जानिए कैसे जुटाएं बिजनेस के लिए फंड, सिर्फ 5 दिन में ही अकाउंट में आ सकते हैं पैसे!

By Anuj Maurya
October 28, 2022, Updated on : Fri Oct 28 2022 13:41:26 GMT+0000
जानिए कैसे जुटाएं बिजनेस के लिए फंड, सिर्फ 5 दिन में ही अकाउंट में आ सकते हैं पैसे!
बिजनेस करते वक्त सबसे ज्यादा जरूरत होती है फंड की. फंडिंग स्टार्टअप गेटवैंटेज के जरिए आप आसानी से फंड हासिल कर पाएंगे. यहां तक कि आपको सिर्फ 5 दिन में भी पैसे अकाउंट में मिल सकते हैं.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

बिजनेस (Business) तो हर कोई करना चाहता है, लेकिन यह भी सभी जानते हैं कि बिजनेस करना आसान नहीं. अगर कुछ लोग अपना बिजनेस शुरू भी कर देते हैं तो कुछ वक्त के बाद उन्हें बिजनेस बड़ा करने में दिक्कत आने लगती है. ऐसे में इन बिजनेस को जरूरत होती है फंड की. सवाल ये है कि आखिर ये फंड मिलेगा कहां से? आपके सामने अमूमन दो रास्ते होते हैं. या तो आप बैंक से कर्ज (Bank Loan) ले लें और उससे अपना बिजनेस बढ़ाएं. जो मुनाफा हो उससे धीरे-धीरे कर के अपना कर्ज चुका दें. दूसरा रास्ता ये है कि आप किसी निवेशक (Investment) से पैसे ले लें और बदले में उसे अपने स्टार्टअप (Startup) या कंपनी की कुछ हिस्सेदारी दे दें. खैर आपके पास एक तीसरा रास्ता है भी है, जो इन दोनों से बेहतर है.

गेटवैंटेज से ले सकते हैं फंडिंग

अगर आपको अपने बिजनेस के लिए फंड की जरूरत है तो आप फंडिंग करने वाले स्टार्टअप गेटवैंटेज (getvantage.co) से फंड ले सकते हैं. यहां से फंडिंग लेने का आपको पहला फायदा ये होगा कि आपको कोई इक्विटी नहीं देनी होगी. वहीं दूसरा बड़ा फायदा ये होगा कि जो फंड आपने लिया है, उसे आप हर महीने फ्लेक्सिबल तरीके से वापस कर सकते हैं. दरअसल, ये स्टार्टअप रेवेन्यू पर आधारित फंडिंग करता है.

पहले जानिए कैसे मिलेगी गेटवैंटेज से फंडिंग

गेटवैंटेज से फंडिंग पाने के लिए आपको सबसे पहले इनकी वेबसाइट पर जाना होगा. वहां पर आपको Join Us का बटन मिलेगा. बटन दबाते ही आपके सामने एक पेज खुलेगा, जहां पर आपकी ई-मेल आईडी मांगी जाएगी. अपनी ई-मेल आईडी डालकर आगे बढ़ते ही आपके पास एक ओटीपी आएगा, जिसे पेज पर दर्ज करना होगा. इसके बाद आपको अपना नाम, मोबाइल नंबर, अपना पद, अपने बिजनेस का नाम, वेबसाइट का लिंक, बिजनेस की कैटेगरी और सब कैटेगरी चुननी होगी. अगले पेज पर आपको बताना होगा कि आपकी सेल्स कितनी है, आपका डिजिटल मार्केटिंग का बजट कितना है, हर महीने कितनी ग्रोथ चाहते हैं और आपका बिजनेस मुनाफे वाला है या नहीं.


ये सारी जानकारी सबमिट करते ही कंपनी की इन्वेस्टमेंट टीम के पास चली जाएगी और फिर वह आप से संपर्क करेंगे. गेटवैंटेज के जरिए आप 5 लाख रुपये से लेकर 10 करोड़ रुपये तक की फंडिंग हासिल कर सकते हैं. अगर सब कुछ बिना रुके चलता रहा तो सिर्फ 5 दिन में ही पैसे आपके बैंक खाते में पहुंच जाएंगे.

रेवेन्यू बेस्ड फाइनेंसिंग क्या है?

