छठपूजा हो या दुर्गापूजा, सारा सामान अब बस एक क्लिक पर

By yourstory हिन्दी
July 03, 2017, Updated on : Thu Sep 05 2019 07:16:30 GMT+0000
छठपूजा हो या दुर्गापूजा, सारा सामान अब बस एक क्लिक पर
भारतीय स्टार्टअप क्री8कॉम ने तैयार किया देश का पहला ऐसा ई-कॉमर्स प्लेटफार्म, जहां आपको मिलेगा ज़रूरत का सारा सामान सिर्फ एक क्लिक पर...
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

लिस्ट चाहे कितनी भी लंबी बन जाये, लेकिन पूजा-पाठ का सामान लाते हुए, कुछ न कुछ छूट ही जाता है, ऐसे में आ गया है एक ऐसा ई-कॉमर्स प्लैटफॉर्म जो करेगा आपकी सारी ज़रूरतों को पूरा...

image


भारतीय स्टार्टअप क्री8कॉम ने देश का पहला ऐसा ई-कॉमर्स प्लेटफार्म तैयार किया है, जहां लोगों को उनके समुदाय के अनुरूप सारा सामान एक क्लिक पर उपलब्ध हो जाएगा। यह सुविधा सबसे पहले बंगाल के लोगों के लिए शुरू की गई थी।

स्टार्टअप इंडिया के तहत क्री8कॉम द्वारा शुरू की गई इस सेवा जिसके तहत एक समुदाय के लोगों को अपने त्योहारों और रीति रिवाजों के मुताबिक समान एक इस ई-कॉमर्स प्लेटफार्म पर आसानी से मिलेगा।

घर में शादी-ब्याह का सीजन हो या किसी त्योहार का उत्सव, पूजा-पाठ के लिए ढेरों सामग्रियां लगती हैं। हमें उसे खरीदने के लिए इस बाजार से उस बाजार भटकना पड़ता है। लेकिन हर बार इतनी भागा-दौड़ी के बावजूद कोई न कोई सामान छूट ही जाता है। कभी पूजा के चावल तो कभी रोली। घर लौटो तो वापस बाजार की तरफ भागना पड़ता है इन छूट गए सामानों की लिस्ट लेकर। लेकिन अब आपको इतनी मशक्कत करने की जरूरत नहीं है क्योंकि एक ऐसा ई-कॉमर्स प्लैटफॉर्म आ गया है। जहां ये सारे सामान ऑनलाइन ही ऑर्डर किए जा सकेंगे। भारतीय स्टार्टअप क्री8कॉम ने देश का पहला ऐसा ई-कॉमर्स प्लेटफार्म तैयार किया है, जहां लोगों को उनके समुदाय के अनुरूप सारा सामान एक क्लिक पर उपलब्ध हो जाएगा। यह सुविधा सबसे पहले बंगाल के लोगों के लिए शुरू की गई थी।

ये भी पढ़ें,

पूजा के बासी फूलों से निखिल गम्पा बना रहे हैं अगरबत्तियां

क्या करता है क्री8कॉम

स्टार्टअप इंडिया के तहत क्री8कॉम द्वारा शुरू की गई इस सेवा जिसके तहत एक समुदाय के लोगों को अपने त्योहारों और रीति रिवाजों के मुताबिक समान एक इस ई-कॉमर्स प्लेटफार्म पर आसानी से मिलेगा। मसलन छठ पूजा के लिए बिहार के लोगों को उनके क्षेत्र और दुर्गा पूजा के लिए बंगाल के लोगों को उनके क्षेत्र और जरूरत का सामान खरीदने के लिए भटकना नहीं होगा, बल्कि उन्हें इस सारा सामान ऑनलाइन उपलब्ध हो जाएगा। इसमें उन्हें बंगाली मिठाई, मछली, पका-पकाया भोजन, कपड़े, पूजन सामग्री इत्यादि सभी जरूरत का सामान एक ही स्थान पर उपलब्ध होगा। इससे उन्हें दुर्गा पूजा, शादी-ब्याह इत्यादि के लिए अपने समुदाय की जरूरत के सामान को खरीदने के लिए शहर भर में भटकने से निजात मिलेगी।

और भी शहरोें में शुरू हो रही ये सेवा

क्री8कॉम द्वारा जारी की गई एक सूचना के मुताबिक अभी इस सेवा को दिल्ली-एनसीआर और जयपुर में शुरू किया गया है। कंपनी इसमें बिहारी, उड़िया और मलयाली समुदाय के लिए भी सेवाओं को अगले दो माह में शुरू करने की तैयारी में है। अगले महीने यह सेवा को आगरा में शुरू होने जा रही है। कंपनी की निदेशक प्रोमिता सेनगुप्ता ने कहना है, कि यह परियोजना उनके दिल के बहुत करीब है। यह बाजार में परिवर्तन लाने वाली एक अनोखी पहल है।

ये भी पढ़ें,

'बिरा' से करोड़पति बने बीयरप्रेन्योर अंकुर जैन