Unacademy ने डाउट सॉल्विंग टीचरों का कॉन्ट्रैक्ट 6 महीने के लिए सस्पेंड किया, नहीं मिलेगी सैलरी

By Vishal Jaiswal
August 02, 2022, Updated on : Tue Aug 02 2022 07:15:54 GMT+0000
Unacademy ने डाउट सॉल्विंग टीचरों का कॉन्ट्रैक्ट 6 महीने के लिए सस्पेंड किया, नहीं मिलेगी सैलरी
मामले की जानकारी रखने वाले एक सूत्र ने बताया कि रविवार 31 जुलाई को आईआईटी-जेईई और नीट के टीचरों को ईमेल मिले कि उनके कॉन्ट्रैक्ट्स छह महीने की अवधि के लिए सस्पेंड किए जा रहे हैं.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

फंडिंग की रफ्तार में आई कमी के कारण तेजी से कॉस्ट-कटिंग कर रही सॉफ्टबैंक समर्थित एडटेक यूनिकॉर्न Unacademy ने अपने कई टीचरों का कॉन्ट्रैक्ट कैंसिल कर दिया है. एडटेक कंपनी के ये टीचर्स नीट और आईआईटी-जेईई से जुड़े डाउट्स को सॉल्व कराते थे.


मामले की जानकारी रखने वाले एक सूत्र ने बताया कि रविवार 31 जुलाई को आईआईटी-जेईई और नीट के टीचरों को ईमेल मिले कि उनके कॉन्ट्रैक्ट्स छह महीने की अवधि के लिए सस्पेंड किए जा रहे हैं.


सूत्रों ने बताया कि इसका मतलब है कि अगस्त की शुरुआत से अगले छह महीने के लिए उनकी सेवाएं नहीं ली जाएंगी और इस अवधि के दौरान उन्हें पेमेंट भी नहीं किया जाएगा. कॉन्ट्रैक्ट को सस्पेंड करने का भी मतलब है कि वे अनअकेडमी के सिस्टम से बाहर रहेंगे.


अपने ईमेल में अनअकेडमी ने एजुकेटर्स से कहा कि उसने अपने कस्टमाइज्ड लर्निंग सॉल्यूशंस में स्ट्रैटेजिक बदलाव किए हैं. बदलाव के कारण वह अपने प्लेटफॉर्म पर डाउट सॉल्विंग की क्षमता कम कर रही है. इसलिए हमने अस्थायी तौर पर डाउट सॉल्विंग से संबंधित सभी सेशन को खत्म करने का फैसला किया है. ईमेल में कहा गया कि टीचरों को उनकी 31 जुलाई तक की सेवा के लिए 31 अगस्त तक पेमेंट कर दिया जाएगा.


पिछले महीने अनअकेडमी के को-फाउंडर और चीफ एक्जिक्यूटिव ऑफिसर गौरव मुंजाल ने एक इंटरनल ईमेल में कहा था कि कंपनी अब और छंटनी नहीं करेगी और इसके बजाय 'अनावश्यक' कर्मचारियों को समायोजित करने के लिए टीमों में फेरबदल करेगी.


हम अनावश्यक खर्चों को कम करके अपने काम को आगे बढ़ाना जारी रखेंगे. हमारे पास कुछ टीमों में कुछ अतिरिक्त कर्मचारी भी हैं, इसलिए हम टीम के सदस्यों को अनएकेडमी सेंटर, कोर इंजीनियरिंग जैसी टीमों में भेजेंगे जो तेजी से आगे बढ़ने वाली हैं.


पिछले महीने ही, मुंजाल ने कहा था कि आक्रामक तरीके से कॉस्ट कटिंग करने के लिए टॉप मैनेजमेंट और फाउंडर्स की सैलरी में कटौती के साथ ही ट्रैवल पर भी पाबंदी लगा दी है. वहीं, कंपनी को मुनाफे में लाने के लिए उन्होंने ऑफिस में कॉम्प्लिमेंटरी फूड सेवाओं पर भी पाबंदी लगा दी है.


अभी तक, साल 2022 में अनअकेडमी ने अपनी सेल्स, मार्केटिंग और अन्य टीमों ने 750 लोगों को निकाल चुकी है. उसने उन सैकड़ों टीचरों को भी निकाल दिया या कॉन्ट्रैक्ट पर हायर किए थे.