रेपो रेट बढ़ने के बाद अब तक ये बैंक महंगा कर चुके हैं लोन, कहीं आपकी तो नहीं चल रही EMI

रेपो दर वह ब्याज दर है, जिस पर वाणिज्यिक बैंक अपनी फौरी जरूरतों को पूरा करने के लिये केंद्रीय बैंक से कर्ज लेते हैं.

रेपो रेट बढ़ने के बाद अब तक ये बैंक महंगा कर चुके हैं लोन, कहीं आपकी तो नहीं चल रही EMI

Friday December 09, 2022,

3 min Read

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने मुख्य रूप से महंगाई को काबू में लाने के मकसद से बुधवार को द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में नीतिगत दर रेपो को 0.35 प्रतिशत और बढ़ाकर 6.25 प्रतिशत कर दिया. रेपो दर वह ब्याज दर है, जिस पर वाणिज्यिक बैंक अपनी फौरी जरूरतों को पूरा करने के लिये केंद्रीय बैंक से कर्ज लेते हैं. इसमें वृद्धि का मतलब है कि बैंकों और वित्तीय संस्थानों से लिया जाने वाला कर्ज महंगा होगा और मौजूदा ऋण की मासिक किस्त (EMI) बढ़ेगी.

RBI की मौद्रिक नीति समिति द्वारा रेपो रेट बढ़ाए जाने वाले दिन से लेकर अब तक कई बैंक अपना कर्ज की दरें बढ़ा चुके हैं. आइए जानते हैं कौन-कौन से बैंकों का कर्ज महंगा हो चुका है...

HDFC Bank

HDFC बैंक ने MCLR को 0.10 प्रतिशत तक बढ़ाया है. नई दरें 7 दिसंबर 2022 से प्रभावी हैं. HDFC बैंक में अब 1 साल की MCLR 8.60 प्रतिशत हो गई है. बता दें कि 1 साल की MCLR से ही विभिन्न कंज्यूमर लोन्स कनेक्ट होते हैं. HDFC बैंक के नए MCLR इस तरह हैं...

these-banks-increased-lending-rates-after-repo-rate-hike-hdfc-bank-lending-rates-canara-bank-mclr-indian-overseas-bank-loan-rates

पंजाब नेशनल बैंक

पंजाब नेशनल बैंक ने रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट (RLLR) को बढ़ाकर 8.75 प्रतिशत कर दिया है. पहले यह 8.40 प्रतिशत थी. बैंक की वेबसाइट पर दी गई जानकारी में कहा गया है कि सभी ग्राहकों के लिए RLLR को बढ़ाया गया है और नई दर 8 दिसंबर 2022 से प्रभावी है. RLLR के साथ 0.25 प्रतिशत बीएसपी भी लागू होगा. यानी RLLR+0.25 प्रतिशत बीएसपी को जोड़कर प्रभावी लोन रेट अब 9 प्रतिशत सालाना हो गई है, जो पहले 8.65 प्रतिशत सालाना थी. सभी नए फ्लोटिंग रेट पर्सनल या हाउसिंग, व्हीकल आदि रिटेल लोन और एमएसएमई के लिए फ्लोटिंग रेट लोन, RLLR से जुड़े हैं.

बैंक ऑफ बड़ौदा

इस बैंक में रिटेल लोन्स के लिए 8 दिसंबर 2022 से बड़ौदा रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट 8.85 प्रतिशत है.

बैंक ऑफ इंडिया

बैंक ऑफ इंडिया में रिवाइज्ड रेपो रेट 6.25 प्रतिशत के अनुरूप नई रेपो बेस्ड लेंडिंग रेट यानी आरबीएलआर 9.10 प्रतिशत है. यह दर 7 दिसंबर 2022 से प्रभावी है.

इंडियन ओवरसीज बैंक

इस बैंक ने शेयर बाजारों को दी गई एक सूचना में कहा है कि बैंक ने रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट (RllR) को संशोधित किया है. 10 दिसंबर 2022 से प्रभावी नई RllR 9.10 प्रतिशत है. इसके अलावा बैंक ने मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ड लेंडिंग रेट में भी 0.35 प्रतिशत का इजाफा किया है. बैंक की 10 दिसंबर 2022 से प्रभावी नई एमसीएलआर इस तरह हैं...

these banks hiked lending rates

केनरा बैंक

केनरा बैंक की 7 दिसंबर 2022 से प्रभावी रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट 8.80 प्रतिशत है. केनरा बैंक ने कहा कि उसने विभिन्न लोन अवधि​यों के लिए MCLR (Marginal Cost of Funds Based Lending Rates) बढ़ाई हैं और नई दरें 7 दिसंबर 2022 से प्रभावी हैं. केनरा बैंक में अब 1 साल की अवधि की MCLR 8.15 प्रतिशत हो गई है, जो पहले 8.10 प्रतिशत थी. अन्य लोन टेनर्स के लिए केनरा बैंक के नए MCLR इस तरह हैं...

these bank hiked lending rates