EV मार्केट में दबदबा बनाए रखने के लिए Tata Motors ने तेज की कोशिशें, करीब 50 अरब रुपये जुटाने की तैयारी

By yourstory हिन्दी
January 20, 2023, Updated on : Fri Jan 20 2023 05:32:52 GMT+0000
EV मार्केट में दबदबा बनाए रखने के लिए Tata Motors ने तेज की कोशिशें,  करीब 50 अरब रुपये जुटाने की तैयारी
Tata Motors की योजना मार्च, 2026 तक 10 नए इलेक्ट्रिक मॉडल लॉन्च करने की है. कंपनी पहले से ही देश में ईवी सेगमेंट के बड़े हिस्से पर काबिज है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

भारतीय बाजार में इलेक्ट्रिक व्हिकल सेगमेंट में दबदबा कायम करने वाले टाटा मोटर्स Tata Motors ने ईवी बिजनेस के लिए वैश्विक निवेशकों से 41 अरब रुपये से 49 अरब रुपये (500-600 मिलियन डॉलर) जुटाने का लक्ष्य रखा है.


इकॉनमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, Tata Motors की योजना मार्च, 2026 तक 10 नए इलेक्ट्रिक मॉडल लॉन्च करने की है. कंपनी पहले से ही देश में ईवी सेगमेंट के बड़े हिस्से पर काबिज है.


रिपोर्ट में कहा गया है कि कंपनी कई प्रमुख निवेशकों, इम्पैक्ट फंड्स, मध्य पूर्व, कोरिया और सिंगापुर के सॉवरेन वेल्थ फंडों के साथ-साथ कनाडाई पेंशन फंडों तक पहुंच गई है.


टाटा मोटर्स के चेयरमैन एन. चंद्रशेखरन ने हाल ही में आयोजित ऑटो एक्सपो के दौरान कहा था, "भारत में इलेक्ट्रिक मोबिलिटी में बदलाव हमारी कल्पना से कहीं ज्यादा तेजी से होगा. हमें विश्वास है कि हमने सही रणनीति चुनी है."


कंपनी ने 12 कारों का प्रदर्शन किया, जिनमें पांच इलेक्ट्रिक मॉडल और 14 ट्रक के साथ ही इसमें हाइड्रोजन ईंधन सेल द्वारा संचालित ट्रक शामिल हैं. कंपनी क्लीन व्हिकल सेक्टर में अपनी पैठ बनाना चाहती है.


चंद्रा ने कहा कि कारों में इसके लोकप्रिय हैरियर और सिएरा एसयूवी के इलेक्ट्रिक वर्जन के साथ-साथ इसके नए इलेक्ट्रिक वाहन प्लेटफॉर्म पर आधारित एक कॉन्सेप्ट कार भी शामिल है, जिसके 2025 के अंत में लॉन्च होने की उम्मीद है.


Tata Motors को भारतीय EV बाजार में शुरुआत में उतरने का फायदा हासिल है. हाल ही में ऑटो एक्सपो में देखे गए कई ईवी लॉन्च के साथ इसके प्रतिद्वंद्वी तेजी से पकड़ बना रहे हैं. सरकार 2030 तक इलेक्ट्रिक वाहनों की हिस्सेदारी को 30% तक बढ़ाना चाहती है.


ऑटो एक्सपो कार शो के दौरान टाटा मोटर्स पैसेंजर व्हीकल्स और इसकी ईवी सहायक कंपनी के प्रबंध निदेशक शैलेश चंद्रा ने रायटर को बताया कि कार निर्माता अपने ईवी के लिए रेंज का विकल्प भी पेश करेगा, ताकि यह शहर के उपयोग के लिए छोटी रेंज सहित कई खरीदारों की जरूरतों को पूरा कर सके.


वहीं, टाटा मोटर्स अपनी नेक्सॉन ईवी (इलेक्ट्रिक वाहन) की कीमतों में बदलाव और कुछ नए संस्करण जोड़कर बाजार में उसे नए सिरे से उतार रही है. कंपनी का इस कदम के पीछे मकसद प्रतिद्वंद्वी कंपनियों के नए मॉडलों के सामने अपना दबदबा कायम बरकरार रखने का है.


टाटा मोटर्स अपनी नेक्सॉन ईवी (इलेक्ट्रिक वाहन) की कीमतों में बदलाव और कुछ नए संस्करण जोड़कर बाजार में उसे नए सिरे से उतार रही है. कंपनी का इस कदम के पीछे मकसद प्रतिद्वंद्वी कंपनियों के नए मॉडलों के सामने अपना दबदबा कायम बरकरार रखने का है.


नेक्सॉन ईवी की शुरुआती कीमत अब 14.49 लाख रुपये है. नेक्सॉन ईवी प्राइम की कीमत 14.49 लाख रुपये से लेकर 16.99 लाख रुपये (शोरूम दाम) के बीच होगी. इससे पहले इस श्रेणी में शुरुआती मॉडल का दाम 14.99 लाख रुपये था.


इसी तरह, नेक्सॉन ईवी मैक्स श्रेणी की शुरुआती कीमत 16.49 लाख रुपये हो गई है. इसमें एक नया शुरुआती स्तर का मॉडल जोड़ा गया है. इस मॉडल का दाम 18.99 लाख रुपये तक है.


टाटा मोटर्स ने कहा कि उसका इरादा नेक्सॉन ईवी के मैक्स संस्करण की चार्जिंग के बाद दौड़ने की क्षमता बढ़ाकर 453 किलोमीटर (एमआईडीसी) करने का है. अभी यह 437 किलोमीटर है.


कंपनी ने कहा कि नेक्सॉन ईवी मैक्स के मौजूदा मालिकों को श्रेणी को उन्नत करने की सुविधा 15 फरवरी, 2023 से सभी वितरकों के पास मिलने लगेगी.


कंपनी ने कहा कि नेक्सॉन ईवी के सभी श्रेणियों के लिए बुकिंग जारी है. नेक्सॉन ईवी मैक्स एक्सएम के नए संस्करण की डिलिवरी अप्रैल, 2023 से शुरू होगी.


इससे पहले इसी सप्ताह महिंद्रा एंड महिंद्रा ने अपनी इलेक्ट्रिक एसयूवी एक्सयूवी 400 पेश की थी, जिसकी शुरुआती कीमत 15.99 लाख रुपये रखी गई है.


Edited by Vishal Jaiswal