अपनी दूसरी ई-फार्मा डील की तैयारी कर रही है Flipkart, इस कंपनी में खरीदेगी हिस्सेदारी

अपनी दूसरी ई-फार्मा डील की तैयारी कर रही  है Flipkart, इस कंपनी में खरीदेगी हिस्सेदारी

Monday February 20, 2023,

3 min Read

वॉलमार्ट के स्वामित्व वाली ऑनलाइन रिटेलर फ्लिपकार्ट (Flipkart) बेंगलुरु स्थित फार्मालामा (PharmaLama) में हिस्सेदारी खरीदने के लिए बातचीत कर रही है. मिंट ने सूत्रों के हवाले से इसकी जानकारी दी. इस तरह यह भारतीय ऑनलाइन फ़ार्मेसी बाज़ार में इस तरह का दूसरा सौदा होगा.

फ्लिपकार्ट Mera Dawai Pvt Ltd द्वारा चलाए जा रहे स्टार्टअप को भी हायर कर सकती है, सूत्रों ने कहा.

Pharmallama तिथि और समय के अनुसार नुस्खे, ओवर-द-काउंटर (OTC) दवाओं और विटामिन को अलग-अलग पैकेट में व्यवस्थित करने का दावा करता है.

हालांकि, इस डील के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं मिल सकी.

Pharmallama को जून 2020 में अचिंत्य दयाल, अर्जुन रघुनंदन और दीपेश राजपाल द्वारा लॉन्च किया गया था. दयाल और रघुनंदन एक ट्रैवल टेक स्टार्टअप Kiplist भी चलाते हैं, जो हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री के लिए सॉफ्टवेयर-एज-ए-सर्विस (SaaS) टूल्स बनाता है. राजपाल पहले दो हेल्थटेक प्लेटफॉर्म्स, अर्थात् MED365 और Lifecare के फाउंडिंग मेंबर भी रहे हैं. प्लेटफॉर्म ने हाल ही में ACG Associated Capsules से पूंजी जुटाई है, जो वैश्विक स्तर पर खाली हार्ड फार्मास्युटिकल कैप्सूल के सबसे बड़े आपूर्तिकर्ताओं में से एक होने का दावा करती है. ऑनलाइन फ़ार्मेसी के क्षेत्र में, PharmaLama बड़े प्रतिद्वंद्वियों जैसे Tata 1mg फ़ार्मेसी, रिलायंस के स्वामित्व वाली Netmeds, Apollo फ़ार्मेसी और Amazon, आदि के साथ प्रतिस्पर्धा करती है.

हाल के महीनों में सौदों के मामले में ऑनलाइन फ़ार्मेसी सेक्टर शांत रहा है. पिछले साल अगस्त में, PharmEasy की पैरेंट कंपनी API Holdings Ltd ने बाजार की स्थितियों और रणनीतिक विचारों का हवाला देते हुए अपनी IPO लाने की योजना को टाल दिया था. इसके बजाय इसने EvolutionX Debt Capital, एक ग्रोथ-स्टेज फाइनेंसिंग प्लेटफॉर्म से डेट फंडिंग हासिल की. इसके अलावा, Tata 1mg ने पिछले साल अपने बहुसंख्यक शेयरधारक Tata Digital Ltd के नेतृत्व में एक यूनिकॉर्न वैल्यूएशन पर फंडिंग राउंड में 40 मिलियन डॉलर जुटाए.

फ्लिपकार्ट ने नवंबर 2021 में SastaSundar Marketplace Ltd में बहुमत हिस्सेदारी हासिल करके हेल्थकेयर सेगमेंट में भी प्रवेश किया, जो SastaSundar.com की पैरेंट कंपनी है. यह डील Flipkart Health Pvt. Limited के जरिए की गई थी.

फ्लिपकार्ट ने अपनी वेंचर कैपिटल (VC) शाखा Flipkart Ventures के जरिए पिछले साल कुछ निवेशकों के साथ डायबिटीज मैनेजमेंट प्लेटफॉर्म BeatO में भी निवेश किया था.

पिछले अगस्त में, वीसी शाखा ने छह वेंचर्स में प्रत्येक में 500,000 डॉलर का निवेश किया. यह निवेश कंपनी के एक्सेलरेटर प्रोग्राम, Flipkart Leap Ahead का हिस्सा था, जिसका उद्देश्य बड़े पैमाने पर शुरुआती स्तर के स्टार्टअप्स को मेंटरशिप प्रदान करना और इनोवेशन का निर्माण करना है.

Flipkart Internet Pvt. Ltd., जो एक ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस का संचालन करती है, ने मार्च 2022 को समाप्त होने वाले वित्तीय वर्ष में रेवेन्यू में 31% की वृद्धि 10,659 करोड़ दर्ज की. हालांकि उच्च परिवहन, मार्केटिंग और कानूनी खर्चों के कारण FY22 के दौरान शुद्ध घाटा 51% तक बढ़कर 4,362 करोड़ रुपये हो गया.

फ्लिपकार्ट अपने रेवेन्यू का बड़ा हिस्सा ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस, विज्ञापन सेवाओं, संग्रह सेवाओं और बीमा कंपनियों के लिए कॉर्पोरेट एजेंट सेवाओं सहित संबंधित सहायता सेवाओं से कमाती है.

यह भी पढ़ें
PCR, CT Scan, XRay को आसान बना रहा है स्टार्टअप Algorythmic Biologics

Daily Capsule
Freshworks' back-to-office call
Read the full story