बस 15 दिन में पैसे डबल... इस Multibagger Stock ने दिया तगड़ा रिटर्न, पिछले महीने आया था IPO

By Anuj Maurya
December 02, 2022, Updated on : Fri Dec 02 2022 08:17:29 GMT+0000
बस 15 दिन में पैसे डबल... इस Multibagger Stock ने दिया तगड़ा रिटर्न, पिछले महीने आया था IPO
पिछले ही महीने एक कंपनी का आईपीओ (IPO) शेयर बाजार में लिस्ट हुआ है. उस कंपनी ने करीब 15 दिन में ही अपने निवेशकों को मल्टीबैगर रिटर्न दिया है. निवेशकों के पैसे दोगुने से भी अधिक हो गए हैं.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

आपने ऐसे कई आईपीओ (IPO) के बारे में सुना होगा, जिन्होंने अपने निवेशकों को तगड़ा रिटर्न (Return On Investment) दिया. कुछ लिस्टिंग वाले दिन ही भारी भरकम रिटर्न दे देते हैं तो कुछ धीरे-धीरे रिटर्न देते रहते हैं. Technopack Polymers का आईपीओ भी ऐसा ही है, जिसने अपने निवेशकों को तगड़ा रिटर्न दिया है. हो सकता है कि इस कंपनी का नाम आपके जेहन में ना हो, लेकिन आपको बता दें कि पिछले ही महीने इसका आईपीओ आया था. महीने भर से भी कम के समय में इस शेयर ने अपने निवेशकों को मल्टीबैगर रिटर्न (Multibagger Return) दिया है.

बस 15 दिन में पैसे डबल

यह आईपीओ पिछले महीने 2 नवंबर के खुला था और 7 नवंबर को बंद हुआ था. वहीं यह कंपनी 16 नवंबर को लिस्ट हुई थी. कंपनी के शेयर की फेस वैल्यू 10 रुपये थी, जबकि इश्यू प्राइस 55 रुपये था. 16 नवंबर को लिस्टिंग के दिन इसके शेयर 77.50 रुपये पर बीएसई पर लिस्ट हुए थे. करीब 15 दिनों में ही इस स्टॉक ने पैसे डबल कर दिए.


उसके बाद भी शेयर में तेजी जारी रही और बीएसई पर शेयर की कीमत 130 रुपये के स्तर पर पहुंच गई. इस तरह अगर शेयर के इश्यू प्राइस से तुलना की जाए तो महज 15 दिनों में ही इस कंपनी के शेयर्स ने लगभग 136 फीसदी का रिटर्न दिया है. जिसने इस शेयर में पैसे लगाए होंगे, उसके पैसे आईपीओ आने के (2 नवंबर) करीब महीने भर में ही दोगुने से भी अधिक हो गए हैं.

क्या करती है कंपनी?

यह कंपनी एफएमसीजी पैकेजिंग के लिए प्लास्टिक और पेपर प्रोडक्ट बनाती है और सप्लाई करती है. अगर इस सेक्टर की बात करें तो इसमें ये लीडिंग कंपनी है. यह कंपनी एचडीपीई कैप्स और अन्य हाई क्वालिटी प्लास्टिक पैकेजिंग सॉल्यूशन बनाती है. कंपनी ने पिछले महीने 25 नवंबर को दी एक जानकारी में बताया था कि इसने 10.88 करोड़ रुपये की लागत वाले Sacmi Imola S. C. बेवरेजेज कैप लाइन प्रोडक्शन का ऑर्डर दिया है.

क्यों नहीं सुना इस आईपीओ का नाम?

ऐसे बहुत से लोग होंगे जो सोच रहे होंगे कि आखिर इस आईपीओ का नाम उन्होंने क्यों नहीं सुना. ऐसा इसलिए हो सकता है, क्योंकि यह एक एसएमई आईपीओ था. एसएमई आईपीओ भी पैसे जुटाने का एक जरिया होता है. इसमें स्मॉल और मीडियन एंटरप्राइजेज कंपनी अपने शेयर बेचकर पैसे जमा करती है. उसके बाद कंपनी बीएसई एसएमई या एनएसई इमर्ज प्लेटफॉर्म पर लिस्ट हो जाती है. बता दें कि एसएमई आईपीओ लाने के लिए कंपनी के पास पोस्ट इश्यू कैपिटल 1 करोड़ से 25 करोड़ रुपये के बीच रहना चाहिए.