इस पोस्टमैन ने 30 साल तक रोजाना 15 किलोमीटर पैदल चलकर बांटे खत, लोगों ने कहा- मिलना चाहिए पद्मश्री

इस पोस्टमैन ने 30 साल तक रोजाना 15 किलोमीटर पैदल चलकर बांटे खत, लोगों ने कहा- मिलना चाहिए पद्मश्री

Thursday July 09, 2020,

2 min Read

30 साल की नौकरी के दौरान डी सिवान ने जंगल और दुर्गम रास्तों को पार करते हुए खत पहुंचाने का काम किया है।

चित्र: सुप्रिया साहू, IAS

चित्र: सुप्रिया साहू, IAS



सोशल मीडिया पर एक पोस्टमैन की तस्वीर इन दिनों बड़ी तेजी से वायरल हो रही है, जो बीते हफ्ते की रिटायर हुए हैं। तस्वीर में नज़र आ रहे पोस्टमैन डी सिवान बीते 30 सालों से हर रोज़ करीब 15 किलोमीटर का जंगल पार कर चिट्ठियाँ बांटने जाते थे। सिवान की कर्तव्यनिष्ठा की तारीफ करते हुए लोग सरकार से उन्हे पद्मश्री देने की गुजारिश कर रहे हैं।


सिवान की इस 30 साल की ड्यूटी के दौरान जंगल से गुजरते हुए कई बार उनका सामना जंगली जानवरों से भी हुआ, लेकिन इन मुश्किल हालातों के बीच उन्होने काम के प्रति अपने समर्पण को कभी कमजोर नहीं पड़ने दिया।


ट्विटर पर डी सिवान की तस्वीर आईएएस अधिकारी सुप्रिया साहू ने पोस्ट की है। सुप्रिया ने तस्वीर शेयर करते हुए लिखा,

“पोस्टमैन डी सिवान जो हर रोजाना घने जंगलो में 15 किलोमीटर चलकर कोनूर क्षेत्र में पत्र डिलीवर करने जाते थे। इस दौरान उनका सामना जंगई हाथी, भालू और झरनों व सुरंगों से भी हुआ। पूरी निष्ठा के साथ 30 सालों तक नौकरी करने के बाद बीते हफ्ते वो रिटायर हो गए।”

सुप्रिया के इस ट्वीट को ट्विटर पर जमकर प्रतिक्रिया मिली। इस ट्वीट को लगभग 13 हज़ार बार रीट्वीट और 64 हज़ार बार लाइक किया जा चुका है।


ट्वीट पर कमेन्ट करते हुए लोग डी सिवान की कर्तव्यनिष्ठा को सलाम ठोंक रहे हैं। साथ ही डी सिवान के लिए पद्मश्री की भी मांग कर रहे हैं।