Brands
YSTV
Discover
Events
Newsletter
More

Follow Us

twitterfacebookinstagramyoutube
Yourstory

Brands

Resources

Stories

General

In-Depth

Announcement

Reports

News

Funding

Startup Sectors

Women in tech

Sportstech

Agritech

E-Commerce

Education

Lifestyle

Entertainment

Art & Culture

Travel & Leisure

Curtain Raiser

Wine and Food

Videos

मशहूर निवेशक कुनाल ने कहा, सोशल मीडिया पर भड़ास निकालना, फ़ंडिंग की राह में बन सकता है रोड़ा

Techsparks 2019 में निवेशक कुनाल शाह ने बताया स्टार्टअप्स को क्या 'नहीं' करना चाहिए

मशहूर निवेशक कुनाल ने कहा, सोशल मीडिया पर भड़ास निकालना, फ़ंडिंग की राह में बन सकता है रोड़ा

Wednesday October 16, 2019 , 5 min Read

भारत के सबसे लोकप्रिय और सबसे बड़े स्टार्टअप और टेक कॉन्फ़्रेंस Techsparks 2019 के 10वें  संस्करण में व्यवसायी और निवेशक कुनाल शाह ने बताया कि वीसी क्या चाहते हैं, फ़ंडिंग हासिल करने के लिए क्या ज़रूरी है और क्या-क्या चीज़ें करने से स्टार्टअप्स को बचना चाहिए।

k

Techsparks 2019 में निवेशक कुनाल शाह


आप इंटरनेट पर जो भी जानकारी साझा करते हैं, वह सबकुछ हमेशा के लिए इंटरनेट के रेकॉर्ड में दर्ज हो जाती है। क्रेड (Cred) के फ़ाउंडर कुनाल शाह ने कहा कि आप जो कुछ भी ऑनलाइन पोस्ट करते हैं, उसका प्रभाव न सिर्फ़ आप पर और आपके नज़दीकी लोगों पर पड़ता है, बल्कि इसकी वजह से एक व्यवसायी की फ़ंडिंग हासिल करने की जद्दोजहद भी प्रभावित हो सकती है। यह बात कुनाल शाह ने योर स्टोरी के ऐनुअल फ़्लैगशिप इवेंट टेक स्पार्क्स-2019 की आख़िरी शाम को चर्चा करते हुए साझा की।


भारत के सबसे लोकप्रिय और सबसे बड़े स्टार्टअप और टेक कॉन्फ़्रेंस के इस 10वें  संस्करण में व्यवसायी और निवेशक कुनाल शाह ने बताया कि वीसी क्या चाहते हैं, फ़ंडिंग हासिल करने के लिए क्या ज़रूरी है और क्या-क्या चीज़ें करने से स्टार्टअप्स को बचना चाहिए। 


कुनाल ने इस कॉन्फ़्रेंस में अपने विचार साझा करते हुए कहा,

"निवेश करना एक बहुत ही कठिन काम है। वहीं दूसरी ओर से इसे देखना और समझना काफ़ी आसान है, जैसे कि यह समझना कि निवेशक किस तरह की कंपनियों का चुनाव कर रहे हैं क्योंकि हमारी नज़रों में तो हमारी ही कंपनी सबसे अच्छी होती है।"


एक निवेशक की भूमिका में कुनाल सालों से हैं और इस दौरान वह कई स्टार्टअप्स में निवेश कर चुके हैं। कुनाल मानते हैं कि फ़ंडिंग हासिल करने के लिए हमें इसे रिश्ते के रूप में देखना होता है और समझना होता है कि सामने वाला आपसे क्या चाहता है।




कुनाल ने उत्साहित ऑडियंस के समूह को संबोधित करते हुए कहा, 

"हम अक्सर यह नहीं समझ पाते कि लोग क्या चाहते हैं और अंत में अपनी मर्ज़ी की चीज़ कर लेते हैं और आशा करते हैं कि कोई हमारी तरफ़ आकर्षित हो और हमें फ़ंडिंग दे। लेकिन ऐसा नहीं होता क्योंकि हमने यह समझने में समय ही खर्च नहीं किया कि सामने वाला पक्ष क्या चाहता है।"


