शेयर बाजार की तेजी पर लगा ब्रेक, सेंसेक्स 100 अंक गिरा

By Ritika Singh
December 20, 2022, Updated on : Tue Dec 20 2022 11:45:20 GMT+0000
शेयर बाजार की तेजी पर लगा ब्रेक, सेंसेक्स 100 अंक गिरा
पूरे दिन में सेंसेक्स ने 61,780.37 का उच्च स्तर और 61,102.68 का निचला स्तर छुआ.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

कमजोर वैश्विक संकेतों के बीच घरेलू शेयर बाजार (Stock Markets) मंगलवार को अधिकांश समय तक गिरावट में रहे. लेकिन अंतिम क्षणों में हुई लिवाली की वजह से नुकसान की काफी हद तक भरपाई हो गई. इसके बावजूद दोनों प्रमुख सूचकांक नुकसान के साथ ही बंद हुए. विशेष रूप से रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) और टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) के शेयरों में लिवाली से बाजार अपने नुकसान की काफी हद तक भरपाई कर पाए.


बीएसई का 30 शेयरों पर आधारित सूचकांक सेंसेक्स (BSE Sensex) कारोबार के अंत में 103.90 अंकों की गिरावट के साथ 61,702.29 पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान एक समय यह 703.51 अंक तक लुढ़क गया था लेकिन निचले स्तर पर खरीदारी होने से इसने नुकसान की काफी हद तक भरपाई कर ली. पूरे दिन में सेंसेक्स ने 61,780.37 का उच्च स्तर और 61,102.68 का निचला स्तर छुआ.


सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में से टाटा मोटर्स, हिंदुस्तान यूनिलीवर, महिंद्रा एंड महिंद्रा, लार्सन एंड टुब्रो, भारती एयरटेल, मारुति सुजुकी, एनटीपीसी, टेक महिंद्रा, बजाज फाइनेंस और टाटा स्टील में गिरावट का रुख रहा. दूसरी तरफ टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, रिलायंस इंडस्ट्रीज, अल्ट्राटेक सीमेंट, इंडसइंड बैंक, एक्सिस बैंक और आईसीआईसीआई बैंक बढ़तमें रहे.

Nifty50

इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी (NSE Nifty) में भी 35.15 अंकों की गिरावट रही और यह 18,385.30 पर बंद हुआ. निफ्टी पर आईटी, मेटल, आॅयल एंड गैस को छोड़कर अन्य सभी सेक्टोरल इंडेक्स लाल निशान में बंद हुए हैं. निफ्टी पर अडानी एंटरटेनमेंट, टीसीएस, रिलायंस इंडस्ट्रीज, एक्सिस बैंक, इंडसइंड बैंक टॉप गेनर्स रहे. दूसरी ओर एसबीआई लाइफ, आयशर मोटर्स, यूपीएल, टाटा मोटर्स और हिंदुस्तान यूनिलीवर टॉप लूजर्स रहे.

वैश्विक बाजारों की चाल

एशिया के अन्य बाजारों में दक्षिण कोरिया का कॉस्पी, जापान का निक्केई, चीन का शंघाई कम्पोजिट और हांगकांग का हैंगसेंग नुकसान में रहे. यूरोप के बाजार दोपहर के सत्र में गिरावट के साथ कारोबार कर रहे थे. सोमवार को अमेरिकी बाजारों में भी नुकसान रहा था. इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.65 प्रतिशत चढ़कर 80.32 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया. विदेशी निवेशकों ने सोमवार को 538.10 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे.

रुपया 13 पैसे टूटा

अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले रुपया मंगलवार को 13 पैसे की गिरावट के साथ 82.75 (अस्थायी) प्रति डॉलर पर बंद हुआ. स्थानीय शेयर बाजार में कमजोरी के रुख और वैश्विक बाजारों में कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों के बीच निवेशकों द्वारा सतर्कता का रुख बरतने से रुपये में गिरावट आई. इसके अलावा विदेशी पूंजी की निकासी और जोखिम लेने की धारणा के कमजोर होने से रुपये में गिरावट दर्ज हुई. अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया 82.69 के स्तर पर कमजोर खुला और कारोबार के अंत में यह 13 पैसे की गिरावट दर्शाता 82.75 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान रुपये ने 82.69 के उच्चस्तर और 82.88 के निचले स्तर को छुआ.