यूं ही नहीं 1000 अंक से भी ज्यादा उछला सेंसेक्स, इन 4 वजहों के चलते निवेशकों को हुआ 4 लाख करोड़ का मुनाफा

शेयर बाजार में शुरुआती कारोबार के दौरान ही सेंसेक्स में 1000 अंकों से भी अधिक की तेजी देखी गई. चंद मिनटों में ही निवेशकों को करीब 4 लाख करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है. जानिए किन वजहों से आई ये तेजी.

यूं ही नहीं 1000 अंक से भी ज्यादा उछला सेंसेक्स, इन 4 वजहों के चलते निवेशकों को हुआ 4 लाख करोड़ का मुनाफा

Friday October 14, 2022,

3 min Read

शेयर बाजारों (Share Market Latest Update) के लिए इस कारोबारी हफ्ते का आखिरी दिन बहुत ही शानदार साबित हुआ है. एक झटके में सेंसेक्स 1000 अंक से भी अधिक चढ़ गया है. सेंसेक्स (Sensex) खुला ही 927 अंकों की तगड़ी तेजी के साथ. गुरुवार को सेंसेक्स करीब 58,162 अंकों के स्तर पर बंद हुआ था, जो आज लगभग 57,235 अंकों के स्तर पर खुला. शुरुआती कुछ घंटों के ही कारोबार में एक ऐसा भी वक्त आया जब सेंसेक्स ने 1087 अंकों की तेजी दिखाई और 58,322 अंकों का दिन का उच्चतम स्तर छू लिया. दोपहर 12 बजे के करीब सेंसेक्स 58,300 अंकों के करीब कारोबार कर रहा था. सवाल ये है कि आखिर इतनी बड़ी तेजी क्यों (Why Share Market Rising) आई?

क्यों आई इतनी बड़ी तेजी?

सेंसेक्स में एक झटके में इतनी बड़ी तेजी देखने को मिली कि निवेशकों को खूब फायदा हुआ है. इस मुनाफे की वजह से निवेशकों को करीब 4 लाख करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है. बीएसई के मार्केट कैप में करीब 4 लाख करोड़ रुपये की तेजी आई, जिसके बाद मार्केट कैप 273.82 लाख करोड़ रुपये हो गया. आइए जानते हैं किन वजहों से ये तगड़ी तेजी देखने को मिली है.

1- कच्चे तेल की कीमतें: कच्चे तेल की कीमतें भी शेयर बाजार में तेजी की एक बड़ी वजह हैं. ब्रेंट क्रूड और डब्ल्यूटीआई क्रूड ऑयल की कीमतें इस हफ्ते में करीब 3 फीसदी तक गिरी हैं. कुछ हफ्ते पहले तक इसके दाम बढ़ते ही जा रहे थे, क्योंकि मंदी का डर सता रहा था. अभी ब्रेंट क्रूड के दाम करीब 95 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच चुके हैं.

2- रुपये में आई मजबूती: अगर डॉलर और रुपये की बात करें तो डॉलर के मुकाबले रुपया थोड़ा मजबूत हुआ है. पिछले सेशन में रुपया करीब 3 पैसे चढ़ा है और 82.21 रुपये के स्तर पर पहुंच चुका है.

3- कंपनियों के शानदार नतीजे: इंफोसिस के नतीजे बेहद शानदार रहे हैं. इसकी वजह से कंपनी के शेयर में भी तगड़ी तेजी देखने को मिली है. आज यानी 14 अक्टूबर को इंफोसिस का शेयर 5 फीसदी से भी अधिक चढ़ गया है. इंफोसिस सेंसेक्स की टॉप-10 कंपनियों में से एक है, ऐसे में इसमें तेजी की वजह से पूरे सेंसेक्स में तगड़ी तेजी देखने को मिलती है. इंफोसिस के अलावा एचसीएल टेक, विप्रो और माइंडट्री जैसी आईटी कंपनियों के भी नतीजे आ चुके हैं.

4- मजबूत वैश्विक संकेत: करीब 6 दिनों से गिरावट दिखाने के बाद अमेरिकी मार्केट में गुरुवार को एक तेजी देखने को मिली. गुरुवार को डाऊ जोन्स में 2.8 फीसदी और नैसडेक में 2.2 फीसदी की तेजी देखने को मिली. ये सब इसके बावजूद हुआ है, जब आंकड़े दिखाते हैं कि अमेरिका में महंगाई ऊंचे स्तर पर ही रहने वाली है. ग्लोबल लेवल पर तेजी की वजह से भी भारतीय बाजार में तेजी देखने को मिल रही है.