कई बार ऐसा होता है कि फंड इस्तेमाल करने के बावजूद बिजनेस में उतनी ग्रोथ नहीं आती, जितनी आनी चाहिए. ऐसे में बिजनेस को हर महीने पैसे वापस चुकाने में दिक्कत होती है. रेवेन्यू बेस्ड फाइनेंसिंग में ये सहूलियत मिल जाती है कि रेवेन्यू के आधार पर आप हर महीने पैसे चुका सकते हैं. अगर कम कमाई हुई है तो कम पैसे चुका सकते हैं, अगर ज्यादा कमाई हुई है तो हर महीने ज्यादा पैसे चुका सकते हैं. हालांकि, कर्ज पर लगने वाली फीस पहले से ही तय होती है. गेटवैंटेज से फंड लेने पर आपको 6-14 फीसदी तक की फ्लैट फीस चुकानी पड़ सकती है.

एक उदाहरण से समझते हैं

मान लीजिए कि आपने गेटवैंटेज से 10 लाख रुपये का फंड लिया, जिस पर 10 फीसदी फ्लैट फीस तय हुई. यानी आपको अब एक तय सीमा (अमूमन 9 महीने) में 11 लाख रुपये लौटाने होंगे. अब मान लेते हैं कि आपको हर महीने करीब 1.2 लाख रुपये चुकाने हैं. अगर आपकी कमाई कम हुई है तो आप हर महीने इससे कम पैसे वापस दे सकते हैं, वहीं अगर ज्यादा हुई है तो हर महीने ज्यादा पैसे देकर अपना कर्ज जल्दी निपटा सकते हैं.

गेटवैंटेज के पास होता है हर कंपनी का लाइव डेटा

गेटवैंटेज की तरफ से जिन भी कंपनियों को फंड किया जाता है, उनका रीयल टाइम डेटा कंपनी के पास होता है. दरअसल, लोन देने से पहले ही गेटवैंटेज हर कंपनी से कुछ चीजों की एक्सेस ले लेता है, जैसे इनकम, जीएसटी फाइलिंग, टैक्स डिटेल्स. इन चीजों की एक्सेस के लिए कंपनी ने एक डैशबोर्ड डिजाइन किया है, जिसकी मदद से किसी भी बिजनेस का परफॉर्मेंस कैसा है ये रीयल टाइम में पता चलता रहता है. ये जानकारियां होने से गेटवैंटेज ना केवल उन बिजनेस के मौजूदा स्थिति को समझ पाता है, बल्कि यह भी अनुमान लगा लेता है कि आने वाले दिनों में कंपनी की आय कितनी हो सकती है.

सिर्फ फंड नहीं देता गेटवैंटेज, मदद भी करता है

गेटवैंटेज से फंडिंग लेने वालों को एक बड़ा फायदा ये होता है कि उन्हें पैसों के साथ-साथ मदद भी मिलती है. अगर कंपनी को लगता है कि किसी बिजनेस की कमाई घट रही है या अच्छी नहीं चल रही है तो उन्हें इसे बढ़ाने के तरीके बताए जाते हैं. अगर नेटवर्किंग के लेवल पर किसी तरह की मदद की जरूरत होती है तो वह भी मुहैया कराई जाती है. दो ब्रांड्स को कोलैबोरेट भी कराया जाता है, ताकि दोनों एक दूसरे के ग्राहकों से फायदा कमा सकें, वो भी बिना कॉम्पटीशन बढ़ाए.


इतना ही नहीं, कंपनी ने एक अलग प्लेटफॉर्म (foundersforfounders.org) भी बनाया है, जहां पर बिजनेस के मालिक तमाम फाउंडर्स से चैट कर सकते हैं. इन फाउंडर्स से चैट कर के वह उनकी एक्सपर्ट एडवाइस ले सकते हैं. फाउंडर्स से वह जान सकते हैं कि बिजनेस को आगे कैसे बढ़ाया जाए. अच्छी बात तो ये है कि यह सब बिल्कुल फ्री है. इसके लिए फाउंडर्स को या किसी भी बिजनेस के मालिक को कोई चार्ज नहीं देना होता है. ये सब करने से तमाम बिजनेस की कमाई बढ़ती है, जिससे गेटवैंटेज को भी फायदा होता है. गेटवैंटेज को फायदा ऐसे होता है कि उनके फंड का Repayment समय से हो जाता है और इससे अधिक से अधिक बिजनेस फंड लेने को मोटिवेट होते हैं.

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें