एसिड अटैक सर्वाइवर्स की मदद के लिए ज्वैलरी कंपनी की कोशिश आपका दिल जीत लेगी!

एसिड अटैक सर्वाइवर्स की मदद के लिए ज्वैलरी कंपनी की कोशिश आपका दिल जीत लेगी!

Monday March 04, 2019,

8 min Read

एसिड अटैक पीड़िता सोनी

भारत के सबसे लोकप्रिय और अनमोल आभूषण ब्रैंड एटेलियर मोन ने एक एनजीओ- मेक लव नॉट स्कार्स के साथ मिलकर एसिड अटैक के बारे में जागरूकता फैलाने की पहल शुरू की है। बीते माह वेलेंटाइन डे से शुरू होने वाला यह अभियान एक महीने तक चलेगा। चित्रों और सच्ची कहानियों की एक श्रृंखला के माध्यम से, हैशटैग लव ओवर स्कार्स के साथ इस अभियान का उद्देश्य यह संदेश फैलाना है कि कोई भी चीज व्यक्ति की भावना और प्यार में उनके विश्वास को नहीं तोड़ सकती है। एटेलियर मोन ने अपनी वेबसाइट पर, वैलेंटाइन डे से शुरू होने वाली बिक्री से प्राप्त आय का एक हिस्सा 15 मार्च तक एनजीओ को दान करने का संकल्प लिया है।


पोट्रेट में, एसिड हमले से बचे व्यक्तियों को हैंडमेड एटेलियर मोन ज्वैलरी पहने हुए दिखाया जाता है। महिलाओं ने इस कारण को उजागर किया है कि उन्होंने दर्द के बावजूद प्यार नहीं छोड़ा और यही वह ताकत थी जो उन्हें अपने प्यार से मिली थी, जिससे उन्हें संकट से निपटने में मदद मिली। इस अभियान का उद्देश्य शारीरिक कमियों के बावजूद समाज में लोगों स्वीकार्यता को प्रोत्साहित करना है और फैशन शूट के लिए आइडियल मॉडल को ही लेने के स्टीरियोटाइप आइडिया को तोड़ना है। मेक लव नॉट स्कार्स संपूर्ण पुनर्वास प्रदान करती है, जिसमें जीवित लोगों को वित्तीय, चिकित्सा, कानूनी और शैक्षिक मदद भी शामिल है।


इस बारे में बोलते हुए, एटेलियर मोन की फाउंडर, श्रीमती मेहर स्रा रोहतगी ने कहा, “पिछले कुछ वर्षों से एसिड अटैक से बची युवतियों के साथ काम करने, उनके साथ काम करने, उनके साथ क्वालिटी टाइम बिताने पर मैंने जाना कि जीवन के प्रति इन युवतियों का उत्साह और आशा बरकरार थी। मैं यह जानने के लिए उत्सुक थी कि वे इतनी ताकत कहां से प्राप्त करती हैं और जो चीज उन सभी की कहानियों में कॉमन दिखाई दी, वह है उनके जीवन में विभिन्न लोगों से उन्हें मिला बिना शर्त प्यार। मैं इन अद्भुत कहानियों को साझा करने और उनके साहस को सलाम करने के लिए उत्सुक थी और तभी इस पार्टनरशिप का विचार मन में आया। मेरा मानना है कि हमारे समाज में लोगों को स्वीकार करने और उन्हें देखने को लेकर सोच में बड़ा बदलाव लाने की जरूरत है और हम सभी के लिए उन्हें गले लगाना और यह एहसास दिलाना जरूरी है कि सुंदरता सिर्फ त्वचा की गहराई तक नहीं होती है। एनजीओ मेक लव नॉट स्कार्स के साथ हमारे अनूठे सहयोग के माध्यम से यह संभव हो सका। यह सहयोग इस बात पर प्रकाश डालता है कि कैसे प्यार सब कुछ जीत सकता है और यह कि सुंदर शब्द सिर्फ एक सुंदर चेहरे और संपूर्ण शरीर से बहुत बढ़कर है। हमें एनजीओ के साथ जुड़ने और उसके प्रयासों का हिस्सा बनने पर बेहद खुशी और गर्व है।'


