2022 में गेमिंग इंडस्ट्री में उभर कर आए ये नए ट्रेंड्स

लॉकडाउन की वजह से कई लोगों का रुझान गेमिंग की तरफ बढ़ा, कई नए ट्रेंड उभर कर आए. इनमें कुछ ऐसे ट्रेंड थे जो कोविड बीतने के बाद भी गेमर्स के बीच बने हुए हैं और आगे के सालों में और चलन में रहने वाले हैं. इनमें मोबाइल गेमिंग, ईस्पोर्ट्स बेटिंग, सोशलाइजेशन, AR/VR गेमिंग जैसे ट्रेंड हैं.

2022 में गेमिंग इंडस्ट्री में उभर कर आए ये नए ट्रेंड्स

Sunday December 18, 2022,

3 min Read

 2022 गेमिंग इंडस्ट्री के लिए एक बेहतरीन साल रहा है. इस साल कई तरह के नए ट्रेंड्स ने जगह ली और कई पुराने ट्रेंड्स रुखसत हुए. कई नए गेम, जॉनर और कंज्यूमर हैबिट्स उभर कर आई हैं जिनका असर गेमिंग इंडस्ट्री पर नजर आया. आइए देखते हैं 2022 में गेमिंग इंडस्ट्री में सबसे बड़े ट्रेंड उभरकर आए हैं.

मोबाइल गेमिंग

इस साल मोबाइल गेमिंग की सबसे ज्यादा ट्रेंड में रहा. वैसे तो यह कई सालों से चलन में रहा है लेकिन हाल के सालों में इसमें एडवान्समेंट देखे गए हैं. मसलन- टाइप्स, वेरायटी से लेकर क्वॉलिटी तक में.

आज की तारीख में इतने शानदार स्मार्टफोन गेम मौजूद हैं जो स्टोरीलाइन, गेमप्ले और ग्राफिक्स के मामले में कंसोल गेम्स तक तो टक्कर दे रहे हैं.

इतना ही नहीं मोबाइल गेमिंग ने कई लोगों को खासकर पुराने जेरनेशन के लोगों को गेमिंग इंडस्ट्री से जोड़ने का काम किया है. जैसे वर्डल एक गेम बीच में काफी पॉपुलर हुआ था, ये गेम फोन पर आसानी से खेला जा सकता था. इसलिए लोगों ने इसे हाथों हाथ लिया और जमकर खेला. 

ईस्पोर्ट्स बेटिंग

2022 में ईस्पोर्ट्स इंडस्ट्री में भी काफी ग्रोथ देखी गई. खासकर ईस्पोर्ट्स बेटिंग ने काफी पॉपुलैरिटी बटोरी है. ईस्पोर्ट्स गेम में बेट(दांव) लगाकर जो यूजर्स को ऐसी फीलिंग आती है मानो उनके पास उस गेम में हिस्सेदारी मिल गई है. फोन पर बैठे बैठे ये एक्सपीरियंस मिलना गेमर्स को अलग ही थ्रिल देता है.

इसके अलावा आप एक बार में बड़ी आसानी और मिनटों में एक ही नहीं कई ईस्पोर्ट्स गेम पर दांव लगा सकते हैं. बल्कि यूजर्स ने बिटकॉइन या क्रिप्टोकरेंसी के जरिए भी बेटिंग करने का मौका मिला. इंडस्ट्री एक्सपर्ट्स के मुताबिक आने वाले समय में ये ट्रेंड और उभरने वाला है.

सोशलाइजेशन 

बीते कुछ सालों में गेमिंग एक सोशल एक्टिविटी की तरह बनकर उभरा है. कई गेम्स ने यूजर्स के गेमिंग एक्सपीरियंस को बढ़ाने के लिए सोशलाइजेशन फीचर पर काफी काम किया है.

इसमें कोविड-19 का बहुत बड़ा रोल रहा है. कोविड की वजह से लोगों का रुझान गेमिंग की तरफ बढ़ा और लोगों को एक दूसरे से जुड़ने का मौका मिला जो वो लॉकडाउन की वजह से नहीं कर पा रहे थे.

आजकल कई ऐसे गेम भी आ चुके हैं जो प्लेयर्स को हेडफोन्स की मदद से एक दूसरे प्लेयर्स के बात करने का मौका दे रहे हैं, ऐप में ही चैट करने और सोशल मीडिया कनेक्शन बनाने का ऑप्शन दे रहे हैं. सोशलाइजेशन गेमर्स को भी काफी रास आ रहा है क्योंकि वो अपने ही जैसे माइंडसेट वाले लोगों के साथ जुड़ पा रहे हैं.

AR/VR गेमिंग

वैसे तो AR/VR तो काफी समय से रहा है लेकिन बाकी अन्य ट्रेंड्स की तरह इसे भी हाल के सालों में काफी पॉपुलैरिटी मिली है. AR/VR गेमिंग यूजर्स को एक अलग ही तरह का एक्सपीरियंस देती है जो इंडस्ट्री में गेमर्स की पूरी नई आबादी को जोड़ सकती है.

अगर यह ट्रेंड इसी तरह बढ़ता रहा तो यकीनन गेमिंग इंडस्ट्री की ग्रोथ कई और गुना बढ़ जाएगी. टेक्नोलॉजी भी समय के साथ और एडवान्स होते जा रही है इसलिए ये देखना दिलचस्प होगा कि आने वाले सालों में ये ट्रेंड कैसे उभर कर होता है.