यूनिकॉर्न इंडिया वेंचर्स ने सेकंड इक्विटी फंड के तहत 12 मिलियन डॉलर जुटाए

By yourstory हिन्दी
March 31, 2020, Updated on : Tue Mar 31 2020 06:31:30 GMT+0000
यूनिकॉर्न इंडिया वेंचर्स ने सेकंड इक्विटी फंड के तहत 12 मिलियन डॉलर जुटाए
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

मुंबई स्थित अर्ली स्टेज फंड यूनिकॉर्न इंडिया वेंचर्स ने अपने दूसरे इक्विटी फंड की पहली किस्त के तहत 12 मिलियन डॉलर जुटाने की घोषणा की है। बता दें कि यूनिकॉर्न इंडिया वेंचर्स ने पिछले साल 400 करोड़ रुपये के दूसरे इक्विटी फंड की घोषणा की थी। यूनिकॉर्न इंडिया ने डोमेस्टिक इन्वेस्टर्स से यह फंड जुटाया है जिसमें पहले फंड के फैमिली ऑफिस और इन्वेस्टर शामिल हैं।


k

भास्कर मजूमदार और अनिल जोशी, मैनेजिंग पार्टनर्स, यूनिकॉर्न इंडिया वेंचर्स



फंड के अगले 12 महीनों में फाइनल क्लोज यानी आखिरी किस्त तक पहुंचने की उम्मीद है, जिसमें बड़े संस्थागत निवेशकों की भागीदारी के दिखने की भी उम्मीद है। पहली किस्त के साथ, यूनिकॉर्न इंडिया ने तिरुवनंतपुरम स्थित स्टार्टअप सास्कन (SaScan) मेडिटेक में अपने अपने पहले निवेश की भी घोषणा की है।


SaScan एक इनोवेटिव नियो-डायग्नोस्टिक स्टार्टअप है जो मेडिकल डायग्नोस्टिक के लिए इंटीग्रेटेड हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर सलूशन डेवलप कर रहा है। 2016 में स्थापित, Sascan वर्तमान में बाजार में ओरलस्कैन लाने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। ओरलस्कैन एक हैंडहेल्ड, नॉन-इंट्रूसिव ओरल कैंसर स्क्रीनिंग के लिए पूरी तरह से ऑटोमैटेड सलूशन है।


कंपनी एक अन्य सामान्य प्रकार के कैंसर की जांच के लिए एक उपकरण के क्लिनिकल परीक्षण पर भी काम कर रही है। नए फंडों के साथ, SaScan आसान, सुलभ और शुरुआती कैंसर का पता लगाने के लिए एक व्यापक डायग्नोस्टिक्स सॉल्यूशन रेंज बनाने के लिए दृष्टि के साथ अन्य प्रकार के एपिथेलियल सेल कार्किनोमास (epithelial cell carcinomas) और प्री-कैंसर संबंधी असामान्यताओं के निदान के लिए अपनी स्वामित्व तकनीक विकसित करने की संभावना का पता लगाएगा।


यूनिकॉर्न इंडिया वेंचर के मैनेजिंग पार्टनर अनिल जोशी ने कहा,

"भारतीय स्टार्टअप्स को पोषित करने की हमारी प्रतिबद्धता अटूट है और जैसा कि हमने अपने पहले फंड में किया था उसी तरह हम इनोवेटिव वेंचर के लिए स्काउटिंग करते रहेंगे। फंड- II से हमारे भी इसी तरह के निवेश की घोषणा करना हमारी प्रतिबद्धता का प्रमाण है। SaScan कैंसर के शुरुआती लक्षणों का पता लगाने के लिए उपकरणों और समाधानों की एक श्रृंखला का निर्माण कर रहा है। पूर्व निदान में कैंसर का पता लगाने और कम सटीक बनाने की उनकी पद्धति ने हमें इसमें निवेश करने के लिए प्रभावित किया।”


नए फंड से, यूनिकॉर्न इंडिया प्री-सीरीज ए और उससे ऊपर से राउंड में भाग लेगा। चेक साइज एक मिलियन डॉलर होने की उम्मीद है। फंड हाउस यूनिकॉर्न इंडिया वेंचर को अपने दूसरे फंड से 20 फर्मों में निवेश करने की उम्मीद है।


भास्कर मजूमदार, मैनेजिंग पार्टनर, यूनिकॉर्न इंडिया वेंचर्स ने कहा,

“हमारा पहला फंड काफी अच्छा परफॉर्म कर रहा है। ओपन बैंक, जेनरोबोटिक, सीक्वेटक, स्मार्टकॉइन जैसी पहले फंड से कई कंपनियां अपने साथियों की तुलना में तेजी से बढ़ रही हैं। वे पहले ही कई शीर्ष अंतरराष्ट्रीय फंडों का ध्यान आकर्षित कर चुकी हैं। इस दूसरे फंड के साथ, हम बी 2 बी, सास, हेल्थटेक, रोबोटिक्स, गेमिंग और डिजिटल कंटेंट के क्षेत्र में तेजी से स्केलेबिलिटी के साथ नए बिजनेस मॉडल की पहचान करने के अपने ट्रैक रिकॉर्ड को जारी रखने की उम्मीद करते हैं।”