर्विसेज और ऑप्टोमाइज्ड कंट्रोल भी दिया जा रहा है.


इस कंपनी की सेवा में सबसे बड़ी खासियत क्लाउड आधारित सिक्योरिटी है. इसकी वजह से डेटा को सुरक्षित रखने में मदद मिलती है. डिजिटल इंडिया के इस दौर में बहुत सारे बिजनेस डिजिटल आधार पर चल रहे हैं, उन्हें इस लीज लाइन से बहुत ज्यादा मदद मिलती है. इसमें हर तरह के साइबर फ्रॉड से सुरक्षा का इंतजाम इन-बिल्ट किया गया है, साथ में फास्ट इंटरनेट की सुविधा भी दी जा रही है.