Unacademy की बड़ी पहल, 1500 सरकारी छात्रों को देगा स्कॉलरशिप, जानिए कैसे करें आवेदन

By Vishal Jaiswal
November 21, 2022, Updated on : Mon Nov 21 2022 10:12:07 GMT+0000
Unacademy की बड़ी पहल, 1500 सरकारी छात्रों को देगा स्कॉलरशिप, जानिए कैसे करें आवेदन
अनअकेडमी ऐसे प्रतियोगी छात्रों को उनका लक्ष्य हासिल करने में मदद करने के लिए लर्नर्स सब्सक्रिप्शन पर आधारित 1500 स्कॉलरशिप भी मुहैया कराएगा.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

सॉफ्टबैंक SoftBank समर्थित एजुकेशन-टेक्नोलॉजी (एडटेक) यूनिकॉर्न अनअकेडमी Unacademy ने विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए सरकारी छात्रों को तैयारी करवाने के लिए राजस्थान सरकार शिक्षा विभाग के राजस्थान स्कूली शिक्षा परिषद के साथ एक समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर किया है.


अनअकेडमी ऐसे प्रतियोगी छात्रों को उनका लक्ष्य हासिल करने में मदद करने के लिए लर्नर्स सब्सक्रिप्शन पर आधारित 1500 स्कॉलरशिप भी मुहैया कराएगा.


प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में मदद के लिए अनअकेडमी विभिन्न एप्टिट्यूड टेस्ट के माध्यम से राजस्थान के सरकारी स्कूलों के 1000 बच्चों की पहचान करेगा और उन्हें स्कॉलरशिप मुहैया कराएगा. क्लास 9 से ग्रेजुएशन तक के छात्र इस टेस्ट के लिए आवेदन कर सकते हैं.

वहीं, अपने मेगा नेशनल प्रोग्राम 'शिक्षोदया' को आगे बढ़ाते हुए अनअकेडमी 500 टॉप रैंकिंग छात्राओं को भी स्कॉलरशिप मुहैया कराएगा.


इसके साथ ही, अनअकेडमी, अनअकेडमी कनेक्ट सेशन भी आयोजित करेगा. इसके माध्यम से स्कॉलरशिप वाले छात्रों को करियर से जुड़े सवालों में मदद मिलेगी. वे इसके गाइडेंस सेशन से अपस्किलिंग और करियर के नए अवसरों पर जानकारी हासिल कर पाएंगे.

यह स्कॉलरशिप NEET-UG, IIT-JEE, NDA, UPSC, SSC और NTSE फाउंडेशन जैसे कोर्सेज के लिए ऑफर की जाएगी.


बता दें कि, साल 2015 में गौरव मुंजाल, रोमन सैनी और हेमेश सिंह द्वारा शुरू की गई अनअकेडमी सितंबर, 2020 में ही यूनिकॉर्न क्लब में शामिल हो गई थी.


Unacademy ने अगस्त से 6 महीने के लिए अपने कई डाउट सॉल्विंग टीचरों का कॉन्ट्रैक्ट कैंसिल कर दिया है. एडटेक कंपनी के ये टीचर्स नीट और आईआईटी-जेईई से जुड़े डाउट्स को सॉल्व कराते थे. अभी तक, साल 2022 में अनअकेडमी ने अपनी सेल्स, मार्केटिंग और अन्य टीमों ने 750 लोगों को निकाल चुकी है. उसने उन सैकड़ों टीचरों को भी निकाल दिया या कॉन्ट्रैक्ट पर हायर किए थे.


वहीं, गौरव मुंजाल (Gaurav Munjal) ने मंगलवार को कहा कि स्टार्ट-अप की रिसर्च एंड डेवलपमेंट (R&D) टीम एक ऐसे उत्पाद पर काम कर रही है, जो लिंक्डइन को टक्कर देगा. मुंजाल ने यह भी कहा कि वह रिज्यूम को अनुपयोगी बनाना चाहते हैं.