Tata की एक कंपनी को हुआ 76 फीसदी का घाटा, तो दूसरी ने दोगुना प्रॉफिट कमाया

Tata Group की प्रमुख स्टील कंपनी टाटा स्टील Tata Steel को चालू वित्त वर्ष की दिसंबर तिमाही में 2,501.95 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ है. टाटा स्टील ने सोमवार को शेयर बाजार को भेजी सूचना में कहा कि खर्च बढ़ने के कारण उसके मुनाफे में यह गिरावट आई है.

Tata की एक कंपनी को हुआ 76 फीसदी का घाटा, तो दूसरी ने दोगुना प्रॉफिट कमाया

Tuesday February 07, 2023,

3 min Read

देश के अरबपति कारोबारी रतन टाटा (Ratan Tata) की अगुवाई वाली टाटा ग्रुप Tata Group का खर्च बढ़ने के कारण घाटे का सामना करना पड़ रहा है. हालांकि, इस दौरान भी टाटा ग्रुप की कई कंपनियां बेहतर प्रदर्शन कर रही हैं.

टाटा ग्रुप (Tata Group) की प्रमुख स्टील कंपनी टाटा स्टील Tata Steel को चालू वित्त वर्ष की दिसंबर तिमाही में 2,501.95 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ है जो कि पिछले वित्त वर्ष 2021-22 की इसी अवधि से 76 फीसदी कम है. टाटा स्टील ने सोमवार को शेयर बाजार को भेजी सूचना में कहा कि खर्च बढ़ने के कारण उसके मुनाफे में यह गिरावट आई है.

कंपनी ने पिछले वित्त वर्ष 2021-22 की तीसरी तिमाही में 9,598.16 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था. इस दौरान उसकी कुल एकीकृत आय भी 60,842.72 करोड़ रुपये से घटकर 57,354.16 करोड़ रुपये रह गई. हालांकि, दिसंबर तिमाही में कंपनी का खर्च बढ़कर 57,172.02 करोड़ रुपये रहा. एक साल पहले की समान अवधि में उसका खर्च 48,666.02 करोड़ रुपये था.

वहीं, टाटा पावर (Tata Power) का एकीकृत शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में लगभग दोगुना होकर 1,052.14 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. कंपनी ने शुक्रवार को बीएसई को भेजी सूचना में कहा कि अक्टूबर-दिसंबर 2022 के दौरान कारोबार में मजबूत आय से उसके लाभ में वृद्धि हुई है.

टाटा पावर का पिछले वित्त वर्ष 2021-22 की दिसंबर तिमाही में एकीकृत शुद्ध लाभ 551.89 करोड़ रुपये था. वहीं, कंपनी की कुल आय भी तीसरी तिमाही के दौरान 11,018.73 करोड़ रुपये से बढ़कर 14,401.95 करोड़ रुपये हो गई.

दिसंबर 2022 को समाप्त तिमाही के लिए टाटा पावर का टैक्स से पहले का प्रॉफिट 1,864.02 करोड़ रुपये रहा, जो पिछले वर्ष की समान तिमाही के 788.49 करोड़ रुपये से काफी अधिक था.

कंपनी ने दिसंबर 2022 को समाप्त तिमाही में नेट वर्थ में 21,707.36 करोड़ रुपये से बढ़कर 26,889.85 करोड़ रुपये की छलांग लगाई है.

वहीं, कंपनी का मुनाफा बढ़ने के बाद टाटा पावर के शेयरों के दाम भी 1.27 फीसदी बढ़कर 207.90 रुपये हो गए. बता दें कि, टाटा पावर कंपनी बिजली के उत्पादन, ट्रांसमिशन और डिस्ट्रीब्यूशन के कारोबार में लगी हुई है.

टाटा पावर दिसंबर के अंत तक सौर सेल, मॉड्यूल प्लांट चालू करेगी

टाटा पावर ने इस साल दिसंबर के अंत तक तमिलनाडु स्थित अपने सौर सेल और मॉड्यूल संयंत्र को चालू करने का लक्ष्य तय किया है. कंपनी के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) और प्रबंध निदेशक प्रवीर सिन्हा ने यह जानकारी दी.

टाटा पावर ने जुलाई, 2022 में राज्य के तिरुनेलवेली जिले में 3,000 करोड़ रुपये के निवेश से इस संयंत्र की स्थापना के लिए तमिलनाडु सरकार के साथ एक समझौता किया था. इस संयंत्र का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है.

सिन्हा ने बताया कि इस साल दिसंबर के अंत तक संयंत्र को चालू करने का लक्ष्य है. संयंत्र की स्थापना के लिए उपकरणों का ठेका पहले ही दिया जा चुका है. उन्होंने परियोजना की समयसीमा पर एक सवाल के जवाब में यह टिप्पणी की.

कर्नाटक में 225 मेगावॉट की हाइब्रिड परियोजना पर उन्होंने कहा कि कंपनी बिजली की खरीद के लिए नियामकीय मंजूरी का इंतजार कर रही है.


Edited by Vishal Jaiswal