मेक लव नॉट स्कार्स की फाउंडर रिया शर्मा ने कहा, 'एटलियर मोन के साथ हमारा अभियान दुनिया के साथ यह साझा करने के बारे में है कि जो कुछ भी बुरा आपके साथ हो सकता है उसके कारण जीवन समाप्त नहीं हो जाता है। आपके मन में जो कुछ भी करने का लक्ष्य है, उसमें आपको उत्कृष्टता प्राप्त करने की आवश्यकता है। चेहरे के बारे में अलग-अलग धारणाओं को छोड़ना महत्वपूर्ण है, समाज जिसे पारंपरिक मानता है उसे त्यागिये और दुनिया को जीतने के लिए आगे बढ़िए। एसिड सर्वाइवर्स शक्ति और दृढ़ विश्वास प्रदर्शित करते हैं। एटेलियर मोन कलेक्शन पहने हुए, सभी चेहरे आश्वस्त और सुंदर दिखते हैं और शब्द के सही अर्थों में वे एक रोल मॉडल हैं। हम इस अभियान के लिए एटेलियर मोन के साथ जुड़कर खुश हैं, क्योंकि हम दोनों ही सुंदरता के बारे में एक ही दर्शन साझा करते हैं और महिलाओं को पारंपरिक सिद्धांतों से परे जाने में मदद करते हैं।'


इस महीने के दौरान वेबसाइट से खरीदारी करने वाले ग्राहकों को कोड 10एमएलएनएस का उपयोग करके अपनी खरीद पर 10 प्रतिशत की छूट मिल सकती है। एनजीओ को कुछ अंश दान किया जायेगा। मेक लव नॉट स्कार्स की स्थापना एक सामाजिक कार्यकर्ता और 2017 के लिए यूनिसेफ ग्लोबल गोल्स अवार्ड प्राप्त करने वाली पहली भारतीय कार्यकर्ता, सुश्री रिया शर्मा द्वारा की गई थी। 2014 में अपनी स्थापना के बाद से, संगठन ने 60 से अधिक एसिड अटैक सर्वाइवर्स का पुनर्वास किया है। रिया शर्मा 2018 में यूनाइटेड नेशंस बिल एंड मेलिंदा गेट्स ग्लोबल गोलकीपर पुरस्कार प्राप्त करने वाली पहली भारतीय बनीं और उनका नाम इंडिया टुडे की 50 सबसे प्रभावशाली महिलाओं की अंडर 50 सूची में रखा गया।


सर्वाइवर्स जिन्हें फीचर किया गया है


अंजू

मिलिए 32 साल की अंजू से, एक ऐसी मुस्कान से जो किसी भी दिल को पिघला सकती है। उसके पति ने 2014 में उस पर एसिड फेंक दिया, जब उसने उसे दहेज देने से इनकार कर दिया। लेकिन वह हमेशा के लिए अपने चेहरे से उस आकर्षक मुस्कान को नहीं मिटा सका। उसकी मां और तीन बच्चे उसके हर तकलीफ और उपचार के बीच उसके साथ खड़े थे, और यही कारण है कि वह अभी भी प्यार में विश्वास करती है। हम अंजू की ताकत और इस वैलेंटाइन डे पर प्यार में उनके विश्वास को सलाम करते हैं। वह हमारे रोजलीन कलेक्शन से लिए गये कुछ पीस पहने हुए है। अब एटेलियर मोन डॉट कॉम पर खरीदारी करें और कोड 10एमएलएनएस के साथ 10 प्रतिशत छूट प्राप्त करें। बिक्री से हुई आय एनजीओ मेक लव नॉट स्कार्स को दान की जाएगी। यह संस्था एसिड सर्वाइवर्स के पुनर्वास के लिए अविश्वसनीय काम कर रही है।


रेशमा कुरैशी

खूबसूरत 22-वर्षीय रेशमा कुरैशी से मिलिए, जिन पर 2014 में उनकी बहन के पति ने हमला कर दिया था। वह रेशमा की बहन को बेरहमी से पीटता था और जब उसने उसे छोड़ दिया तो उसने परिवार से बदला लेने के लिए उनकी बेटी के चेहरे पर तेजाब फेंक दिया। उसने निशान तो छोड़ दिये, लेकिन वह उसकी आत्मा को तोड़ने में सक्षम नहीं हो सका। रेशमा ने जो कुछ सपने देखे थे, उन्हें पूरा करने के लिए वह निकल पड़ी है। वह न्यूयॉर्क फैशन वीक में रैंप पर भी चली है। वह कहती है कि उनकी ताकत का मुख्य स्रोत उन्हें सोशल मीडिया पर हजारों लोगों से मिला व्यापक प्यार और समर्थन है। यही कारण है कि प्यार में उनका विश्वास फिर से स्थापित हो गया है। इस वेलेंटाइन के दिन, हम उसकी ताकत और प्यार में विश्वास की सराहना करते हैं। रेशमा ने हमारे ब्लुएट संग्रह के पीस पहने हैं। अब एटेलियर मोन डॉट कॉम पर खरीदारी करें और कोड 10एमएलएनएस के साथ 10 प्रतिशत छूट प्राप्त करें। बिक्री से हुई आय एनजीओ मेक लव नॉट स्कार्स को दान की जाएगी। यह संस्था एसिड सर्वाइवर्स के पुनर्वास के लिए अविश्वसनीय काम कर रही है।