कुनाल मानते हैं कि भारत में लोग फ़िल्मों से बहुत प्रभावित हैं और उन्हें लगता है कि एक ही चीज़ को बार-बार पूछने से सामने वाले की न को हां में बदला जा सकता है, जैसा कि बॉलिवुड की रोमांटिक फ़िल्मों में होता है। कुनाल ने कहा कि यह ग़लत अवधारणा है कि पिचिंग की वजह से फ़ंडिंग मिलती है। उन्होंने विशेष रूप से जोर देते हुए इस बात का ज़िक्र किया कि पिच से बहुत पहले ही वीसी अपने ज़हन में तय कर चुका होता है कि उसे निवेश करना है या नहीं।


कुनाल कहते हैं,

"वे आप पर होमवर्क करके आते हैं। वे आपसे सिर्फ़ यह सुनिश्चित करने के लिए मिलते हैं कि आप सच में कुछ वैल्यू अडिशन कर सकेंगे या नहीं।"

ट्वीट न करें, ब्लॉग्स का विकल्प बेहतर

कैपिटल जुटाने में असफल होने वाले व्यवसाइयों को मशवरा देते हुए कुनाल ने कहा कि उन्हें अपनी उलझन को सोशल मीडिया पर नहीं प्रदर्शित करना चाहिए। 


उन्होंने इसकी वजह बताते हुए कहा कि आप सोशल मीडिया पर जो कुछ भी कहते हैं, वह रेकॉर्ड में दर्ज हो जाता है। कुनाल का कहना है कि हो सकता है कि जब आप किसी और निवेशक के पास अपनी बात लेकर जाएं और वह आपका ऑनलाइन बर्ताव परखे तो चीज़ें आपके ख़िलाफ़ जा सकती हैं।





कुनाल ने सुझाव दिया,

"अगर आपको सच में लगता कि बिज़नेस में कुछ ग़लत है तो आपको पूरी जानकारी के साथ एक ब्लॉग लिखना चाहिए कि क्या-क्या उपाय किए जा सकते हैं।"

क्यों सारे लॉन्डरी स्टार्टअप्स ख़त्म हुए?

इस सवाल के जवाब में कुनाल ने एक ही शब्द कहा, डोमेस्टिक हेल्प यानी घर में सहयोगी व्यवहार। वह मानते हैं कि भारत में ज़्यादातर लोग इसको ही लॉन्डरी स्टार्टअप से बेहतर विकल्प मानते हैं।


कुनाल से जब पूछा गया कि अगर उन्हें विकल्प दिए जाएं और उन्हें उत्पाद, टीम और बाज़ार में से एक में निवेश करना हो तो वह किसमें निवेश करेंगे, तो इस सवाल के जवाब में उन्होंने बाज़ार ही शुरुआत के लिए सबसे उपयुक्त रहेगा। वह कहते हैं कि हर व्यवसायी धीरे-धीरे एक बड़े मार्केट की ओर बढ़ता है।


कुनाल कहते हैं,

"मुकेश अंबानी से लेकर एलन मस्क तक सभी के पास एक दिन में सिर्फ़ 24 ही घंटे होते हैं, लेकिन हमें पता होता है कि इन 24 घंटों को हम कैसे खर्च करना है।"


कुनाल ने निवेशकों की मानसिकता के बारे में चर्चा करते हुए बताया,

"एक वेंचर कैपिटलिस्ट आपको फ़ंडिंग देकर अपने स्तर पर बड़ा जोख़िम उठाता है और इसलिए वह आपकी क्षमताओं को जानना चाहता है।"


कुनाल ने कहा,

"अगर आपको लगता है कि फ़ंडिंग हासिल कर चुके लोगों की राह आपसे आसान होती है तो यह पूरी तरह से सही नहीं है। फ़ंडिंग के बाद फ़ाउंडर्स पहले से कहीं ज़्यादा तनाव में होते हैं क्योंकि किसी ने आपके ऊपर पैसा लगाया है और वह परिणाम चाहता है।"