लोगों को वैक्सीन लगे इसके लिए पहाड़ चढ़ गया ये डीएम, रिमोट गांवों तक पहुंचाई वैक्सीनेशन ड्राइव

पश्चिम बंगाल के अलीपुरदौर जिले के जिलाधिकारी आज अपने काम के जरिये लोगों का दिल जीत रहे हैं।

लोगों को वैक्सीन लगे इसके लिए पहाड़ चढ़ गया ये डीएम, रिमोट गांवों तक पहुंचाई वैक्सीनेशन ड्राइव

Friday June 25, 2021,

3 min Read

"मीडिया से बात करते हुए डीएम सुरेन्द्र कुमार ने बताया है कि शुरुआत में ग्रामीणों के बीच वैक्सीन लगवाने को लेकर कुछ भ्रम था, लेकिन उन्होने ग्रामीणों के सभी सवालों के जवाब देते हुए उनके इस भ्रम को दूर किया और दिन के आखिरी तक लगभग सभी ग्रामीणों को कोरोना वायरस वैक्सीन लगाई जा चुकी थी।"

k

फोटो साभार : सोशल मीडिया

पश्चिम बंगाल के अलीपुरदौर जिले के जिलाधिकारी आज अपने काम के जरिये लोगों का दिल जीत रहे हैं। डीएम सुरेन्द्र कुमार मीणा ने उत्तरी बंगाल इलाके के रिमोट एरिया स्थित गांवों में वैक्सीनेशन ड्राइव शुरू करने का काम किया है और उनकी इस पहल के चलते सोशल मीडिया पर उन्हें जमकर सराहना मिल रही है।


इन गांवों में रह रहे सभी लोगों तक वैक्सीन पहुंचे इसकी ज़िम्मेदारी डीएम सुरेन्द्र कुमार ने व्यक्तिगत तौर पर ले रखी थी। मालूम हो कि डीएम सुरेन्द्र कुमार इस दौरान खुद ही पैदल चलकर पहाड़ और जंगल पार करते हुए इन रिमोट गांवों तक पहुंचे थे।

तय किया 11 किलोमीटर पैदल सफर

डीएम सुरेन्द्र कुमार ने इस दौरान 11 किलोमीटर पैदल चलते हुए बुक्सा पहाड़ी पर स्थित अदमा गाँव तक की दूरी तय करने का काम किया है। मालूम हो कि अदमा भारत और भूटान सीमा पर स्थित एक रिमोट गाँव है, जहां तक सड़क रास्ते से पहुंचने की सुविधा उपलब्ध नहीं है। डीएम सुरेन्द्र कुमार इस वैक्सीनेशन ड्राइव के तहत अदमा उनका आखिरी पड़ाव भी था।


इस बीच डीएम सुरेन्द्र कुमार अपनी टीम को लेकर इन गांवों के घर-घर पहुंचे और वहाँ ग्रामीणों को कोरोना वायरस वैक्सीन के प्रति जागरूक करने का काम किया। डीएम सुरेन्द्र कुमार के साथ गांवों पहुंची टीम अपने साथ कोल्ड बॉक्स लेकर गई थी, जिसमें कोरोना वायरस वैक्सीन रखी गई थी।

बांटे मास्क और सैनेटाइजर

इस बीच रास्ते पर पड़ने वाले अन्य गांवों में भी डीएम सुरेन्द्र कुमार ने वैक्सीनेशन का काम पूरा किया है। डीएम सुरेन्द्र कुमार और उनकी टीम ने इस बीच ग्रामीणों के बीएच मास्क और सैनेटाइजर भी बांटती रही है।


मीडिया से बात करते हुए डीएम सुरेन्द्र कुमार ने बताया है कि शुरुआत में ग्रामीणों के बीच वैक्सीन लगवाने को लेकर कुछ भ्रम था, लेकिन उन्होने ग्रामीणों के सभी सवालों के जवाब देते हुए उनके इस भ्रम को दूर किया और दिन के आखिरी तक लगभग सभी ग्रामीणों को कोरोना वायरस वैक्सीन लगाई जा चुकी थी।


इतना ही नहीं डीएम सुरेन्द्र कुमार ने इस दौरान ग्रामीणों से क्षेत्र के इन्फ्रास्ट्रक्चर को लेकर भी सुझाव लिए हैं, जिसमें स्वास्थ्य सेवा और अन्य विकास पर भी बात की गई है।

सोशल मीडिया पर मिली तारीफ

डीएम सुरेन्द्र कुमार के इस सराहनीय काम का वीडियो आईएफ़एस अधिकारी परवीन कासवान ने अपने ट्विटर हैंडल से भी शेयर किया है।


परवीन ने लिखा, 

“यह आज की बेस्ट चीज होगी जो आप देखेंगे। ये अलीपुरदौर के डीएम सुरेन्द्र कुमार हैं जिन्होने टीकाकरण अभियान के लिए भूटान सीमा पर एक रिमोट इलाके पर पहुंचने के लिए जंगल और पहाड़ियों को पार किया है। ऐसे ही सकारात्मक बदलाव आता है।"


खबर लिखे जाने तक इस वीडियो को ट्विटर पर 50 हज़ार से अधिक बार देखा जा चुका है। सोशल मीडिया पर डीएम सुरेन्द्र कुमार के इस काम की चर्चा बड़ी तेजी से हो रही है और लोग उनके साथ उनकी टीम की भी सराहना कर रहे हैं।


कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर का प्रकोप गांवों तक भी दिखाई दिया था और अब संभावित तीसरी लहर से पहले केंद्र सरकार अधिक से अधिक लोगों तक वैक्सीन पहुंचाने का प्रयास कर रही है।


Edited by Ranjana Tripathi