स्वास्थ्य सेवाओं में ऑनलाइन समीक्षा का समर्थन क्यों करना चाहिए

स्वस्थ्य सेवाओं में, जहाँ भरोसा और विश्वास सबसे महत्‍वपूर्ण होते हैं, ऑनलाइन समीक्षाओं का प्रभाव कम करके नहीं आँका जा सकता. ऑनलाइन समीक्षायें और मूल्यांकन कोई वर्चुअल कहानी तक सीमित नहीं होते, बल्कि उनका वास्तविक परिणाम होता है.

स्वास्थ्य सेवाओं में ऑनलाइन समीक्षा का समर्थन क्यों करना चाहिए

Sunday December 24, 2023,

6 min Read

मैंने स्वास्थ्य प्रणालियों में धीरे-धीरे विकास होते देखा है. बेहद शिक्षित और तकनीक के जानकार रोगियों की एक नई पीढ़ी का उदय हुआ है. इनके पास इन्फॉर्मेशन टेक्‍नोलॉजी की शानदार समझ है. वे अपने लिए, अपने पेरेंट्स और रिश्तेदारों के लिए सर्वश्रेष्‍ठ संभव मेडिकल और क्लिनिकल विकल्प खोजने के लिए आईटी टूल्स का प्रयोग करते हैं और खुल कर संवाद करते हैं.

परन्तु राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग (नेशनल मेडिकल कमीशन) द्वारा अगस्त 2023 में जारी की गयी रजिस्टर्ड मेडिकल प्रक्शनेर (प्रोफेशनल कंडक्ट) रेगुलेशंस, 2023 दिशानिर्देशों में डॉक्टरों पर ऑनलाइन समीक्षा और मूल्यांकन (रिव्यू एंड रेटिंग्स) प्‍लेटफॉर्म्स में भाग लेने पर अनेक प्रतिबन्ध लगाए गए हैं. इन प्लैटफॉर्म्स में डॉक्टरों और अस्पतालों की भागीदारी रोकने से रोगियों और उनके परिवार के सदस्यों के लिए जानकारी की सुलभता काफी सीमित हो जायेगी. उल्लेखनीय है कि सरकार ने विरोध के चलते इन दिशानिर्देशों को स्थायी रूप से ठन्डे बस्ते में डाल दिया है. 

प्रत्येक रोगी को उनके स्वास्थ्य के बारे में पर्याप्त और प्रासंगिक जानकारी पाने का स्पष्ट अधिकार है. इसमें उनकी बीमारी की प्रकृति और कारण, तात्कालिक और संपुष्ट निदानों, प्रस्तावित जाँचों, प्रबंधन और संभावित जटिलताओं के बारे में विस्तृत जानकारी सम्मिलित हैं. इसके अलावा, रोगियों को उपचार के प्रत्याशित खर्च के सम्बन्ध में पारदर्शिता का भी अधिकार है. डॉक्टरों और अस्पतालों को इन वित्तीय विवरणों के बारे में अवश्य बताना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि रोगियों और उनकी देखभाल करने वालों को रोगी की अवस्था या उपचार की योजना में बदलावों के चलते होने वाले अतिरिक्त खर्चों की पूरी जानकारी दी जाए. कानूनी व्यवस्था यह भी सुनिश्चित करती है कि रोगियों और उनके परिवारों को उनके उपचार में सम्मिलित प्रोफेशनल की हैसियतों और सम्बद्ध सभी देखभाल प्रदाताओं की पहचान के बारे में जानकारी दी जानी चाहिए.