जाकिरा

28-वर्षीय जाकिरा से मिलिए। उसके पति ने उस पर तेजाब फेंक दिया, जब उसे शक हुआ कि उसका कहीं अफेयर चल रहा है, क्योंकि वह अपना वजन कम करने की कोशिश कर रही थी! उसके दो छोटे बच्चे उसके साथ हैं। उनके लिए उसका प्यार ही है जिसने उसे जीवित रखा है। इस फोटोशूट के दौरान उन्होंने एक झुमका उठाया और कहा कि आपको जो भी करना है उसका उत्सव मनाना है। भले ही बचे हुए एक कान में एक ही बाली क्यों न पहनी जाये। इस वैलेंटाइन डे, हम उनकी अदम्य भावना और उनके बच्चों के प्रति उनके प्यार की सराहना करते हैं। जाकिरा ने हमारे रोजलीन कलेक्शन से कुछ पीस पहने हैं। अब एटेलियर मोन डॉट कॉम पर खरीदारी करें और कोड 10एमएलएनएस के साथ 10 प्रतिशत छूट प्राप्त करें। बिक्री से हुई आय एनजीओ मेक लव नॉट स्कार्स को दान की जाएगी। यह संस्था एसिड सर्वाइवर्स के पुनर्वास के लिए अविश्वसनीय काम कर रही है।


अनु

मिलिए अनु से, जिस पर उसके पड़ोसी ने हमला कर दिया था। एक 25 साल का लड़का, जब वह सिर्फ 13 साल की थीं। वह उसे लगातार छेड़ता था और जब उसने अपने माता-पिता से शिकायत की, तो वह क्रोधित हो गया और उसने उस पर तेजाब फेंक दिया। उसका परिवार, विशेष रूप से उसके पिता, उसके साथ खड़े थे और पढ़ाई व काम करने हेतु दिल्ली जाने के लिए उन्होंने सपोर्ट किया और उसका इलाज कराया। यह उनका प्यार और समर्थन ही है, जिसने उन्हें अपने जीवन का अधिकतम लाभ उठाने की ताकत दी है। सभी बाधाओं के बावजूद वह एक विजेता बनकर आयी है और हम उसके परिवार के प्यार का जश्न मनाना चाहते हैं, जिसने उसे ऐसा करने में मदद की। अनु हमारे ब्लुएट संग्रह से कुछ पीस पहने हुए हैं। अब एटेलियर मोन डॉट कॉम पर खरीदारी करें और कोड 10एमएलएनएस के साथ 10 प्रतिशत छूट प्राप्त करें। बिक्री से हुई आय एनजीओ मेक लव नॉट स्कार्स को दान की जाएगी। यह संस्था एसिड सर्वाइवर्स के पुनर्वास के लिए अविश्वसनीय काम कर रही है।

 

सोनी

सोनी से मिलिए, जिस पर 2008 में उसके पति द्वारा एसिड से हमला किया गया था, जब वह अधिक दहेज मांग रहा था। उसकी सबसे अच्छी दोस्त, स्नेहा, हर तरह से उसकी ताकत बनी रही। उसका प्यार ही था, जिसने सोनी को विश्वास दिलाया कि वह अकेली नहीं है। निशान के बावजूद, यह उसकी सहेली का प्यार था, जिसने उसे वापस खड़े होने और जीवन को पूरी तरह से जीने में मदद की। वह अब नई दिल्ली चली गई है, और मेक लव नॉट स्कार्स के पुनर्वास केंद्र का प्रबंधन करती है। अब वह अन्य सर्वाइवर्स को बेहतर जीवन का मार्ग खोजने में मदद करती है। ऐसी है प्रेम की शक्ति। सोनी ने हमारे कास्का संग्रह से कुछ पीस पहने हैं। अब एटेलियर मोन डॉट कॉम पर खरीदारी करें और कोड 10एमएलएनएस के साथ 10 प्रतिशत छूट प्राप्त करें। बिक्री से हुई आय एनजीओ मेक लव नॉट स्कार्स को दान की जाएगी। यह संस्था एसिड सर्वाइवर्स के पुनर्वास के लिए अविश्वसनीय काम कर रही है।


यह भी पढ़ें: आपका 'अभिनंदन' है!