शंघाई सहयोग संगठन (SCO) स्टार्टअप फोरम 2023 में क्या रहा खास, एक झलक...

SCO के सदस्य देशों में स्टार्टअप के लिए इनोवेशन और वैश्विक संपर्क को बढ़ावा देने के लिए SCO स्टार्टअप फोरम का तीसरा संस्करण नई दिल्ली में आयोजित किया गया.

शंघाई सहयोग संगठन (SCO) स्टार्टअप फोरम 2023 में क्या रहा खास, एक झलक...

Friday May 12, 2023,

3 min Read

स्टार्टअप इंडिया, उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग, वाणिज्य मंत्रालय ने हाल ही में नई दिल्ली में पहली बार शंघाई सहयोग संगठन (SCO) स्टार्टअप फोरम (Shanghai Cooperation Organization - SCO Startup Forum) के तीसरे संस्करण का आयोजन किया. इससे पहले वर्चुअल रूप से दो संस्करण सफलतापूर्वक आयोजित किये जा चुके हैं. इसका उद्देश्य शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के सदस्य देशों के बीच स्टार्टअप के बारे में बातचीत को बढ़ाना, अधिक रोजगार सृजन और युवाओं को नवाचार समाधान बनाने के लिए प्रोत्साहित करना है.

इस फोरम में सरकारी अधिकारियों, निजी उद्योगों के प्रमुखों और स्टार्टअप्स और इनक्युबेटर्स सहित एससीओ सदस्य देशों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया. केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री सोम प्रकाश ने राष्ट्र की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने में स्टार्टअप इकोसिस्टम की भूमिका पर मुख्य भाषण दिया. वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग की संयुक्त सचिव श्रीमती मनमीत कौर नंदा ने भारत के स्टार्टअप यात्रा और भारत सरकार द्वारा स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए की जा रही पहल पर विस्तार से बताया.

एससीओ सदस्य देशों के साथ विचार-विमर्श का यह अवसर सहयोग और उद्यमिता की भावना पर केंद्रित था. इसका उद्देश्य नवाचार विकास को बढ़ावा देना, विशेष रूप से सामान्य प्लेटफार्मों के निर्माण और एससीओ सदस्य देशों के बीच विचारों का आदान-प्रदान था.

इस एजेंडे को बढ़ावा देने और प्राप्त करने के लिए विभिन्न स्टार्टअप्स के बीच द्विपक्षीय बैठकें आयोजित की गईं.

इसके अतिरिक्त, प्रतिनिधियों ने स्टार्टअप इंडिया द्वारा 'स्टार्टअप इकोसिस्टम के विकास में द्विपक्षीय और बहुपक्षीय जुड़ाव की भूमिका' पर आयोजित एक कार्यशाला में भी भाग लिया. कार्यशाला में सदस्य देशों के बीच घनिष्ठ संबंधों को सुदृढ़ बनाने, स्टार्टअप इकोसिस्टम को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न माध्यमों को समझने के लिए विचार-विमर्श का एक सत्र भी आयोजित किया गया था.

बाद में प्रतिनिधिमंडल ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT), दिल्ली में फाउंडेशन फॉर इनोवेशन एंड टेक्नोलॉजी ट्रांसफर (FITT) का दौरा किया. यहां एक स्टार्टअप प्रदर्शनी का आयोजन किया गया था. इस दौरान प्रतिभागियों ने भारत में उद्यमिता के विभिन्न पक्षों को जाना और भारत में अपने व्यावसायों के विस्तार के अवसरों की जानकारी हासिल की. इनक्यूबेटर यात्रा के दौरान भारत में स्केलिंग चरण पर स्टार्टअप का समर्थन करने के लिए वित्त पोषण, मेंटरशिप और अवसरों की बारीकियों को उजागर करने पर भी ध्यान केंद्रित किया गया इस तरह के कार्यक्रमों का नेतृत्व करके, भारत ने नवाचार पहल का विस्तार करने, पूरे इकोसिस्टम को एकजुट करने और अन्य एससीओ सदस्य देशों को इसी तरह के कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए प्रेरित किया. इससे पहले, स्टार्टअप इंडिया ने एससीओ सदस्य देशों के लिए विभिन्न पहलों का आयोजन किया था, इनमें शामिल हैं -

एससीओ स्टार्टअप फोरम 2020 : एससीओ स्टार्टअप फोरम ने एससीओ सदस्य देशों के बीच स्टार्टअप के लिए बहुपक्षीय सहयोग और जुड़ाव की नींव रखी.

एससीओ स्टार्टअप फोरम 2021: दो दिवसीय फोरम भारतीय संस्कृति का प्रतिनिधित्व करने वाले एक अनुकूलित मंच के माध्यम से वर्चुअल रूप से आयोजित किया गया था. इस दौरान एससीओ स्टार्टअप हब, एससीओ स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र के लिए संपर्क सूत्र लॉन्च किया गया था.

फोकस्ड मेंटरशिप प्रोग्राम: एससीओ स्टार्टअप संस्थापकों के बीच क्षमता निर्माण के लिए नामांकित स्टार्टअप के लिए 3 महीने की वर्चुअल मेंटरशिप सीरीज 'स्टार्टिंग-अप' का आयोजन किया गया था.

यह भी पढ़ें
ICMR ने ड्रोन से की ब्लड बैग की डिलीवरी, सफल रहा ट्रायल


Edited by रविकांत पारीक