अब वह समय नहीं रहा जब रोगी केवल अपने फैमिली डॉक्टर की सलाह या सुनी-सुनाई बातों पर भरोसा कर लेते थे. इन्टरनेट और सोशल मीडिया के प्रसार ने हेल्थकेयर से जुडी जानकारी को सर्वसुलभ बना दिया है. अब रोगी विभिन्न चिकित्सीय अवस्थाओं, उपचार के विकल्पों, और हेल्थकेयर प्रदाताओं के बारे में सक्रिय होकर खुद जानकारी ले रहे हैं. इस सहयोगी नॉलेज-शेयरिंग से रोगियों को ढेरों जानकारी प्राप्त होती है और वे पूरी समझदारी से स्वास्थ्य देखभाल से सम्बंधित फैसले कर रहे हैं. यह बदलाव परम्परागत चिकित्सक-रोगी सम्बन्ध में जबरदस्त बदलाव का संकेत है, जहाँ रोगी अपने स्वास्थ्य की देखभाल में निष्क्रिय प्राप्तकर्ता से सक्रिय सहभागी बन रहे हैं.

why-support-online-reviews-in-healthcare

सांकेतिक चित्र

अध्‍ययनों से पता चला है कि रोगी की अधिक सहभागिता से निर्णय लेने के नतीजों में सुधार होता है क्योंकि रोगी प्रश्न पूछने और हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स के साथ प्रभावकारी रूप से सहयोग करने के ज्यादा इच्छुक होते हैं. साझा निर्णय-निर्धारण के लिए विकल्पों और प्राथमिकताओं के बारे में सार्थक चर्चा के लिए आवश्यक जानकारी की सुलभता जरूरी है. परम्परागत रूप से, निर्णय-निर्धारण कंसल्टेशन रूम तक सीमित रहा है, जहाँ उपचार के विकल्पों पर फोकस किया जाता है और एक बार ही परामर्श होता है. लेकिन अब निर्णय करना एक बहुआयामी प्रक्रिया हो गई है और इसमें इन्टरनेट के संसाधनों का बड़ा योगदान है.

स्वस्थ्य सेवाओं में, जहाँ भरोसा और विश्वास सबसे महत्‍वपूर्ण होते हैं, ऑनलाइन समीक्षाओं का प्रभाव कम करके नहीं आँका जा सकता. ऑनलाइन समीक्षायें और मूल्यांकन कोई वर्चुअल कहानी तक सीमित नहीं होते, बल्कि उनका वास्तविक परिणाम होता है.

ये समीक्षायें एक शक्तिशाली सामाजिक प्रमाण के रूप में काम करती हैं, जिससे संभावित रोगियों में भरोसा और विश्वास पैदा होता है. अध्ययनों से पता चला है कि रोगियों/ देखभाल करने वालों का एक बड़ा बहुमत फैसला करने के पहले इन समीक्षाओं पर विचार करता है. एक स्पष्ट समीक्षा दुविधाग्रस्त रोगी के लिए निर्याणक घटक हो सकता है और उसे दूसरों की अपेक्षा किसी ख़ास हेल्थकेयर प्रदाता का चुनाव करने का उत्साह मिल सकता है. इसके विपरीत, नकारात्मक समीक्षायें भावी रोगियों को विमुख कर सकती हैं, जिससे हेल्थकेयर सुविधा का उपयोग करने के प्रति अनिच्छा पैदा होने की संभावना रहती है.

इसके अलावा, ऑनलाइन समीक्षाओं और मूल्यांकनों से अनेक फायदे मिलते हैं : पहला, वे रोगियों को अपनी बात कहने का अधिकार देकर सशक्त बनाते हैं. दूसरा, इन समीक्षाओं पर ध्यान देने वाली कंपनियों को रोगी की प्राथमिकताओं और सुधार के क्षेत्रों के बारे में बहुमूल्य जानकारी प्राप्त होती है. यह ज्ञान हेल्थकेयर प्रदाताओं को अपने सेवाओं में लगातार सुधार करने में सक्षम बनाता है और इससे आखिरकार रोगी को बेहतर अनुभव तथा स्वास्थ्य देखभाल के बेहतर परिणाम प्राप्त होते हैं.

