Brands
YSTV
Discover
Events
Newsletter
More

Follow Us

twitterfacebookinstagramyoutube
Yourstory

Brands

Resources

Stories

General

In-Depth

Announcement

Reports

News

Funding

Startup Sectors

Women in tech

Sportstech

Agritech

E-Commerce

Education

Lifestyle

Entertainment

Art & Culture

Travel & Leisure

Curtain Raiser

Wine and Food

Videos

ड्रोन सेक्टर में PLI स्कीम की दूसरी लिस्ट में इन 23 ड्रोन स्टार्टअप्स को मिली जगह

पीएलआई लाभार्थियों की अस्थायी सूची 2021-22 के बगैर-ऑडिट किए वित्तीय नतीजों और अन्य जानकारियों के आधार पर तैयार की गई है. शॉर्टलिस्ट किए गए लाभार्थियों ने वित्त वर्ष 2021-22 में बिक्री राजस्व और मूल्यवर्धन से संबंधित पात्रता मानदंड को पूरा कर लिया है.

ड्रोन सेक्टर में PLI स्कीम की दूसरी लिस्ट में इन 23 ड्रोन स्टार्टअप्स को मिली जगह

Thursday July 07, 2022 , 3 min Read

नागरिक उड्डयन मंत्रालय (Ministry of Civil Aviation - MoCA) ने ड्रोन और ड्रोन पुर्ज़ों (drone and drone components) के उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन (Production-Linked Incentive - PLI) स्कीम के तहत 23 लाभार्थियों की दूसरी अस्थायी सूची जारी की है. इनमें 12 ड्रोन निर्माता (drone manufacturers) और 11 ड्रोन पुर्ज़े निर्माता (drone component manufacturers) शामिल हैं. मंत्रालय ने 4 मई 2022 को पात्र निर्माताओं से आवेदन आमंत्रित किए और इन्हें जमा करने की अंतिम तिथि 20 मई 2022 थी.

पीएलआई लाभार्थियों की अस्थायी सूची 2021-22 के बगैर-ऑडिट किए वित्तीय नतीजों और अन्य जानकारियों के आधार पर तैयार की गई है. शॉर्टलिस्ट किए गए लाभार्थियों ने वित्त वर्ष 2021-22 में बिक्री राजस्व और मूल्यवर्धन से संबंधित पात्रता मानदंड को पूरा कर लिया है.

इन शॉर्टलिस्ट किए गए ड्रोन निर्माताओं की सूची इस प्रकार है:

  1. Aarav Unmanned Systems, Bengaluru, Karnataka
  2. Asteria Aerospace, Bengaluru, Karnataka
  3. Dhaksha Unmanned Systems, Chennai, Tamil Nadu
  4. EndureAir Systems, Noida, Uttar Pradesh
  5. Garuda Aerospace, Chennai, Tamil Nadu
  6. Ideaforge Technology, Mumbai, Maharashtra
  7. vii. IoTechWorld Avigation, Gurugram, Haryana
  8. Omnipresent Robot Technologies, Gurugram, Haryana
  9. Raphe Mphibr, Noida, Uttar Pradesh
  10. Roter Precision Instruments, Roorkee, Uttarakhand
  11. Sagar Defence Engineering, Pune, Maharashtra
  12. Throttle Aerospace Systems, Bengaluru, Karnataka

शॉर्टलिस्ट किए गए ड्रोन पुर्ज़ा निर्माताओं की सूची इस प्रकार है:

  1. Absolute Composites, Bengaluru, Karnataka
  2. Adani-Elbit Advanced Systems India, Hyderabad, Telangana
  3. Adroitec Information Systems, New Delhi
  4. Alpha Design Technologies, Bengaluru, Karnataka
  5. Dynamake Engineering, Hyderabad, Telangana
  6. Imaginarium Rapid, Mumbai, Maharashtra
  7. SASMOS HET Technologies, Bengaluru, Karnataka
  8. Servocontrols Aerospace India, Belagavi, Karnataka
  9. Valdel Advanced Technologies, Bengaluru, Karnataka
  10. ZMotion Autonomous Systems, Bengaluru, Karnataka
  11. Zuppa Geo Navigation Technologies, Chennai, Tamil Nadu

इन उपर्युक्त कंपनियों का संयुक्त वार्षिक बिक्री कारोबार वित्त वर्ष 2020-21 में 88 करोड़ रुपये से बढ़कर वित्त वर्ष 2021-22 में 319 करोड़ रुपये (अनऑडिटेड) हो गया है.

ड्रोन और ड्रोन पुर्ज़ों के लिए पीएलआई योजना के पात्रता मानदंड में ड्रोन कंपनियों के लिए 2 करोड़ रुपये का और ड्रोन पुर्ज़ा निर्माताओं के लिए 50 लाख रुपये का वार्षिक बिक्री कारोबार; और बिक्री कारोबार का 40% से ज्यादा का मूल्यवर्धन शामिल है.

ड्रोन और ड्रोन पुर्ज़ों के लिए पीएलआई योजना को 30 सितंबर 2021 को अधिसूचित किया गया था. इस योजना के तहत, 120 करोड़ रुपये का कुल प्रोत्साहन तीन वित्तीय वर्ष में फैला हुआ है जो वित्त वर्ष 2020-21 में सभी घरेलू ड्रोन निर्माताओं के संयुक्त कारोबार का लगभग दोगुना है. पीएलआई दर मूल्यवर्धन की 20% है जो अन्य पीएलआई योजनाओं में सबसे ज्यादा है. ड्रोन पीएलआई योजना की एक अनूठी विशेषता ये है कि जो निर्माता 2021-22 में मूल्यवर्धन सीमा को पूरा करने में नाकाम रहते हैं, उन्हें बाद के वर्ष में अपने खोए हुए प्रोत्साहन को पाने की अनुमति दी जाएगी अगर वे उस कमी को 2022-23 में पूरा कर लेते हैं.

इस पीएलआई योजना के अलावा भारत सरकार ने 2030 तक भारत को वैश्विक ड्रोन हब बनाने के लिए कई सुधार किए हैं. इनमें ये सुधार शामिल हैं: उदारीकृत ड्रोन नियम, 2021 की अधिसूचना; ड्रोन एयरस्पेस मैप 2021 का प्रकाशन जो लगभग 90% भारतीय हवाई क्षेत्र को 400 फीट तक ग्रीन जोन के रूप में खोलता है, यूएएस ट्रैफिक प्रबंधन (UTM) नीति ढांचा 2021; ड्रोन प्रमाणन योजना 2022 जो ड्रोन निर्माताओं के लिए टाइप सर्टिफिकेट प्राप्त करना आसान बनाती है; ड्रोन आयात नीति, 2022 जो विदेश में निर्मित ड्रोन के आयात पर प्रतिबंध लगाती है; और ड्रोन (संशोधन) नियम, 2022 जो ड्रोन संचालन के लिए ड्रोन पायलट लाइसेंस की आवश्यकता को समाप्त करता है.