नौकरी छोड़कर खुद का काम करने की चाहत रखते हैं अधिकतर भारतीय: स्टडी

नौकरी छोड़कर खुद का काम करने की चाहत रखते हैं अधिकतर भारतीय: स्टडी

Friday August 11, 2017,

2 min Read

स्टडी के अनुसार भारतीय कामगारों में उद्यमी बनने की इच्छा सबसे अधिक है और आधे से अधिक यानी 56 प्रतिशत लोग अपनी मौजूदा नौकरी छोड़कर खुद का काम शुरू करने की इच्छा रखते हैं।

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर


 83 फीसदी भारतीय कामगार उद्यमी बनने की इच्छा रखते हैं जबकि वैश्विक स्तर पर यह औसत 53 प्रतिशत है।

सर्वे में शामिल लगभग 86 प्रतिशत ने संकेत दिया है कि भारत में स्टार्टअप शुरू करने के लिए अनुकूल माहौल है। 

आजकल युवाओं में खुद का बिजनेस स्टार्ट करने की इच्छा सबसे अधिक प्रबल होती है। भारत में खुल रहे नित नए स्टार्ट अप इसका सबसे अच्छा उदाहरण हैं। एक स्टडी के अनुसार भारतीय कामगारों में उद्यमी बनने की इच्छा सबसे अधिक है और आधे से अधिक यानी 56 प्रतिशत लोग अपनी मौजूदा नौकरी छोड़कर खुद का काम शुरू करने की इच्छा रखते हैं। रेंडस्टेड वर्कमोनिटर के सर्वे में यह निष्कर्ष निकाला गया है।

इसके अनुसार 83 फीसदी भारतीय कामगार उद्यमी बनने की इच्छा रखते हैं जबकि वैश्विक स्तर पर यह औसत 53 प्रतिशत है। रेंडस्टेड इंडिया के प्रबंध निदेशक और सीईओ पॉल डुपिस ने कहा, 'स्थिर कारोबारी माहौल, एफडीआई सीमा बढ़ाने संबंधी बाजारोन्मुखी सुधारों, जीएसटी के कार्यान्वयन और मेक इन इंडिया व डिजिटल इंडिया जैसी पहलों से नई आकांक्षा और महत्वाकांक्षा वाला भारतीय वर्ग पल्वित हो रहा है।'

सर्वेक्षण के अनुसार 45-54 वर्ष आयुवर्ग में 37 प्रतिशत लोग ही अपना खुद का काम शुरू करना चाहते हैं जबकि 25-34 वर्ष आयु वर्ग में 72 प्रतिशत और 35-44 प्रतिशत आयुवर्ग में 61 प्रतिशत लोग अपना काम शुरू करना चाहते हैं। सर्वे में शामिल लगभग 86 प्रतिशत ने संकेत दिया है कि भारत में स्टार्टअप शुरू करने के लिए अनुकूल माहौल है। वहीं 84 प्रतिशत का कहना है कि भारत सरकार देश में नए स्टार्टअप का समर्थन कर रही है।