ऑनलाइन समीक्षाओं के सक्रिय प्रबंधन और उन पर त्वरित प्रतिक्रिया के द्वारा हेल्थकेयर प्रदाता रोगी की संतुष्टि और उच्च गुणवत्‍ता की देखभाल के प्रति अपनी वचनबद्धता प्रदर्शित करते हैं. इससे समुदाय में उनके प्रति भरोसा और विश्वास और अधिक मजबूत होता है. अंत में, रोगे के अनुभव में पारदर्शिता और जानकारी प्रदान करके, वे जानकारी में विसंगति को कम करने में मदद करते हैं, जहाँ रोगियों को हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स की तुलना में कम ज्ञान होता है. हालाँकि, ऑनलाइन प्लैटफॉर्म्स रोगियों के लिए मूल्यवान संसाधन हैं, तो भी वे सम्बद्ध जोखिमों से मुक्त नहीं हैं. प्लैटफॉर्म्स पर अप्रामाणिक या असत्यापित सूचना होने से रोगी भ्रमित हो सकता है और इस प्रकार उसके फैसले गलत हो सकते हैं. दुर्भावनापूर्ण या निहित स्वार्थ आधारित कंटेंट रोगियों के मन में संदेह या पूर्वाग्रह पैदा कर सकते हैं.

why-support-online-reviews-in-healthcare

सांकेतिक चित्र

लेकिन तकनीक ने हमें इस प्रकार के दुर्भावनापूर्ण कंटेंट को फ़िल्टर करने, मॉनिटर करने और नियंत्रित या डिलीट करने के लिए साधन भी प्रदान किया है. जिम्मेदार डिजिटल हेल्थकेयर प्लैटफॉर्म्स जानकारी की शुद्धता और प्रमाणिकता सुनिश्चित करने के उपाय करते हैं और इससे रोगी को सुरक्षित रूप से डिजिटल परिदृश्य में छानबीन करने में मदद मिलती है. रोगी इंटरनेट द्वारा उपलभ्ध जानकारी की शक्ति का प्रयोग एक मजबूत कानूनी ढाँचे के साथ अपने स्वास्थ्य के बारे में सूचित विकल्प चुनने के लिए करते हैं, जो सम्पूर्ण पारदर्शिता के उनके अधिकार का समर्थन करते हैं. जिम्मेदार प्रयोग और चौकसी के साथ डिजिटल प्लैटफॉर्म्स रोगियों को लगातार मजबूत करने के साथ-साथ जानकारी के बेलगाम प्रवाह से जुड़े जोखिमों को कम कर सकते हैं.

डॉक्टरों, अस्पतालों और विशेषज्ञों की समीक्षायें तथा मूल्यांकन वह महत्वपूर्ण जानकारी हैं, जो हमें अपनी चिकित्सीय ज़रूरतों को सबसे बढ़िया ढंग से पूरा करने वाले अस्पताल का चुनाव करने में सहायक होती हैं. यह वैश्विक पद्धतियों के अनुरूप है, जहाँ समीक्षाओं की उपयोगिता की पुष्टि करने के लिए पर्याप्त डेटा उपलब्ध हैं. यूएस, यूके, जर्मनी, नीदरलैंड्स और ऑस्ट्रेलिया जैसे कुछ देशों में तो अनेक प्रकार के अलग-अलग समीक्षा और मूल्यांकन प्लैटफॉर्म्स पहले ही से उपलब्ध हैं. यूके में नेशनल हेल्थ सर्विसेज (एनएचएस) वेबसाइटों का परिचालन करती है जिनमें हेल्थकेयर सेवाओं के लिए रोगी की समीक्षाओं और मूल्यांकनों को शामिल किया जाता है.

जैसे-जैसे हम हेल्थकेयर टेक्‍नोलॉजी को अपनाने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं, सरकार को सभी विकास के केंद्र में रोगियों का स्थान सुनिश्चित करना चाहिए. इसे साकार करने के लिए ऑनलाइन समीक्षा और मूल्यांकन प्लैटफॉर्म्स में डॉक्टरों और अस्पतालों की सहभागिता को प्रोत्साहित करने के लिए ढाँचा तैयार करना आवश्यक है.

(लेखिका डॉ. फौज़िया खान राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की ओर से राज्य सभा सदस्य हैं. वे स्वास्थ्यसेवा से सम्बंधित विषयों से जुड़ी हैं. आलेख में व्यक्त विचार लेखिका के हैं. YourStory का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है.)


Edited by रविकांत पारीक